Top
उत्तर प्रदेश

उन्नाव: केमिकल फैक्टरी में श्रमिक की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

Nirmal kant
14 May 2020 8:23 AM GMT
उन्नाव: केमिकल फैक्टरी में श्रमिक की मौत, परिजनों ने किया हंगामा
x

उन्नाव की केमिकल फैक्ट्री में हादसे के बाद मजदूर की मौत, परिजनों फैक्ट्री के गेट पर शव रखकर किया प्रदर्शन, आक्रोशित परिजनों ने तोड़े फैक्ट्री के शीशे और किया पथराव...

उन्नाव से मनीष दुबे की रिपोर्ट

जनज्वार ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के उन्नाव सदर कोतवाली क्षेत्र में स्थित दही चौकी की केमिको टेक्निकल फैक्ट्री में हादसा हो गया। हादसे में एक श्रमिक की मौत के बाद आज परिजनों ने फैक्ट्री गेट पर शव रखकर मुआवजे की मांग को लेकर जबरदस्त हंगामा किया। आक्रोशित परिजनों ने ट्रक के शीशे तोड़ दिए, तो वहीं महिलाओं ने फैक्ट्री गेट पर पथराव किया।

हंगामे की सूचना पर सदर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को समझाने का प्रयास किया लेकिन मृतक के परिजन नहीं मानें। जिसके बाद सिटी मजिस्ट्रेट चंदन पटेल खुद मौके पर पहुंचे। उन्होंने परिजनों को ढांढस बंधा सांत्वना दी और हर सम्भव मदद का भरोसा दिलाया।

संबंधित खबर : प्रियंका गांधी की बड़ी मांग, यूपी में लोन की ब्याज दरें शून्य करे योगी सरकार

मौके पर पहुंचे सिटी मजिस्ट्रेट ने फैक्ट्री प्रबंधन से बातचीत की। सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि परिजनों को फैक्ट्री की तरफ से 2 लाख 10 हजार की मदद दिलाई जा रही है, वहीं मजिस्ट्रेट ने कहा कि पीड़ित परिजनों की आय बहुत कम है, उन्हें सरकारी मदद भी नियमानुसार दिलवाई जाएगी।

गौरतलब है कि सदर कोतवाली क्षेत्र के दही चौकी की साइट नम्बर एक स्थित केमिको टेक्निकल फैक्टरी में बैटरी बनती है, यहाँ पर संतोष निवासी सदवाखेड़ा थाना माखी पिछले 20 साल से काम कर रहा था और सुपरवाइजर था। बताया जा रहा है कि संतोष लखीमपुर से आए बैटरी के आर्डर का ट्रक से माल लेके जा रहा था, तभी बीते सोमवार रात 11 बजे फैक्ट्री से माल लेके निकला था, तभी 12 मई की रात 1 बजे के आसपास लखनऊ के निकट ट्रक और डीसीएम की टक्कर से उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

पोस्टमार्टम होने के बाद आज सुबह परिजन शव रखकर फैक्टरी गेट पर रखकर मुआवज़े की मांग करने लगे। महिलाओं ने फैक्ट्री गेट पर पथराव किया और ट्रक के शीश तोड़ दिए। जिसमें हो रहे हंगामे की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने परिजनों को समझाने का प्रयास किया लेकिन परिजन नहीं माने। जिसके बाद सिटी मजिस्ट्रेट चंदन पटेल मौके पर पहुंचे। मजिस्ट्रेट ने पीड़ित परिजनों को ढांढस बंधाया और सांत्वना दी।

संबंधित खबर : मध्यप्रदेश, यूपी और बिहार में सड़क हादसों ने ली 16 मजदूरों की जान, जानिए कितने हुए घायल

सिटी मजिस्ट्रेट ने फैक्ट्री प्रबंधन से बात कर समझौता करवाया। मृतक अपने पीछे 4 लड़की व एक लड़के को छोड़ गया है। सिटी मजिस्ट्रेट ने बताया कि प्रबंधन से बात कर 2 लाख 10 हजार का मुआवजा दिलवाया जा रहा है, वहीं पीड़ित परिजनों को सिटी मजिस्ट्रेट ने सरकारी मदद का भरोसा दिलवाया है।

हीं मृतक के बेटे उदयराज का कहना है कि उसके पिता गाड़ी लेकर अपने मवाने मे रुक गए रात को जब घर आए तो फैक्टरी मालिक का फ़ोन आया या किसका उसे जानकारी नहीं है। पिता रात के लगभग 12 बजे निकल गए ,वह केमिकल से भरी गाड़ी लेकर अपने गंतव्य को जा रहे थे, तभी उनका एक्सीडेंट हो गया। यह दुर्घटना रात के लगभग 1 बजे के आसपास हुई है।

Next Story

विविध

Share it