Top
उत्तर प्रदेश

जान हथेली पर लेकर घर लौट रहे मजदूर, सिर पर समान रख यमुना नदी कर रहें पार

Raghib Asim
16 May 2020 9:39 AM GMT
जान हथेली पर लेकर घर लौट रहे मजदूर, सिर पर समान रख यमुना नदी कर रहें पार
x

जनज्वार, नई दिल्ली। देशभर में लॉकडाउन की वजह से लाखों की संख्या में अभी तक प्रवासी मजदूर पलायन कर चुके हैं। काम-धंधा ठप्प होने की वजह से ये मजदूर अपनी जान जोखिम में डालकर भी अपने घर लौट रहे हैं। ऐसा ही एक मामला हरियाणा के यमुनानगर से सामने आया है, जहां 100 से ज्यादा प्रवासी मजदूरों ने यमुना नदी पैदल ही पार करने का जोखिम उठाया। ये लोग पंजाब के अलग-अलग शहरों से पैदल ही यहां तक पहुंचे थे।

यह भी पढ़ें : मजदूर पिता ने अपाहिज बेटे को घर ले जाने के लिए साइकिल चुराई, चिट्ठी में लिखा कसूरवार हूँ भाई माफ करना

यमुना नदी पार हरियाणा के बीबीपुर घाट तक पहुंचे

जानकारी के मुताबिक, अलग-अलग राज्यों से आए प्रवासी श्रमिक किसी तरह यमुनानगर में कलानौर बॉर्डर तक पहुंचे, लेकिन यहां यूपी पुलिस ने उन्हें वापस लौटा दिया। इसके बाद इन्होंने यमुना नदी पार कर यूपी में दाखिल होने का फैसला किया। इनमें ज्यादातर लोग सहारनपुर जा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक ये मजदूर पिछले 15 दिनों से पैदल चल रहे थे। यमुना नदी पार कर ये लोग बीबीपुर घाट तक पहुंच गए हैं।

यह भी पढ़ें : BREAKING : देश में 31 मई तक बढ़ाया जा सकता है लॉकडाउन, 18 मई से ये छूट संभव

फैक्ट्रियां बंद होने की वजह से खाने-पीने के पड़ गए लाले

न मजदूरों का कहना है कि ये लोग पंजाब के अलग-अलग शहरों से आ रहे हैं। पिछले 15 दिनों से ये पैदल चल रहे हैं। कभी-कभी तो दो-तीन दिन लगातार खाना भी नहीं मिला है। इन मजदूरों का कहना है कि फैक्ट्रियां बंद हो जाने की वजह से वो बेरोजगार हो गए हैं, जिसके बाद खाने-पीने तक की मुसीबत खड़ी हो गई। इसीलिए इन्होंने अपने गांव लौटने का फैसला किया। ये लोग 15 दिनों से छिपते-छिपाते आ रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it