राजनीति

आर्या राजेंद्रन से मिलिए, 21 साल की उम्र में तिरुवनंतपुरम की मेयर बनने जा रही है यह काॅलेज छात्रा

Janjwar Desk
26 Dec 2020 5:31 AM GMT
आर्या राजेंद्रन से मिलिए, 21 साल की उम्र में तिरुवनंतपुरम की मेयर बनने जा रही है यह काॅलेज छात्रा
x

Arya Rajendran File Photo.

शुक्रवार को सीपीएम की तिरुवनंतपुरम जिला कमेटी ने अपनी बैठक कर मेयर पद के लिए आर्या के नाम की सिफारिश राज्य कमेटी से कर दी है। अगर राज्य कमेटी उनके नाम पर सहमति व्यक्त करती है तो जल्द इस पद के लिए उनके नाम का आधिकारिक ऐलान कर दिया जाएगा।

जनज्वार। सबकुछ ठीक रहा तो देश को जल्द सबसे कम उम्र की एक मेयर मिलने जा रही हैं। सीपीएम से जुड़ी 21 वर्षीया काॅलेज छात्रा आर्या राजेंद्रन (Arya Rajendran) को पार्टी ने केरल की कैपिटल सिटी तिरुवनंतरपुर के मेयर पद के लिए नामित किया है। हाल में संपन्न हुए केरल नगर निकाय चुनाव में सीपीएम ने तिरुवनंतपुरम में बहुमत हासिल किया है।

आर्या राजेंद्रन (Arya Rajendran Thiruvananthapuram) ने मुडावनमुगल वार्ड सीट से जीत हासिल की है। उन्होंने यहां से यूडीएफ प्रत्याशी श्रीकला को बड़े अंतर 2872 वोटों से हराया। वार्ड चुनाव के लिए यह बड़ी मार्जिन है। 100 सीट वाले तिरुवनंतपुरम नगर निगम में सीपीएम की अगुवाई वाले यूडीएफ ने 51 सीटें पाकर जीत दर्ज की है, जबकि यहां 35 सीटें हासिल कर बीजेपी मुख्य विपक्ष बनने में कामयाब रही है। कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूडीएफ ने 10 सीटें जीतीं हैं, जबकि चार निर्दलीय पार्षद के रूप में चुने गए हैं।

यूडीएफ को हासिल बहुमत के आधार पर यह करीब-करीब तय है कि आर्या राजेंद्रन तिरुवनंतपुरम की अगली मेयर होंगी। आर्या राजेंद्रन बीएससी - मैथ्स की छात्रा हैं और वाम मोर्चे में युवा महिला नेतृत्व के प्रतीक के रूप में उभरी हैं।

शुक्रवार को सीपीएम की तिरुवनंतपुरम जिला कमेटी ने अपनी बैठक कर मेयर पद के लिए आर्या के नाम की सिफारिश राज्य कमेटी से कर दी है। अगर राज्य कमेटी उनके नाम पर सहमति व्यक्त करती है तो जल्द इस पद के लिए उनके नाम का आधिकारिक ऐलान कर दिया जाएगा। अगर वे इस पद पर आसीन होती हैं तो वे अबतक की देश की सबसे युवा मेयर होंगी।

आर्या स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (SFI) की प्रदेश कमेटी की मेंबर हैं और छला क्षेत्र से पार्टी की सदस्य हैं। चुनाव प्रचार के दौरान आर्या ने कहा था कि वे अगर वार्ड चुनाव जीतेंगी तो उनकी प्राथमिकता अपने क्षेत्र में प्राथमिक शिक्षा होगी, लेकिन अब जब वे मेयर पद के करीब पहुंच चुकी हैं तो पूरे शहर के लिए उन्हें यह कार्य करना होगा।

मालूम हो केरल में निकाय चुनाव में 50 प्रतिशत सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हैं और नियमानुसार, एक के बाद दूसरी बार महिला नेतृत्व निकाय को मिलना है। इस रूप में वे आर्या का चयन इस पद के लिए किया गया है। 2015 में वीके प्रशांत सीपीएम से तिरुवनंतपुरम के मेयर चुने गए थे, लेकिन विधानसभा चुनाव जीतने के बाद उन्होंने यह पद छोड़ दिया था। अक्टूबर 2019 में उनकी जगह के श्रीकुमार मेयर बने थे और अब आर्या राजेंद्रन की बारी आयी है।

Next Story

विविध

Share it