file photo

प्रयागराज के करेली इलाके में उस समय गोलीबारी हुई जब चाय की दुकान पर कोरोना के बारे में चर्चा हो रही थी और लौटन निशाद नाम के युवक ने तब्लीगी जमात के खिलाफ की टिप्पणी…

प्रयागराज, जनज्वार। तबलीगी जमात के खिलाफ टिप्पणी करने पर चाय की दुकान पर एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतक की पहचान लौटन निशाद के रूप में हुई है।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लिया है और मृतक के परिवार को मुआवजे के रूप में 5 लाख रुपये देने की घोषणा की है।

मृतक के परिवार को 5 लाख रुपया देने का ऐलान करते हुए योगी आदित्यनाथ ने यह भी आदेश दिया है कि युवक के हत्यारोपियों पर पर राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (एनएसए) के तहत मामला दर्ज किया जाए।

जानकारी के मुताबिक यह वारदात रविवार 5 अप्रैल की सुबह प्रयागराज के करेली इलाके में उस समय घटित हुई जब चाय की दुकान पर कोरोना के बारे में चर्चा हो रही थी और लौटन निशाद नाम के युवक ने तब्लीगी जमात के बारे में टिप्पणी की।

शुरुआती जानकारी के मुताबिक मृतक लौटन निशाद ने तब्लीगी जमात के खिलाफ एक टिप्पणी की थी और वहां मौजूद मोहम्मद सोना ने वहीं पर सबके सामने उसे गोली मार दी। लौटन निशाद को गोली मारने के बाद आरोपी ने भागने की कोशिश की, मगर उसको मौके से ही गिरफ्तार कर लिया गया।

Support people journalism

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक फायरिंग की आवाज सुनकर लोग दौड़े और आरोपी सोना को पकड़कर उसकी पिटाई की। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लिया और गांव में शांति बनाए रखने के लिए फोर्स तैनात की गयी है।

लॉकडाउन के बीच चाय की दुकान खोले जाने पर भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पष्टीकरण मांगा है। साथ ही पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई के आदेश दिए हैं कि जब लॉकडाउन के दौरान चाय की दुकान खुली थी तो उन्होंने आवश्यक कार्रवाई क्यों नहीं की।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या रविवार 5 अप्रैल की दोपहर तक 234 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, यूपी के कुल संक्रमितों में से 94 कोरोपा पॉजिटिव मामले तब्लीगी जमात से जुड़े हैं। अभी तक जमात से जुड़े 1 हजार 302 लोगों की पहचान की जा चुकी है और इनमें से 1000 लोगों को क्वारैंटाइन किया गया है। रविवार 5 अप्रैल को मेरठ में भी 7 कोरोना संक्रमित लोगों की पहचान की गयी है और ये सभी निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल हुए थे।

स मामले में प्रयागराज पुलिस ने अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा है, ‘थाना करैली में FIR 127/2020 पंजीकृत कर नामजद व अन्य कुल 8 लोगों को हिरासत में लिया गया है। मृतक और अभियुक्त पक्ष पास-पड़ोस के रहने वाले हैं,इनमें से किसी का भी सम्बन्ध तबलीगी जमात से होने की बात प्रकाश में नहीं आयी है। विवेचना के आधार पर कठोर विधिक कार्यवाही सुनिश्चित की जा रही है।’

माज में जिस तरह से तब्लीगी जमात की घटना सामने आने के बाद कोरोना रोग से ज्यादा सांप्रदायिक हो गया है, उससे इस आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता कि कहीं कोरोना से ज्यादा लोग हिंदू—मुस्लिम की भेंट न चढ़ जायें।


Edited By :- Janjwar Team