Top
राजनीति

हमारे संपादक को गिरफ्तार किया गया है, उन्हें ढूंढ़ने में हमारी मदद करें

Prema Negi
28 Aug 2019 1:14 PM GMT
हमारे संपादक को गिरफ्तार किया गया है, उन्हें ढूंढ़ने में हमारी मदद करें
x

द कश्मीरियत न्यूज वेबसाइट की टीम ने मीडिया से की अपील, हमारे संपादक क़ाज़ी शिब्ली को कर लिया गया है गिरफ्तार, कृपया उन्हें ढूंढ़ने में करें हमारी मदद

जनज्वार। समाचार वेबसाइट द कश्मीरियत की टीम ने मंगलवार 27 अगस्त को अपने संपादक काजी शिबली को खोजने के लिए मीडिया से मदद मांगी है। द कश्मीरियत न्यूज वेबसाइट की टीम ने प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया से अपील की है कि 'हमारे संपादक क़ाज़ी शिबली को 25 जुलाई 2019 के दिन गिरफ्तार कर लिया गया था। 'द कश्मीरियत' की टीम को 25 जुलाई को पुलिस थाने से कॉल आया था, और हमें किसी तरह की पूछताछ के लिए थाने पर पहुंचने को कहा गया। दिन ख़तम होने पर टीम के बाकी सदस्यों को तो वापस जाने को कहा गया, पर क़ाज़ी शिब्ली से और भी पूछताछ के सिलसिले में रुकने को कहा गया।

सके बाद वो 7-8 दिन हिरासत में थे। जब हमने इसकी वजह जानना चाही तो हमें कोई जवाब नहीं मिला। आख़िरकार, पुलिस ने क़ाज़ी शिबली के परिवार को कहा की उन्हें 5 अगस्त को छोड़ दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : Our editor has been arrested, please help us find him

नके भाई क़ाज़ी उमैर का कहना है, "मैं उन्हें दोपहर का खाना देने पुलिस थाने गया था, तब मेरे भाई ने मुझे पानी की बोतल लेने के लिए भेज दिया। जब मैं बोतल के साथ वापस गया तो वो गायब था। मैंने पुलिस वाले से पूछा तो उसने बताया की मेरे भाई को मुख़्य पुलिस थाना (सदर) में भेज दिया गया है। फिर मैं सदर पुलिस थाना गया, पर वो वहां भी नहीं मिले। तब से अब तक 'द कश्मीरियत' टीम और उनका परिवार उनको ढूंढ़ रहा है, पर हमें कोई भी ठोस जानकारी नहीं दी गयी है। हमें सिर्फ इतना ही पता है कि उनके पास बिलकुल पैसे नहीं हैं, और कपड़े भी नहीं हैं। हमें पुलिस थाने के अंदर भी जाने नहीं दिया जाता।

नके भाई ने फेसबुक पर लिखा, "लोगों का कहना है कि उन्हें आगरा जेल भेज दिया गया है। उनके पास बिलकुल भी पैसे और कपड़े नहीं हैं, क्योंकि उनको यहाँ से बाहर ले जाते वक्त हमें जानकारी नहीं दी गयी थी। मैं पिछले 3 हफ़्तों से उनका ठिकाना ढूंढ़ने की कोशिश कर रहा हूँ, पर कुछ हासिल नहीं हुआ। कल मैंने आगरा पुलिस थाने को फ़ोन किया, जहाँ उस व्यक्ति ने कहा कि "उनके पास कोई जानकारी नहीं है।" मैं अपने भाई के ठिकाने और ख़ैरियत को लेकर बहुत ज़्यादा चिंतित और परेशान हूँ।"

कश्मीरियत न्यूज वेबसाइट की टीम ने अपील की है, हम आप सबसे गुज़ारिश करते हैं कि हमें कोई भी जानकारी मिलने में मदद करें।

गौरतलब है कि काजी शिबली को पिछले महीने 25 जुलाई को जम्मू कश्मीर पुलिस ने पाकिस्तान प्रेमी कहते हुए और राज्य में सेना की तैनाती के सम्बन्ध में आधिकारिक जानकारी लीक करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। कहा गया कि उन्होंने अपने ट्वीटर हैंडल से कुछ ऐसे ट्वीट किये हैं जो देश की जानकारियां लीक करने वाले हैं।

(अनुवाद : कश्मीर खबर टीम)

Next Story

विविध

Share it