Top
राजनीति

खुलासा : नीरव मोदी से भी बड़ा घोटाला आया सामने, एसआरएस बिल्डर ने हड़पे 30 हजार करोड़

Janjwar Team
5 April 2018 8:12 PM GMT
खुलासा : नीरव मोदी से भी बड़ा घोटाला आया सामने, एसआरएस बिल्डर ने हड़पे 30 हजार करोड़
x

एसआरएस बिल्डर पर लगा है बैंक के हजारों करोड़ रुपए हड़पने के आरोप, पुलिस ने किया चैयरमैन अनिल जिंदल समेत चार को गिरफ्तार

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा नीरव मोदी से भी बड़ा घोटालेबाज है अनिल जिंदल

दिल्ली, जनज्वार। लगता है भारत घोटालेबाजों का ही देश बनकर रह जाएगा। पिछले दिनों बैंकों का हजारों करोड़ हड़पने वाले नीरव मोदी का चर्चा—ए—आम था, ताज्जुब की बात यह कि भारतीय पुलिस उसे पकड़ तक नहीं पाई, वह विदेशों में ऐश कर रहा है। अब एक ऐसा ही मामला ख्यात रियल एस्टेट कंपनी एसआरएस ग्रुप के एमडी अनिल जिंदल का सामने आ रहा है। आरोप हैं कि उसने घर देने के नाम पर आम लोगों के 30 हजार करोड़ रुपए हड़पे हैं।

दावा : वित्त मंत्री अरुण जेटली की बेटी है नीरव मोदी की वकील

इस मामले में पुलिस ने एमडी अनिल जिंदल समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारों में चेयरमैन अनिल जिंदल के अलावा कंपनी के आला पदाधिकारियों नानकचंद तायल, बिशन बंसल, देवेंद्र अधाना और विनोद मामा को भी गिरफ्तार किया गया है।

डूबने वाला है मोदी सरकार का अडानी को दिया 6200 करोड़ का लोन

मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक पिछले दो साल से लोग एसआरएस बिल्डर के खिलाफ शिकायत दर्ज करा रहे थे। एसआरएस बिल्डर के खिलाफ 100 से ज्यादा शिकायतें दर्ज की गई हैं। रियल एस्टेट की जानी मानी कंपनी SRS ग्रुप पर घर लेने वालों से 30 हजार करोड़ रुपये हड़पने का आरोप है।

भगौड़े नीरव मोदी का हजारों करोड़ का एक और फ्रॉड आया सामने

100 मामलों में से 30 मामले पुलिस दर्ज कर चुकी है, जिनमें बल्लभगढ़ में एक व्यापारी की आत्महत्या का केस भी शामिल है। गौरतलब है कि बल्लभगढ़ के बिजनेसमैन सुसाइट केस में भी उसकेक परिजनों ने आरएसएस के एमडी के खिलाफ केस दर्ज करवाया था।

नीरव मोदी को चप्पल से क्यों मारना चाहती है यह महिला

आरएसएस एमडी और अन्य दो की गिरफ्तारी पर आर्थिक अपराध शाखा एनआईटी के प्रभारी सुरेश चंद कहते हैं, कल देर रात आरोपियों के घरों पर छापेमारी कर उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है। आरएसएस ग्रुप पर पांच हजार लोगों से फ्लैट बेचने के नाम पर रुपए लेने और ब्याज पर रुपए लेकर वापस न देने का आरोप लगाया गया है।

रोटोमैक का भगोड़ा मालिक दिखा दैनिक जागरण के मालिक की बेटी की शादी में

गौरतलब है कि इन लोगों की गिरफ्तारी की पीड़ित लोग काफी समय से मांग कर रहे थे, मगर यह आवाज मुखर तब हुई जब हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर ने इस मामले को लोकसभा में उठाया।

पीएनबी लूट : अंबानी का चचेरा भाई है नीरव मोदी की कंपनी का चीफ फाइनेंसियल आॅफिसर

एसआरएस पीड़ित मंच इस मसले पर कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर के पास गया था, जिन्होंने उन्हें इस मुद्दे को उठाने का आश्वासन दिया था। जब अशोक तंवर ने यह मामला लोकसभा में उठाया तो उसके बाद प्रशासन हरकत में आया और सरकार ने एसआरएस ग्रुप के टॉप मालिकानों की गिरफ्तारी का आदेश दिया।

नया खुलासा : पंजाब नेशनल बैंक से भी बड़ी लूट गुजरात में, 5 पूंजीपतियों ने किया 26 हजार 500 करोड़ का नया बैंक घोटाला

करोड़ों के हेरफेर के आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस आयुक्त कार्यालय में डीसीपी विक्रम कपूर ने पत्रकार वार्ता कर यह जानकारी साझा की और कहा कि आरोपियों को जिला अदालत में पेश किया जाएगा और उनकी रिमांड लेने की मांग की जाएगी।

ये रहे वो 30 बैंक जिनके पैसे लेकर भाग गया नीरव मोदी

जिन लोगों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया है, उन सबके खिलाफ पिछले महीने चार मार्च को फरीदाबाद के थाना सेक्टर-31 में 420, 406, 120बी व हरियाणा प्रोटेक्शन ऑफ इंट्रेस्ट ऑफ डिपोजिटर इन एफईएक्ट 2013 के तहत 22 मुकदमे दर्ज करवाए गए थे। मुकदमे दर्ज होने के बाद अनिल जिंदल के घर समेत कई ठिकानों पर पुलिस ने छापामारी की, लेकिन वह अब पकड़ में आया है।

फेंकूलॉजी : देश चाह रहा नीरव मोदी पर चर्चा लेकिन मोदी कर रहे परीक्षा पर परिचर्चा

एसआरएस ग्रुप निवेशकों को मोटा ब्याज दिया जाता था, पर कुछ सालों से धीरे-धीरे उसने लोगों को ब्याज देना बंद कर दिया और 2015 में तो इस पर पूरी तरह से रोक लग गई। इसके बाद ही निवेशकों एसआरएस ग्रुप से अपना मूल पैसा मांगना वापस कर दिया था, मगर सिवाय आश्वासनों के उन्हें कुछ नहीं मिला।

देखती रह गयी मोदी सरकार, विजय माल्या के बाद अब नीरव मोदी भी भाग गया देश छोड़कर

कुछ समय से तो पैसा मांगने पर ग्रुप ने पीड़ितों को धमकाना शुरू कर दिया, जिसके बाद लोगों ने एसआरएस बिल्डर के खिलाफ धरने—प्रदर्शन करने शुरू कर दिए।

खुलासा : प्रधानमंत्री मोदी से दाओस में हुई थी भगोड़े नीरव मोदी की गुप्त मुलाकात

इसकी शिकायत नए पुलिस आयुक्त अमिताभ ढिल्लो तक भी शिकायत पहुंची थी, तो उन्होंने पूरे मामले की छानबीन और सच्चाई पता करने के बाद अनिल जिंदल व एसआरएस के अन्य निदेशकों के खिलाफ मामले दर्ज कराए थे और अब गिरफ्तारी भी हो गई है।

कांग्रेस के समय नहीं पिछले साल मोदी सरकार में मिला नीरव मोदी को 11 हजार करोड़ का लोन

Next Story

विविध

Share it