Top
चुनावी पड़ताल 2019

केशव प्रसाद मौर्या जी पहले अपने विकलांग पड़ोसी मलखान मौर्या की सुध लीजिए, बाद में प्रदेश की बात करना

Prema Negi
9 May 2019 11:17 AM GMT
केशव प्रसाद मौर्या जी पहले अपने विकलांग पड़ोसी मलखान मौर्या की सुध लीजिए, बाद में प्रदेश की बात करना

क्या अपने पड़ोसी मलखान मौर्या की कातर आवाज सुनाई देगी उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या को, प्रदेश की हालत सुधरे न सुधरे कम से कम अपने गांव-पड़ोस की तो हालत सुधार ​लीजिए मौर्या जी

उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या के गांव में इतना बड़ा अन्याय तो बाकी प्रदेश को न्याय कैसे दिलायेंगे योगी आदित्यनाथ

जनज्वार। वीडियो में दिख रहा शख्स मलखान मौर्या उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के गांव के हैं। उनके और उपमुख्यमंत्री महोदय के घर में बामुश्किल 100 मीटर की दूरी है। वे पिछले 9 वर्षों से बिस्तर में पड़े हैं। उनके शरीर में जगह—जगह लेटे—लेटे भयानक घाव हो चुके हैं।

मलखान साल 2010 के जुलाई महीने तक एक ट्रैक्टर- ट्रॉली पर मजदूर थे। ट्रैक्टर का एक्सीडेंट हुआ और ट्रॉली कमर पर चढ़ गई और कमर टूट गयी। तब से अब तक लाखोंलाख रुपए खर्च हो चुके हैं, लेकिन एक पैसा सरकार या प्रदेश के मुख्यमंत्री—उपमुख्यमंत्री के मद से नहीं मिला।

उस एक्सीडेंट के बाद जहां परिवार को खाने के तक लाले पड़ चुके हैं, किसी तरह बाल—बच्चे पाई—पाई जोड़कर इनका इलाज करवा रहे हैं, मलखान मौर्या की 10 बिस्वा जमीन भी गांव के दबंगों ने कब्जा ली है।

के भाई सुखलाल के कहने पर जमीन छुड़ाने के लिए मलखान का परिवार 50 हजार रुपया भी खर्च कर चुका है, मगर हुआ कुछ नहीं।

आज जब जनज्वार टीम इनके गांव पहुंची तो कहने लगे आप पहले पत्रकार हैं, जो हमारी बस्ती में आये हैं, एक बार मेरी हालत दिखा दें तो शायद मुख्यमंत्री जी के कानों तक गुहार पहुंच जाए।

Next Story

विविध

Share it