Top
पंजाब

रायबरेली विधायक अदिति सिंह कांग्रेस से सस्पेंड, पंजाब में उनके विधायक पति बोले पार्टी और रिश्ते अलग-अलग

Prema Negi
24 May 2020 6:08 AM GMT
रायबरेली विधायक अदिति सिंह कांग्रेस से सस्पेंड, पंजाब में उनके विधायक पति बोले पार्टी और रिश्ते अलग-अलग
x

अदिति के पति अंगद सिंह पंजाब की नवांशहर सीट से कांग्रेस विधायक हैं, पिछले साल ही अदिति और अंगद ने शादी की थी...

जनज्वार, दिल्ली। पंजाब के नवांशहर के कांग्रेसी विधायक अंगद सैनी और यूपी के रायबरेली सदर सीट से विधायक अदिति सिंह पति पत्नी है। वह महिला कांग्रेस की जनरल सेक्रेटरी थी, लेकिन पार्टी अनुशासन तोड़ने की वजह से उन्हें इस पद से सस्पेंड कर दिया है। इस पर अंगद सिंह बोले कि हम पक्के कांग्रेसी है। अदिति ने जो कहा, वह उनकी सोच है। वह अपने विचार रखने के लिये पूरी तरह से स्वतंत्र है। अंगद और अदिति ने पिछले साल नवंबर में शादी की थी।

दिति सिंह ने न सिर्फ कांग्रेस पार्टी की बस के मुद्दे पर आलोचना की, बल्कि कई बार उन्होंने यूपी के सीएम योगी के काम की सराहना भी लगातार कर पाटी को मुश्किल में डाल रही है। वह कांग्रेस के प्रति खासी मुखर हो रही है। हालंकि उन्हें प्रियंका गांधी के नजदीक माना जाता है। लेकिन जो विवाद उन्होंने अपने बयान से पैदा किया है, इसके बाद वह पार्टी में पूरी तरह से अलग थलग पड़ गयी है।

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार को नहीं मिल रहा आर्थिक संकट का हल, 6 दिन में आज दूसरी बार होगी मंत्री समूह की बैठक

ह सोशल मीडिया पर बेबाकी से अपनी राय रख रही है। उनके बयानों का इस्तेमाल कांग्रेस के विरोधी जम कर, कर रहे है। इस वजह से कांग्रेस को खासतौर पर यूपी में कई तरह की आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

पंजाब में उनके विधायक पति का इस पर कहना है कि वह अपनी राय रखने के लिए स्वतंत्र है। लेकिन वह पार्टी के प्रति पूरी तरह से समर्पित है। उन्होंने कहा कि पति पत्नी का रिश्ता अलग है। कई मुद्दों पर उनके विचार अलग अलग हो सकते है। पार्टी के प्रति वह क्या सोचती है, यह उनकी सोच का मामला है। मैं क्या सोचता हूं यह मेरा निजी मामला है। वैसे भी अदिति ने यूपी के बारे में बोला है, न कि पंजाब के बारे में।

यह भी पढ़ें : राहुल गांधी ने शेयर किया मजदूरों से मुलाकात का वीडियो, प्रवासी बोले- कोरोना नहीं, भूख-प्यास का है डर

अंगद सिंह ने बताया कि उनका पूरा परिवार लंबे समय से कांग्रेसी रहा है। उनके दादा दिलबाग सिंह छह बार नवांशहर सीट से विधायक रहे हैं। उनके पिता प्रकाश सिंह भी यहां से विधायक रहे हैं। अदिति की सास और अंगन की की माता गुरइकबाल कौर ने बताया कि अब अंगद की अपनी निजी राय हो सकती है तो अदिति को भी अपनी निजी राय रखने का पूरा अधिकार है। हम जितने पक्के कांग्रेसी है। अदिति और अंगद अपने अपने परिवार की विरासत को ही आगे बढ़ा रहे हैं। इसलिए हम दोनों को मिक्स नहीं कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें : मोदीराज- मजदूरों के साथ क्रूर मज़ाक, मुंबई से गोरखपुर चली रेलगाड़ी रास्ता भटक उड़ीसा पहुंची

पंजाब कांग्रेस भी अदिति के बयान पर ज्यादा गंभीर नजर नहीं आ रही है। पंजाब के एक सीनियर कांग्रेस लीडर ने बताया कि यूपी में कोई कांग्रेसी विधायक क्या कर रहा है, इसका पंजाब में सिर्फ इसलिए कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह पंजाब के कांग्रेसी विधायक का परिवार का सदस्य है। इसलिए यूपी में अदिति को लेकर जो विवाद है, इसका यहां कोई असर नहीं है। न ही इसे लेकर पंजाब कांग्रेस ज्यादा सोच रही है।

Next Story

विविध

Share it