Top
संस्कृति

चर्चित लेखक, फिल्मकार और अभिनेता गिरीश कर्नाड का लंबी बीमारी के बाद निधन

Prema Negi
10 Jun 2019 4:57 AM GMT
चर्चित लेखक, फिल्मकार और अभिनेता गिरीश कर्नाड का लंबी बीमारी के बाद निधन
x

'टाइगर जिंदा है' में गिरीश कर्नाड ने जो किरदार निभाया है उसमें उनकी नाक पर एक ट्यूब लगी थी। हालांकि फिल्म में दिखाया गया था कि RAW चीफ के बतौर वे काफी बीमार हैं, मगर असल जिंदगी में भी वो ​तब बीमारियों से जूझ रहे थे और नाक में लगी इसी नली के ज़रिए उन्हें ज़रूरी दवाएं और खाना दिया जा रहा था....

जनज्वार। ख्यात फिल्मकार, अभिनेता और लेखक गिरीश कर्नाड का लंबी बीमारी के बाद आज निधन हो गया है। 10 बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीतने वाले गिरीश कर्नाड पिछले लंबे समय से बीमार चल रहे थे और उन्हें कई बार अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

मीडिया में आ रही जानकारी के मुताबिक 81 वर्षीय गिरीश कर्नाड का निधन लंबी बीमारी से जूझने के बाद बेंगलुरु में अपने निवास पर हुआ है। ख्यात बॉलीवुड एक्टर गिरीश कर्नाड अंतिम बार फिल्म 'टाइगर जिंदा है' में अभिनेता सलमान खान के साथ अभिनय करते नजर आये थे।

'टाइगर जिंदा है' में गिरीश कर्नाड ने जो किरदार निभाया है उसमें उनकी नाक पर एक ट्यूब लगी थी। हालांकि फिल्म में दिखाया गया था कि RAW चीफ के बतौर वे काफी बीमार हैं, मगर असल जिंदगी में भी वो ​तब बीमारियों से जूझ रहे थे और नाक में लगी इसी नली के ज़रिए उन्हें ज़रूरी दवाएं और खाना दिया जा रहा था।

बतौर लेखक भी उन्होंने कई महत्वपूर्ण रचनाएं लिखीं। दक्षिण भारतीय फिल्मों और रंगमंच के तो वो पुरोधा यानी पितामह ही माने जाते थे। गिरीश कर्नाड की ख्याति एक नाटककार के बतौर सबसे ज्यादा रही है।

कोंकणी भाषी परिवार में जन्म लेने वाले गिरीश कर्नाड ने 1958 में धारवाड़ स्थित कर्नाटक विश्वविद्यालय से स्नातक की उपाधि हासिल की थी। इसके बाद कर्नाड एक रोड्स स्कॉलर के रूप में इंग्लैंड चले गए, जहां उन्होंने ऑक्सफोर्ड के लिंकॉन तथा मॅगडेलन महाविद्यालयों से दर्शनशास्त्र, राजनीतिशास्त्र तथा अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की। गिरीश कर्नाड शिकागो विश्वविद्यालय के फुलब्राइट महाविद्यालय में विज़िटिंग प्रोफेसर भी रह चुके हैं।

Next Story

विविध

Share it