Top
समाज

कोरोना की मुश्किल घड़ी में आगे आए रतन टाटा, वायरस से लड़ने के लिए दिए 500 करोड़ रुपए

Vikash Rana
28 March 2020 12:01 PM GMT
कोरोना की मुश्किल घड़ी में आगे आए रतन टाटा, वायरस से लड़ने के लिए दिए 500 करोड़ रुपए
x

टाटा ट्रस्ट के चैयरमैन रतन टाटा ने कहा है कि COVID-19 संकट से लड़ने की जरूरतों से निपटने के लिए तत्काल आवश्यकों संसाधनों की जरूरत हैं। इस समय देश के लिए वायरस से लड़ना एक चुनौती बन चुका है...

जनज्वार। देश समेत दुनिया में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। देश में कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज बताया कि कोरोना के चलते आज दो लोगों की मौते हुई है, जिसमें 149 नए मामले सामने आए हैं। अब तक पूरे देश में कोरोना के कुल 873 मामले सामने आ चुके हैं।

नमें से 775 लोगों का इलाज जारी है। 78 लोग ठीक हो गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार शनिवार तड़के 3 बजे तक भारत में कुल 834 मामले थे। देश में सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र में सामने आए हैं। यहां मरीजों की संख्या 180 हो गई है।

सी बीच देश में कोरोना वायरस के कारण लगातार मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। ऐसे में टाटा ट्रस्ट ने कोरोना वायरस से लड़ने के लिए 500 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया है। टाटा ट्रस्ट के चैयरमैन रतन टाटा ने कहा है कि COVID-19 संकट से लड़ने की जरूरतों से निपटने के लिए तत्काल आवश्यकों संसाधनों की जरूरत हैं। इस समय देश के लिए वायरस से लड़ना एक चुनौती बन चुका है। देश की इस मुश्किल घड़ी में देश को टाटा ग्रुप की जरूरत है। जिसके लिए टाटा ट्रस्ट की तरफ से 500 करोड़ रुपए दिए जा रहे हैं। पैसों को देने की घोषणा रतन टाटा ने अपने ट्वीटर अंकाउट से की। इन पैसों का इस्तेमाल दवाइयों, कोरोना को टेस्ट करने वाले यंत्रों और अन्य चीजों में किया जाएगा।

ससे पहले भी देश के उद्योगपति कोरोना से लड़ने के लिए कई बड़े पैकेजों का एलान कर चुके है। जिसमें विप्रो के संस्थापक अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजीम एच प्रेमजी ने 50,000 करोड़ रुपए दिए थे। अजीम प्रेमजी इससे पहले भी देश के संकट के समय में इस तरह की मदद करते रहे हैं।

Next Story
Share it