Top
मध्य प्रदेश

अजमेर शरीफ में परिवार से बिछुड़ी नाबालिग को 6 हजार रुपये में खरीद बैतूल में मां-बेटी ने कराया देह व्यापार

Prema Negi
10 May 2020 7:53 AM GMT
अजमेर शरीफ में परिवार से बिछुड़ी नाबालिग को 6 हजार रुपये में खरीद बैतूल में मां-बेटी ने कराया देह व्यापार
x

नाबालिग को खरीदने वाली किरण और उसकी बेटी शीतल के खिलाफ विभिन्न धाराओं के साथ मानव तस्करी अनैतिक व्यापार एवं पास्को एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है...

संदीप पौराणिक की रिपोर्ट

बैतूल, जनज्वार। उत्तर प्रदेश के बिजनौर की नाबालिग अपने परिवार से बिछुड़ गई तो एक महिला ने उससे अपनापन जताया और उसका मध्य प्रदेश के बैतूल में छह हजार में सौदा तय कर दिया। नाबालिग को खरीदने वाली महिला ने अपनी बेटी के साथ मिलकर उसे अनैतिक कामों में धकेल दिया, यह तो उस बच्ची की खुशनसीबी रही कि वह मौका पाकर भागने में सफल रही और पुलिस के पास जा पहुंची।

जानकारी के मुताबिक बिजनौर की रहने वाली नाबालिग मार्च माह में अपने परिजनों के साथ अजमेर शरीफ गई थी। उसका स्वास्थ्य ठीक नहीं था, लिहाजा धार्मिक पूजा-अर्चना के मकसद से उसे परिजन अजमेर लेकर गए थे। इसी दौरान वह अपने परिजनों से बिछुड़ गई। दो-तीन दिन भटकने के बाद एक महिला जिसका नाम जोया बताया जा रहा है, उसके संपर्क में आई। नाबालिग को वह फरिश्ता लगी और वह उसके साथ हो ली। जोया उस नाबालिग को अपने साथ इंदौर ले आई।

नाबालिग लड़की ने पुलिस को बताया कि उसे इंदौर में चार-पांच दिन घुमाने के बाद बैतूल लाया गया, यहां जोया किरण पंडागरे नाम की महिला के यहां उसे ले आई और यही छोड़कर चली गई। उसके बाद किरण पंडागरे और उसकी बेटी ने पहले उससे अपने घर का काम कराया, उसके बाद उसे कोतवाली थाना क्षेत्र के चक्कर रोड स्थित एक मकान में बंधक बनाकर रखा और देह व्यापार के लिए मजबूर किया गया। उस मकान में कई लोग आते जाते रहते थे।

शुक्रवार-शनिवार की दरम्यानी रात नाबालिग किशोरी मौका पाकर भागने में सफल रही और पुलिस के पास पहुंचकर उसने अपनी आपबीती सुनाई।

कोतवाली थाने के प्रभारी राजेन्द्र धुर्वे ने रविवार 10 मई को आईएएनएस को बताया कि नाबालिग मौका पाकर उस मकान से भागने में सफल रही, जहां उसे बंधक बनाया गया था। लॉकडाउन होने के कारण जगह-जगह बैरिकेट्स लगे हैं और पुलिस बल तैनात है। नाबालिग मौके पर तैनात पुलिस जवानों के पास पहुंची और आपबीती सुनाई, तब उसे थाने लाया गया। शिकायत में छह हजार रुपये में जोया व किरण के बीच सौदा होने की बात नाबालिग ने कही है।

धुर्वे के अनुसार नाबालिग को खरीदने वाली किरण और उसकी बेटी शीतल के खिलाफ विभिन्न धाराओं के साथ मानव तस्करी अनैतिक व्यापार एवं पास्को एक्ट के तहत अपराध दर्ज कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं जोया नाम की महिला के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

नाबालिग के परिजनों को पुलिस ने सूचना दे दी है, वे जल्दी ही बैतूल आएंगे। पीड़िता का जिला अस्पताल में मेडिकल करवाया गया। शनिवार को न्यायालय में बयान होने के बाद उसे बाल कल्याण समिति के आदेश पर वन स्टाप सेंटर भेजा गया।

Next Story

विविध

Share it