राजनीति

बिहार की राजनीति में भूचाल : कांग्रेस ने कहा नीतीश कुमार सर्वमान्य नेता, साथ में सरकार बनाने का दिया न्यौता

Janjwar Desk
8 Aug 2022 8:07 AM GMT
बिहार की राजनीति में भूचाल : कांग्रेस ने कहा नीतीश कुमार सर्वमान्य नेता, साथ में सरकार बनाने का दिया न्योता
x

बिहार की राजनीति में भूचाल : कांग्रेस ने कहा नीतीश कुमार सर्वमान्य नेता, साथ में सरकार बनाने का दिया न्योता

Bihar Politics Crisis : बिहार की राजनीति में भूचाल आ गया है, बीजेपी के साथ तना-तनी के बीच कांग्रेस ने नीतीश कुमार को सर्वमान्य नेता मान लिया है, कांग्रेस ने नीतीश कुमार को अपने साथ सरकार बनाने का न्योता भी दिया है...

Bihar Politics Crisis : बिहार की राजनीति में भूचाल आ गया है। बीजेपी के साथ तना-तनी के बीच कांग्रेस ने नीतीश कुमार को सर्वमान्य नेता मान लिया है। साथ ही खबर है कि कांग्रेस ने नीतीश कुमार को अपने साथ सरकार बनाने का न्योता भी दिया है। बता दें कि बिहार में सियासी अटकलों के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से फोन पर बात की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दोनों नेताओं के बीच मौजूदा राजनीतिक हालात पर चर्चा हुई। जेडीयू-बीजेपी में तनातनी के बीच बिहार के CM नीतीश कुमार ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से संपर्क किया है।

कांग्रेस ने अपने साथ सरकार बनाने का दिया न्योता

बता दें कि बिहार में मची सियासी उथल-पुथल के बीच कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और बिहार से विधायक शकील अहमद खान कहा है कि नीतीश कुमार सर्वमान्य नेता हैं। हम चाहते हैं कि अगर वह बीजेपी को छोड़ें तो हम लोगों के साथ आएं और हमारे यहां भी मुख्यमंत्री की कुर्सी ही संभाले। हमलोगों का समर्थन मिलेगा।

आने वाले 48 घंटे गठबंधन राजनीति के लिए अहम

राजनितिक गलियारों में अटकलें है कि आने वाले 48 घंटे बिहार में गठबंधन राजनीति के लिए बेहद अहम हैं। जेडीयू महगठबंधन के साथ फिर से सरकार बना सकता है। बीजेपी को छोड़कर सभी दलों ने विधायक दल की बैठक बुलाई है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सांसदों और विधायकों की बैठक में अहम फैसला हो सकता है। बता दें कि 2017 में महागठबंधन से अलग होकर जेडीयू एनडीए में शामिल हुई थी। 2015 के विधानसभा चुनाव के बाद महागठबंधन बना था, तब उसके साथ जदयू भी थी।

कांग्रेस प्रभारी पटना के लिए हुए रवाना

इस बीच बिहार कांग्रेस प्रभारी पटना रवाना हो गए हैं। आरसीपी सिंह के इस्तीफे के बाद जेडीयू ने पार्टी सांसदों की बैठक बुलाई है, जिसके बाद सूबे की राजनीति में अटकलों का दौर तेज हो गया है। पार्टी ने सभी सांसदों को आज सोमवार शाम तक पटना आने को कहा है। बताया जा रहा है कि इस बैठक में जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह भी मौजूद रहेंगे।

कांग्रेस ने भी विधायक दल की बुलाई बैठक

बता दें कि इसके अलावा मंगलवार को कांग्रेस ने भी विधायक दल की बैठक बुलाई है जबकि आरजेडी ने भी अपने विधायकों से पटना में रहने को कहा है। इन सारे घटनाक्रमों से कयास लगाए जा रहे हैं कि बिहार की राजनीति जल्द ही करवट लेने वाली है। हालांकि जेडीयू यह भी कह रही है कि वह नरेंद्र मोदी कैबिनेट का हिस्सा नहीं बनेगी लेकिन दोनों पार्टियां साथ हैं मगर राजनीतिक घटनाक्रम को देखते हुए अटकलें तेज हो गई हैं कि दोनों पार्टियों के बीच सब ठीक नहीं है।

नीतीश कुमार ने सोनिया गांधी से क्यों की बात?

नीतीश कुमार ने फोन पर कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी से बात की है। इस खबर ने बिहार की सियासत में हलचल तेज कर दी है। दोनों नेताओं के इस वक्त बात करने से कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं। दोनों की इस बातचीत को बिहार की आने वाली राजनीति में काफी बड़ा माना जा रहा है। ऐसे में सवाल यह है कि नीतीश कुमार ने सिर्फ कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से ही फोन पर बात क्यों की है। बता दें कि वह इसलिए क्योंकि सोनिया गांधी के आरजेडी और जेडीयू के साथ अच्छे संबंध है और बिहार की राजनीति में पिछले दिनों चले आरोप-प्रत्यारोप के दौर में जेडीयू और आरजेडी के बीच बयानों का दौर गरमा गया था, जिसकी वजह से अभी एक ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता है जो दोनों तरफ की स्थिति को सरलता से संभाल लें और ऐसे में सोनिया गांधी नीतीश कुमार के लिए एक अच्छा विकल्प है।

Next Story

विविध