Top
राजनीति

भाजपा की युवा गुंडावाहिनी ने स्वामी अग्निवेश को मरणासन्न होने तक पीटा, अस्पताल में भर्ती

Prema Negi
17 July 2018 10:30 AM GMT
भाजपा की युवा गुंडावाहिनी ने स्वामी अग्निवेश को मरणासन्न होने तक पीटा, अस्पताल में भर्ती
x

दलितों के एक कार्यक्रम में झारखंड पहुंचे स्वामी अग्निवेश पर हुआ हमला, भाजपा के गुंडों ने अब मुसलमानों, दलितों से आगे बढ़ अग्निवेश जैसे प्रतिष्ठित मानवाधिकार कर्मी पर किया हमला

जनज्वार। प्रतिष्ठित सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश के साथ विद्यार्थी परिषद व भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने न सिर्फ बदतमीजी की, बल्कि उनके कपड़े फाड़कर उन्हें बहुत मारा—पीटा।

यह घटना झारखंड के पाकुड़ की है। आज सुबह स्वामी अग्निवेश यहा पहाड़िया महा सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे थे। उसी दौरान भाजपाई गुंडों ने उनके साथ मारपीट की। विद्यार्थी परिषद व भारतीय जनता युवा मोर्चा के गुंडे स्वामी अग्निवेश के पाकुड़ दौरे का विरोध कर रहे थे। विरोधस्वरूप उन्हें काले झंडे दिखाते हुए उनके साथ मारपीट की गई।

हिल एसेंबली महासभा के बैनर तले आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने के लिए स्वामी अग्निवेश पाकुड़ में होटल मुस्कान में ठहरे हुए थे। जैसे ही वो सम्मेलन में जाने के लिए निकले, वैसे ही उन पर हमला कर दिया गया। उनके साथ इस हद तक मारपीट की गई कि उनके कपड़े भी फट गए। किसी तरह वहां से उनकी जान बचाकर वापस होटल ले जाया गया। फिलहाल उनका इलाज अस्पताल में किया जा रहा है।

दिल्ली विश्वविद्यालय के शिक्षक वैभव सिंह आक्रोश व्यक्तकरते हुए लिखते हैं, '80 साल के वृद्ध स्वामी अग्निवेश पर जानलेवा हमला कर भाजयुमो-एबीवीपी ने फिर से दुनिया के आगे अपना कट्टर तालिबानी चेहरा प्रस्तुत कर दिया है। हिंदू पाकिस्तान/हिंदू तालिबान...'

कहा जा रहा है कि भाजपाई गुंडे अग्निवेश से इसलिए चिढ़े हुए थे कि पूर्व में उन्होंने गौमांस को देकर बयान दिया था कि गौमांस खाया जाना चाहिए।

अभी तक पुलिस ने 20 भाजपाई हमलावरों को हिरासत में ले लिया है।

दूसरी तरफ भाजपा के गुंडावहिनी की यह एक दिन पहले की यह तस्वीर पश्चिम बंगाल की है, जब प्रधानमंत्री मोदी एक सभा को संबोधित कर रहे थे। हालांकि इस गुंडागर्दी पर वहां के स्थानीय भाजपा अध्यक्ष ने खेद जताया है। मगर इससे यह देखा जा सकता है कि भाजपाई गुंडा वाहिनी किसी को भी कभी भी अपना शिकार बनाने से बाज नहीं आती।

'NDTV से हुई बातचीत में स्‍वामी अग्निवेश ने कहा कि मैं हिंसा के खिलाफ हूं। मैं शांतिप्रिय इंसान हूं। मुझे नहीं पता कि ये हमला क्‍यों किया गया। मैंने इस मामले की जांच की मांगी की है। हमला करने वालों ने मुझे गाली भी दी और उस वक्‍त कोई पुलिसवाला मेरे आसपास मौजूद नहीं था।'

घटना की निंदा करते हुए झारखंड के भाजपाई मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश से मारपीट मामले की जांच के आदेश दिए हैं, मगर चूंकि भाजपा के ही युवा गुंडावाहिनी के सदस्य मारपीट में शामिल हैं इसलिए निष्पक्ष जांच संशय के घेरे में रहेगी।

स्वामी अग्निवेश पर भाजपाई गुंडों द्वारा पाकुड़ में किए गए हमले को अपराधिक कृत्य कहते हुए भाकपा माले राज्य सचिव जनार्दन प्रसाद ने संघी हमलावरों को अविलंब गिरफ्तार करने की मांग की है। कहा कि भाजपा ने अपने जमात के जरिए विरोधी विचारों को शारीरिक रूप से निपटने का जिस फासीवादी हमले का सहारा लिया है, वह लोकतंत्र के लिए धब्बा है,इस फासीवादी हमले का मुहतोड़ जबाव देना होगा। साथ ही भाकपा माले ने सभी लोकतांत्रिक व भाजपा विरोधी शक्तियों से अपील की है कि वे सड़कों के प्रतिवाद के जरिए इस फासीवादी हमले का मुहतोड़ जबाव दें।

Next Story

विविध

Share it