Top
राजनीति

कांग्रेस विधायक ने डॉ. हर्षवर्धन को भेजी गौमूत्र की शीशी, पूछा क्या इससे ठीक होगा कोरोना?

Janjwar Desk
20 May 2021 10:27 AM GMT
कांग्रेस विधायक ने डॉ. हर्षवर्धन को भेजी गौमूत्र की शीशी, पूछा क्या इससे ठीक होगा कोरोना?
x

(गौमूत्र पर छिड़ी बहस : पीसी तिवारी ने स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखकर पूछा, क्या आईसीएमआर और डीआरडीओ इसका वैज्ञानिक आधार सामने लाएंगे)

कांग्रेस विधायक का कहना है कि गाय को माता का दर्जा दिया जाता है लेकिन क्या ऐसे समय में समय में जब कोरोना गांवों में फैलता जा रहा है तब क्या सांसद का बयान उन्हें गुमराह करने वाला नहीं है?

जनज्वार डेस्क। देश में जब कोरोना की महामारी ने दस्तक दी थी तब हिंदू महासभा की ओर से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गौमूत्र पार्टी की गयी थी। इस पार्टी को देश और दुनिया के मीडिया में काफी कवरेज मिली थी। उसके बाद से कुछ भाजपाई नेताओं ने गौमूत्र पिया तो कुछ ने गोबर का लेप लगाना शुरू कर दिया। हाल ही में भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने गौमूत्र का सेवन करने की बात कही। तब से विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।

खबरों के मुताबिक बुधवार 19 मई को पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन को गोमूत्र की शीशी कूरियर के जरिए भेजी और उनसे प्रज्ञा सिंह ठाकुर के दावे का वैज्ञानिक आधार मांगा है।

पीसी शर्मा ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और नेशनल हेल्थ मिशन को पत्र लिखाकर पूछा है कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर के दावे का वैज्ञानिक प्रमाण क्या है? कांग्रेस विधायक ने इसके साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र भी भेजा है जिसमें उन्होने पूछा है कि क्या आईसीएमआर और डीआरडीओ भाजपा सांसद के इस दावे की सच्चाई दुनिया के सामने लाएंगे?

कांग्रेस विधायक का कहना है कि गाय को माता का दर्जा दिया जाता है लेकिन क्या ऐसे समय में समय में जब कोरोना गांवों में फैलता जा रहा है तब क्या सांसद का बयान उन्हें गुमराह करने वाला नहीं है? उन्होंने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से मांग की है कि प्रज्ञा सिंह ठाकुर के दावे को वैज्ञानिक प्रमाण के साथ जनता के सामने रखें।

पीसी शर्मा ने पत्र में आगे लिखा है कि 'क्या आईसीएमआर और डीआरडीओ ने ये वैज्ञानिक तौर पर मान लिया है कि गौमूत्र से कोरोना का इलाज हो सकता है? गौमाता को हम मां मानते हैं लेकिन क्या हमारी धार्मिक भावना का इस्तेमाल देश-प्रदेश की जनता को गुमराह करने के लिए तो नहीं हो रहा है?'

'क्या केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग और मध्यप्रदेश के हेल्थ विभाग ने तय कर लिया है कि कोरोना, ब्लैक फंगस का इलाज गौमूत्र से होगा? क्या अब वैक्सीन लगवाने की जरूरत नहीं और क्या आईसीएमआर और डीआरडीओ वैज्ञानिक रूप से इसे प्रमाणित करते हैं? इसलिए गोमूत्र की शीशी आपको भेज रहा हूं ताकि आप कोरोना से पीड़ित देश की जनता को वैज्ञानिक प्रमाणिकता के साथ इससंदर्भ में देश की जनता को कोरोना से जान बचाने का सही संदेश देंगे?'

बता दें कि प्रज्ञा ठाकुर ने हाल ही में भोपाल में एक कार्यक्रम के दौरान दावा किया था कि वह गौमूत्र का रोजाना सेवन करती हैं जिसके कारण वह कोरोना से अबतक बची हुई हैं।

Next Story

विविध

Share it