राजनीति

Corruption Perception Index 2023 : 180 देशों की सूची में 93वें स्थान पर भारत, अमृतकाल में भ्रष्टाचार मुक्त होने के दावों पर सवाल

Janjwar Desk
31 Jan 2024 2:19 PM GMT
Corruption Perception Index 2023 : 180 देशों की सूची में 93वें स्थान पर भारत, अमृतकाल में भ्रष्टाचार मुक्त होने के दावों पर सवाल
x

प्रतीकात्मक तस्वीर

वर्ष 2023 के इंडेक्स में हमारा देश 40 अंकों के साथ 85वें स्थान पर था – यानी एक वर्ष के भीतर ही विकसित भारत इंडेक्स में 8 स्थान लुढ़क चुका है, यहाँ यह भी जान लेना आवश्यक है कि दुनिया में भ्रष्टाचार का औसत अंक 43 है और एशिया प्रशांत क्षेत्र के देशों का औसत 45 है – भारत के इस इंडेक्स में अंक इन औसतों से भी कम हैं...

महेंद्र पाण्डेय की टिप्पणी

India is at 93rd place in Corruption Perception Index 2023 and saw a slide of 8 points from the last year : ट्रांसपेरेंसी इन्टरनेशनल ने जनवरी 2024 के अंत में वर्ष 2023 का भ्रष्टाचार अनुभूति इंडेक्स (Corruption Perception Index 2023) को प्रकाशित किया है, जिसके अनुसार सरकारी स्तर पर भ्रष्टाचार के सन्दर्भ में दुनिया के 180 देशों के सूची में अमृतकाल और रामलला के भव्य मंदिर के जश्न में डूबा और प्रधानमंत्री मोदी की गारंटियों और भ्रष्टाचार-मुक्त के नारों से सराबोर पहले का इंडिया और अब का भारत कुल 39 अंकों के साथ 93वें स्थान पर है।

वर्ष 2023 के इंडेक्स में हमारा देश 40 अंकों के साथ 85वें स्थान पर था – यानी एक वर्ष के भीतर ही मोदी जी का विकसित भारत इंडेक्स में 8 स्थान लुढ़क चुका है। यहाँ यह भी जान लेना आवश्यक है कि दुनिया में भ्रष्टाचार का औसत अंक 43 है और एशिया प्रशांत क्षेत्र के देशों का औसत 45 है – भारत के इस इंडेक्स में अंक इन औसतों से भी कम हैं।

भ्रष्टाचार अनुभूति इंडेक्स में भ्रष्टाचार के स्तर के आधार पर देशों को 0 से 100 तक अंक दिए जाते हैं – 0 अंक मतलब सबसे भ्रष्ट और 100 अंक का मतलब कोई भ्रष्टाचार नहीं। इस इंडेक्स में किसी भी देश को 100 अंक नहीं दिया गया है - पहले स्थान पर 90 अंक के साथ डेनमार्क है। इसके बाद के देश क्रम से हैं – फ़िनलैंड, न्यूज़ीलैण्ड, नॉर्वे, सिंगापुर, स्वीडन, स्विट्ज़रलैंड, नीदरलैंड, जर्मनी और लक्सेम्बर्ग। इस इंडेक्स में 11 अंकों के साथ सोमालिया 180वें स्थान पर यानि सबसे अंत में हैं। इससे पहले के देश क्रम से हैं – वेनेज़ुएला, सीरिया, साउथ सूडान, यमन, नार्थ कोरिया, निकारागुआ, हैती, इक्वेटोरियल गिनी और तुर्कमेनिस्तान।

कुल 39 अंकों के साथ ही 93वें स्थान पर भारत के साथ ही कजाखस्तान, लेसोथो ओर मालदीव्स भी हैं। भारत के पड़ोसी देशों में सबसे आगे 26वें स्थान पर भूटान और 76वें स्थान पर चीन है। भारत के बाद नेपाल 108वें स्थान पर, श्रीलंका 115वें, पाकिस्तान 133वें, बंगलादेश 149वें, अफ़ग़ानिस्तान और म्यांमार 162वें स्थान पर हैं। प्रमुख देशों में कनाडा 12वें स्थान पर, ऑस्ट्रेलिया 14वें, जापान 16वें, फ्रांस और यूनाइटेड किंगडम 20वें, अमेरिका 24वें, यूनाइटेड अरब एमिरात 26वें, साउथ कोरिया 32वें, इजराइल 33वें, साउथ अफ्रीका 83वें, ब्राज़ील 104वें, ईजिप्ट 108वें, तुर्की 115वें, मेक्सिको 126वें और रूस 141वें स्थान पर है।

प्रधानमंत्री मोदी के साथ ही पूरी बीजेपी लगातार कांग्रेस सहित सभी विपक्षी पार्टियों को भ्रष्टाचार की जननी करार देती रही है। हाल में ही विधानसभा चुनावों के दौरान राजस्थान और छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी सभी सभाओं में तत्कालीन कांग्रेसी मुख्यमंत्रियों और सरकार को भ्रष्टाचारी बताया था।

वर्ष 2023 में 15 अगस्त को 77वें स्वाधीनता दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले से पिछली सरकारों के भ्रष्टाचार, तुष्टिकरण और परिवारवाद को देश का सबसे बड़ा दुश्मन बताया था और गृहमंत्री अमित शाह ने सरकार के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव का जवाब देते हुए संसद में दिए गए चुनावी भाषण में भी इसे दुहराया था। पर इस सरकार और बीजेपी की परंपरा के अनुरूप नारों से आगे हकीकत में कुछ नहीं होता, और यही तथ्य इस इंडेक्स से भी जाहिर होता है।

Next Story

विविध