Top
राष्ट्रीय

पालघर MOB LYNCHING: घटना को सांप्रदायिक रंग देने पर भड़के उद्धव, BJP ने मढ़ा वामपंथियों पर आरोप

Manish Kumar
20 April 2020 2:29 PM GMT
पालघर MOB LYNCHING: घटना को सांप्रदायिक रंग देने पर भड़के उद्धव, BJP ने मढ़ा वामपंथियों पर आरोप
x

इस घटना के पीछे अब बीजेपी लेफ्ट कनेक्शन देख रही है। बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया है कि घटना के वक्त सीपीएम और एनसीपी के नेता मौजूद थे...

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के पालघर में हुई मॉब लिंचिंग की घटना के बाद कट्टरपंंथी सक्रिय हो गए हैं घटना को सांप्रदायिक रंग देने की पूरी कोशिश कर रहे हैं. इस जहरीले प्रचार के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को बयान जारी कर कहा है कि इस मामले का सांप्रदायिकता से कुछ लेना देना नहीं है.

मुख्यमंत्री ने चेतावनी दी कि इस बीच अगर कोई व्‍यक्ति सोशल मीडिया पर इस घटना के संबंध में अफवाह फैलाने व इसे भड़काने का प्रयास करेगा तो उस पर कठोर कार्रवाई की जाएगी.



?s=20

वहीं दूसरी तरफ इस घटना के पीछे अब बीजेपी लेफ्ट कनेक्शन देख रही है। बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया है कि घटना के वक्त सीपीएम और एनसीपी के नेता मौजूद थे.

बीजेपी के नेशनल सेक्रेटरी सुनील देवधर ने घटना के पीछे वामपंथियों का हाथ बताया है। सुनील देवधर के मुताबिक आदिवासी कभी भगवाधारी पर हमला नहीं कर सकते।



?s=20

आरएसएस के लंबे समय तक प्रचारक रहे और महाराष्ट्र के मूल निवासी सुनील देवधर इन दिनों त्रिपुरा के प्रभारी होने के साथ आंध्र प्रदेश के सह प्रभारी हैं। सुनील देवधर ने सोमवार को इस घटना को लेकर कई ट्वीट भी किए।

उन्होंने अपने एक ट्वीट में कहा, "आदिवासी कभी भगवाधारी पर हमला कर नहीं सकते। पालघर की हत्याएं चोर नहीं बल्कि साधु हैं, यह जान कर ही की गई। वर्षों से वामपंथियों का गढ़ रहे इस दहानू क्षेत्र का एमएलए भी सीपीएम-एनसीपी गठबंधन का है। हमलावरों को आदिवासी नहीं बल्कि मार्क्‍सवादी हत्यारे कहना ही उचित होगा।"

यह भी पढ़ें- मुंबई में 53 पत्रकार-फोटोग्राफर निकले कोरोना पॉजिटिव, नगर निगम ने किया कंफर्म

इसके बाद सुनील देवधर ने मॉब लिंचिंग के वायरल हुए वीडियो में एनसीपी और सीपीएम के नेताओं के मौजूद होने की बात कही।

सुनील देवधर के इस दावे के बाद भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी ट्वीट कर कहा, "महाराष्ट्र सरकार को जवाब देना होगा। एनसीपी और सीपीआई(एम) के नेता नेता पालघर की उस अमानवीय भीड़ में क्या कर रहें थे?आप लोग गठबंधन की सरकार चलाते हैं, इसका ये अर्थ नहीं है की आप एक दूसरे के पापों पर पर्दा डालेंगे।"



?s=20

कांग्रेस ने लगाया बीजेपी पर राजनीति करने का आरोप

वहीं कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया कि वह पालघर की घटना को लेकर राजनीति कर रही है. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा, "भाजपा, समाज के इतिहास में बहुत ही विचलित कर देने वाले समय में राजनीति कर रही है। कांग्रेस इस पर विस्तृत बयान जारी करेगी।"

महाराष्ट्र सरकार ने जांच सीआईडी को सौंपी

राज्य सरकार ने सोमवार को इसकी जांच आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) को सौंप दी। ठाकरे ने सोमवार को दोपहर में राज्य के नाम अपने संबोधन में कहा कि अब तक पांच मुख्य आरोपी और 9 नाबालिगों सहित 100 अन्य सह-आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

मॉब लिंचिंग में वामपंथियों की संलिप्तता : VHP

विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने महाराष्ट्र के पालघर में दो संतों और उनके सहयोगी की हत्या पर गहरा रोष जताया है। VHP का कहना है कि यह हमला घात लगाकर किया गया है और किसी गहरे षड्यंत्र का हिस्सा लगता है। VHP के केंद्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे ने कहा कि पहले भी इस क्षेत्र में कई बार वामपंथियों ने क्रूरतापूर्ण हिंसा की घटनाओं को अंजाम दिया है। मामले की जांच कर हत्यारों को कठोर सजा दी जाए।

यह भी पढ़ें- दिल्ली से पैदल चले मजदूर की बनारस में मौत, पैसे के अभाव में लाश तक देखने नहीं आये परिजन, पुलिस ने किया अंतिम संस्कार

VHP ने कहा कि पालघर में आजकल वामपंथियों की गतिविधियां जोर-शोर से चल रही हैं। इनका हिंदू नेताओं की हत्याएं करने का पुराना इतिहास भी रहा है। मॉब लिंचिंग वामपंथियों की अपनी कार्ययोजना का हिस्सा भी है। स्वामी लक्षमणानंद जी की जघन्य हत्या का दंश अभी तक देश भूला नहीं है।

Next Story

विविध

Share it