सिक्योरिटी

सिर्फ कागजी घोषणाओं में कन्या विवाह योजना, छह साल बीत जाने के बाद भी नहीं मिला पैसा

Janjwar Team
28 May 2018 10:32 AM GMT
सिर्फ कागजी घोषणाओं में कन्या विवाह योजना, छह साल बीत जाने के बाद भी नहीं मिला पैसा
x

अपनी उपलब्धियों में सरकार गिनाती है कि आवेदन के मात्र 15 दिन में दे दिया जाएगा पैसा, मगर यहां लोग कर रहे हैं 6 साल से इंतजार फिर भी योजना का लाभ मिलने की नहीं कोई उम्मीद...

बेतिया, सिकटा। 6 साल बीतने के बाद भी बेतिया के सिकटा में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना का रुपया लाभार्थियों को नहीं मिल रहा है, जबकि लोक सेवाओं का अधिकार कानून के तहत सरकार वादा करती है कि आवेदन के मात्र 15 कार्यदिवस के अंदर लाभार्थियों को उनके लाभ दिए जाएंगे। मगर चार से छह साल बीतने के बाद भी लाभार्थियों को कन्या विवाह योजना का लाभ नहीं मिला है।

सिकटा ब्लॉक के बलथर हरिजन टोला के ग्रामीणों ने सूचना सेवा और जन आंदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय द्वारा आयोजित बैठक में कन्या विवाह योजना के तहत घोषणा के बावजूद पैसा न दिए जाने के मसले पर एक बैठक आयोजित की। इस चर्चा में शामिल धर्मराज राम, शांति देवी, सुनरी देवी, हीरालाल राम, मंतुर देवी, सोना देवी, सुनील मांझी, उमरावती देवी, भोला महतो समेत तकरीबन 50 लाभार्थियों को सरकार द्वारा पांच हज़ार रुपए नहीं दिए जाने की बात सामने आई।

सूचना सेवा की तरफ से सत्यप्रकाश राम, अक्षय कुमार आनंद और अजय यादव ने बैठक का संचालन किया एवं जन आंदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय की तरफ से आये उज्ज्वल कुमार ने कहा कि सरकार खुद अपने द्वारा लागू कानून का पालन नहीं कर रही है। सरकार का यह वादा कि लोक सेवाओं का अधिकार के तहत 15 दिन के अंदर लाभ दिया जाएगा, यह भी एक जुमला ही लगता है।

बैठक में इस बात का निर्णय लिया गया कि जिन लाभार्थियों को 15 कार्य दिवस बिताने के बाद भी रुपया नहीं मिला वे प्रखंड विकास पदाधिकारी सिकटा को सामूहिक रूप से ज्ञापन देंगे।

गौरतलब है कि सरकार की तरफ से निराश्रित, निर्धन कन्या/विधवा/परित्यक्ता को इस योजना का लाभ दिया जाता है, जिसके तहत ऐसे परिवार को 5 हजार रुपए की सहायता राशि दिए जाने का प्रावधानहै।

Next Story

विविध

Share it