Top
राजनीति

स्वागत करने वालों को ही नहीं पता था कौन हैं अमित शाह

Janjwar Team
15 Sep 2017 11:46 PM GMT
स्वागत करने वालों को ही नहीं पता था कौन हैं अमित शाह
x

दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे ज्यादा सदस्य संख्या वाली पार्टी के अध्यक्ष के बारे में जनता ने पूछा कौन हैं अमित शाह, याद दिलाने पर भी नहीं बता पाए क्या करते हैं अमित शाह

जनज्वार, रांची। पार्टी, संगठन और सरकार के बीच बेहतर तालमेल बनाने के मकसद से तीन दिन के रांची दौर पर पहुंचे अमित शाह को उस समय बड़ी झेंप का सामना करना पड़ा, जब उनके स्वागत में खड़े लोगों को यही नहीं पता था कि अमित शाह कौन हैं और क्या करते हैं और रांची में क्या करने आए हैं।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री मोदी की तख्तियां लिए खड़े लोगों से जब पत्रकारों ने पूछा कि आपलोग किसके लिए खड़े हैं, यहां क्यों आए हैं और कौन हैं अमित शाह तो सबने इस बारे में अनभिज्ञता जाहिर की। पत्रकारों के पूछने पर एक—दूसरे से पूछते रहे कि बताओ भाई कौन हैं अमित शाह। हां, स्वागत में खड़े लोगों ने यह जरूर कहा कि उनको किसी ने कहा कि खड़े रहो, इसलिए स्वागत में खड़े हैं।

गौरतलब है कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तीन दिन के रांची दौरे पर हैं। इस दौरे के लिए रांची स्थित गेस्ट हाउस में ढाई करोड़ रुपया खर्च कर नया लुक दिया गया है जिससे भाजपा अध्यक्ष को कोई परेशानी न हो। पर इस मसले पर विपक्षी दलों ने इतना हंगामा कर दिया कि उनको सजा—संवरा गेस्ट हाउस छोड़कर पार्टी कार्यालय में रुकना पड़ा।

अध्यक्ष जी के स्वागत का मामला 'एक तो नीम दूजे करेला', वाला तब हो गया तब उनके स्वागत में खड़े लोगों ने यह कह दिया कि वह नहीं जानते कौन हैं अमित शाह। ऐसे में यह भी समझने की जरूरत है कि खुद को देश और दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी घोषित करती भाजपा की असलियत क्या, जिसे अपने अध्यक्ष के स्वागत के लिए कार्यकर्ता नहीं मिल रहे, पैसा देकर गरीब महिलाओं और मर्दों को पंक्तिबद्ध करके खड़ा करना पड़ता है।

स्वागत में खड़े लोगों की अमित शाह के प्रति अनभिज्ञता से स्पष्ट हो जाता है कि आदिवासियों को दिहाड़ी देकर भाजपा कार्यकर्ता बनाया गया था।

भरोसा न हो तो वीडियो देखिए :

Next Story

विविध

Share it