राजनीति

कानपुर : BJP में शामिल होते ही एक और गैंगस्टर के साफ हुए पाप, काकादेव थाने में दर्ज है हिस्ट्रीशीट

Janjwar Desk
3 Aug 2021 2:59 AM GMT
कानपुर : BJP में शामिल होते ही एक और गैंगस्टर के साफ हुए पाप, काकादेव थाने में दर्ज है हिस्ट्रीशीट
x

हिस्ट्रीशीटर अरविंद त्रिपाठी उर्फ छोटू तथा दूसरी तरफ शिवबीर सिंह भदौरिया.

डीएवी कॉलेज के पूर्व महामंत्री रहे अरविंद राज त्रिपाठी पर थाना काकादेव से हत्या के दो मामले दर्ज रहे हैं। बावजूद इसके पार्टी ने आते चुनावी साल को देखते हुए हिस्ट्रीशीटर को अहम पद से नवाज दिया है...

जनज्वार, लखनऊ। भाजपा (BJP) की युवा मोर्चा इकाई ने सोमवार 2 अगस्त को अपने पदाधिकारियों की सूची जारी कर दी है। कानपुर के शिवबीर सिंह भदौरिया को दूसरी बार प्रदेश उपाध्यक्ष का पद मिला है। वहीं पूर्व छात्रनेता अरविंद राज त्रिपाठी को प्रदेश मंत्री पद से नवाजा गया है। इस फैसले पर पार्टी के भीतर ही विरोध के स्वर उठ रहे हैं।

दरअसल, डीएवी कॉलेज के पूर्व महामंत्री रहे अरविंद राज त्रिपाठी पर थाना काकादेव (Kakadeo) से हत्या के दो मामले दर्ज रहे हैं। बावजूद इसके पार्टी ने आते चुनावी साल को देखते हुए हिस्ट्रीशीटर को अहम पद से नवाज दिया है। बताया जा रहा है कि पार्टी के इस फैसले के बाद भीतर ही भीतर आवाजें तेज हो रही हैं।

सोमवार 2 अगस्त भाजयुमो के 26 पदाधिकारियों की लिस्ट जारी की गई। इस लिस्ट में अरविंद राज त्रिपाठी का भी नाम शामिल है। प्रदेश में मंत्री का पद पाए अरविंद उर्फ छोटू त्रिपाठी (Chhotu Tripathi) काकादेव का निवासी है, तथा इसी थाने से उसपर हत्या के दो मुकदमें दर्ज हुए थे।

थाना काकादेव में रिकार्ड के मुताबिक हिस्ट्रीशीटर अरविंद उर्फ छोटू पर छात्रनेता सनी गिल (Suny Gill) सहित हत्या के दो मामले दर्ज हैं। जिनमें से एक में उसे निचली अदालत से बरी किया जा चुका है। अरविंद पर पहला केस 2002 में दर्ज हुआ था तथा 2009 में उसपर गैंगस्टर के तहत कार्रवाई की गई थी।

छोटू त्रिपाठी पर पुलिस चार बार गुंडा एक्ट की कार्रवाई कर चुकी है। साथ ही उस पर रंगदारी, मारपीट, सहित 7 सीएलए के मामले भी दर्ज हैं। इसके बाद भी अरविंद को प्रदेश स्तर पर अहम पद देने के लिए पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने संगठन पर सवाल उठाया है। वहीं कुछ का सवाल है कि साफ सुथरी छवि वाले कई लोगों को नजरअंदाज किया गया है।

Next Story

विविध

Share it