Top
अंधविश्वास

अंधविश्वास : झारखंड में पंचायत ने चार महिलाओं को डायन बताकर खौलते पानी से सिक्का निकालने की दी सजा

Nirmal kant
14 Dec 2019 3:48 PM GMT
अंधविश्वास : झारखंड में पंचायत ने चार महिलाओं को डायन बताकर खौलते पानी से सिक्का निकालने की दी सजा
x

रांची के बीसा गांव में पंचायत ने चार महिलाओं को पहले डायन बताया फिर खौलते पानी से सिक्का निकालने की दी सजा, तीन आरोपी गिरफ्तार..

जनज्वार, रांची। झारखंड की राजधानी रांची में डायन-बिसही का मामला सामने आया है। रांची के अनगड़ा थाना क्षेत्र के बीसा गांव के पाहन टोली में चार महिलाओं को खौलते हुए पानी में हाथ डालकर सिक्का निकालने की सजा दी गई।पंचायत ने डायन बिसही का आरोप लगाकर चार महिलाओं को गर्म पानी में हाथ डालने की सजा सुनाई। मामले को लेकर अनगड़ा थाना में लिखित सूचना दी गई।

संबंधित खबर : जनज्वार एक्सक्लूसिव - झारखंड पुलिस ने 37 मोटरसाइकिलों पर दर्ज किया देशद्रोह का मुकदमा

बीसा गांव में दो पक्षों की लड़ाई पत्थरबाजी से शुरू हुई थी जिसमें गांव के एक पक्ष ने पड़ोस में रहने वाली पैरो देवी, पार्वती देवी, संतोषी कुनारी और बिरसी देवी के ऊपर जादू टोना कर भूत के द्वारा रात के समय में भूतों से पत्थरबाजी करवाने का आरोप लगाया गया। इसके बाद मामले को लेकर पूर्व में भी पंचायत बुलाई गई। जब पत्थरबाजी नहीं रुकी तो फिर से 12 दिसंवबर को पंचायत को बुलायी गयी, जिसमें पंचायत ने पैरो देवी, पार्वती देवी, संतोषी कुमारी और बिरसी देवी को खौलते हुए पानी से सिक्का निकालने का फरमान सुना दिया गया। सिक्का निकालने के दौरान एक नाबालिग समेत तीनों महिलाओं का हाथ बुरी तरह से जल गया।

को लेकर जनज्वार को अनगड़ा थाना क्षेत्र के थाना प्रभारी अनिल कुमार यादव ने बताया कि गांव में पिछले कई दिनों से रात के समय एक दूसरे के घर पर पत्थर फेंकने का मामला आ रहा था। ग्रामीणों का कहना था कि महिलाओं ने भूत की मदद से दूसरे के घरों में पत्थर फेंक रही हैं। उसके बाद गांव में पंचायत की बैठक हुई जिसमें महिलाओं को गांव के मंदिर के सामने महिलाओं से भूत से पत्थर नहीं फेंकने की कसम खिलाई गई। जब पंचायत का इससे भी मन नहीं भरा तो मंदिर के सामने ही जीतालाल पाहन ने चूल्हा बनाकर उसमें गोबर और सिक्कों को डाल कर पानी को गर्म कर दिया, जिसके बाद महिलाओं को पानी के अंदर से सिक्के निकालने के लिए कहा गया।

संबंधित खबर : रांची रिम्स डॉक्टर ने की मरीज के परिजनों से मारपीट, कहा इतनी ही जल्दी थी तो कहीं और जाते

पंचायत के लोगों का कहना था कि अगर ये महिलाएं निर्दोष होंगी तो इनका हाथ नहीं जलेगा, अगर पत्थरबाजी को लेकर दोषी मानी जाती है तो इनका हाथ जल जाएगा। उसके बाद सिक्का निकालने के दौरान महिलाओं का हाथ जल गया। फिर पुलिस ने मामले की जानकारी लेते हुए तीन लोग जीतालाल पाहन, जलकाहा महली और नेपा महली को गिरफ्तार कर लिया गया है। इसके अलावा कुछ और लोगों की मामले को लेकर जांच की जा रही है।

पीड़िताओं को इलाज कराया गया है। इस मामले में जीतलालाल पाहन, जलकाहा महली, करमी देवी, रमेश मुंडा और रिदई पाहन के ऊपर अनगड़ा थाना में लिखित शिकायत की गई है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Next Story

विविध

Share it