Top
राजनीति

चिराग पासवान की लोजपा में बड़ी बगावत, पार्टी के 18 जिलाध्यक्षों सहित 208 नेताओं ने एक साथ थाम लिया जेडीयू का दामन

Janjwar Desk
18 Feb 2021 2:15 PM GMT
चिराग पासवान की लोजपा में बड़ी बगावत, पार्टी के 18 जिलाध्यक्षों सहित 208 नेताओं ने एक साथ थाम लिया जेडीयू का दामन
x
हालांकि इस बात के कयास पहले ही लगाए जा रहे थे कि एलजेपी के कुछ नेता इस मिलन समारोह में जेडीयू का दामन थाम सकते हैं, पर इतनी बड़ी संख्या में नेता एकसाथ पार्टी छोड़ देंगे, इसकी आशंका संभवतः एलजेपी को भी नहीं थी..

जनज्वार। तो आखिरकार जेडीयू ने लोजपा में सेंध लगा ही दी। राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में रहते हुए जनता दल यूनाइटेड को चुनावी समर में झटका देने वाली चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी में आज बड़ी टूट हुई। पटना में आयोजित जेडीयू के मिलन समारोह में जेडीयू की ओर से दावा किया किया गया कि लोजपा के 18 जिलाध्‍यक्षों व पांच प्रदेश महासचिवों सहित 208 नेता जेडीयू में शामिल हो गए हैं।


हालांकि इस बात के कयास पहले ही लगाए जा रहे थे कि एलजेपी के कुछ नेता इस मिलन समारोह में जेडीयू का दामन थाम सकते हैं, पर इतनी बड़ी संख्या में नेता एकसाथ पार्टी छोड़ देंगे, इसकी आशंका संभवतः एलजेपी को भी नहीं थी।

वैसे इसके पहले पिछले जनवरी महीने में भी एलजेपी में एक और बड़ी बगावत हो चुकी है। उस वक्त पार्टी के 27 नेताओं ने सामूहिक इस्‍तीफा दे दिया था। कहा जा रहा है कि बिहार के सियासी इतिहास की यह एक बड़ी बगावत है।

आज जेडीयू के मिलन समारोह में पार्टी की ओर से कहा गया कि एक साथ एलजेपी के के 18 जिलाध्यक्ष व पांच प्रदेश महासचिव समेत कुल 208 नेता जेडीयू में शामिल हो गए। पटना स्थित प्रदेश जेडीयू कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह में जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह ने लोजपा के इन सभी नेताओं को पार्टी में शामिल कराया।

इस अवसर पर जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा, महेश्वर हजारी और गुलाम रसूल बलियावी आदि कई बड़े नेता भी मौजूद थे।

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में हुई बड़ी हार के बाद से ही एलजेपी में भगदड़ का दौर चल रहा है। कई नेता पार्टी छोड़ कर अन्‍य दलों में जा चुके हैं। बुधवार को भी विधानसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी छोड़ एलजेपी में शामिल हुए रामेश्वर चौरसिया ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था।

एलजेपी में आज की बड़ी टूट का सूत्रधार बागी निष्‍कासित नेता व पार्टी के पूर्व प्रदेश प्रवक्‍ता केशव सिंह को माना जा रहा है। उन्होंने ही सबसे पहले पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान के प्रति नाराजगी जताते हुए एलजेपी में टूट का दावा किया था।

गुरुवार को प्रदेश जेडीयू कार्यालय में आयोजित मिलन समारोह में एलजेपी के जो बागी नेता जेडीयू में शामिल हुए, उनमें केशव सिंह, दीनानाथ गांधी, रामनाथ रमन और पारसनाथ गुप्ता शामिल हैं। जेडीयू में गए 208 नेताओं में जिलाध्यक्ष, प्रदेश महासचिव, प्रकोष्ठों के अध्यक्ष व सचिव आदि स्तर के नेता हैं।

Next Story

विविध

Share it