राजनीति

टिकटॉक स्टार पूजा आत्महत्या केस में घिरने के बाद महाराष्ट्र के मंत्री ने दिया इस्तीफा, मीडिया में उछला प्रेम संबंध का मामला

Janjwar Desk
28 Feb 2021 6:21 PM GMT
टिकटॉक स्टार पूजा आत्महत्या केस में घिरने के बाद महाराष्ट्र के मंत्री ने दिया इस्तीफा, मीडिया में उछला प्रेम संबंध का मामला
x

मुंबई। टिकटॉक स्टार की मौत के मामले में विपक्षी पार्टी भाजपा की ओर से बढ़ते दबाव के मद्देनजर शिवसेना नेता व वन मंत्री संजय राठौड़ ने रविवार 28 फरवरी को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उनका नाम टिकटॉक स्टार पूजा चव्हाण की मौत के मामले में सामने आया है। राठौड़ ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मुलाकात की और सोमवार 1 मार्च से शुरू हो रहे महाराष्ट्र विधानसभा के बजट सत्र की पूर्व संध्या पर अपना इस्तीफा दे दिया।

बंजारा समुदाय के प्रमुख नेता 49 वर्षीय संजय राठौड़ अपनी पत्नी शीतल के साथ ठाकरे के आधिकारिक निवास पर उनसे मिले और सीएम को अपना इस्तीफा सौंपने से पहले लगभग 30 मिनट तक इस मुद्दे पर चर्चा की।

मुख्यमंत्री ने बंजारा समुदाय के 'महंतों' की दलीलों पर विचार करने से भी इनकार कर दिया, क्योंकि पूजा की मौत की जांच रिपोर्ट अभी नहीं आई है।

भाजपा के रुख को तल्ख करते हुए विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने शक्ति विधेयक की संयुक्त चयन समिति से भाजपा विधायकों को निकालने की धमकी दी। इस शक्ति विधेयक को महिलाओं और बच्चों के खिलाफ हिंसा पर मौजूदा कानूनों में महत्वपूर्ण बदलाव का प्रस्ताव करते हुए दिशा अधिनियम की तर्ज पर लाया जा रहा है।

महाराष्ट्र परिषद में विपक्ष के नेता प्रवीण दरेकर ने कहा कि संजय राठौड़ ने इस्तीफा दे दिया...लेकिन, इसका मतलब यह नहीं है कि वह निर्दोष हैं।

दोनों नेताओं ने मांग की है कि पूजा चव्हाण मामले में राठौड़ के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए, हालांकि पूर्व मंत्री ने अपने ऊपर लगाए गए सभी आरोपों का लगातार खंडन किया है।

7 फरवरी को पुणे में 22 साल की पूजा चव्हाण की मौत के बाद राठौड़ का नाम सामने आया।

मीडिया में आई रिपोर्टों के मुताबिक पूजा चव्हाण और ठाकरे के कैबिनेट मंत्री राठौड़ के बीच प्रेम संबंध था। इस मामले में यह कहा जा रहा है कि किसी बड़ी धोखे को सहन न कर पाने की वजह से पूजा चव्हाण ने आत्महत्या कर ली।

इस्तीफा देने के बाद राठौड़ ने कहा 'एक महिला की मौत पर हो रही 'गंदी राजनीति' की वजह से उन्होंने इस्तीफा दिया है। मेरी छवि और प्रतिष्ठा को नष्ट करने की कोशिश हो रही है, जो मैंने 30 साल के सामाजिक जीवन में बनाया है। मैं कह रहा था कि कोई फैसला लेने से पहले जांच होने दो, लेकिन विपक्ष बजट सत्र को बाधित करने की धमकी दे रहा था।' उन्होंने यह भी कहा कि मंत्री पद से इस्तीफा इसलिए दे दिया है, ताकि सच सामने आ सके।

गौरतलब है कि टिकटॉक स्टार पूजा चव्हाण बीड जिले की निवासी थी और पुणे के हडपसर क्षेत्र में स्थित एक इमारत में फ्लैट की बालकनी से गिरने के बाद उसकी मौत हो गई थी। युवती, टिकटॉक और इंस्टाग्राम जैसे मंचों पर अपने वीडियो डालने के कारण लोकप्रिय थी। पूजा चव्हाण की आत्महत्या के बाद से ही सोशल मीडिया पर राठौड़ का नाम जोड़ा जा रहा था। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने भी चव्हाण पर कई आरोप लगाए थे। पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भी एफआईआर में देरी को लेकर सवाल उठाए थे।

बीजेपी का कहना था कि मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए, क्योंकि पुणे पुलिस दबाव में है और निष्पक्ष जांच नहीं कर पा रही है। बीजेपी के नेताओं ने राज्य में कई जगह प्रदर्शन भी किया था। साथ ही यह भी कह दिया था कि यदि राठौड़ इस्तीफा नहीं देते हैं तो विधानसभा का सत्र नहीं चलने दिया जाएगा। विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि मंत्री का इस्तीफा काफी नहीं होगा और राठौड़ के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो। सोशल मीडिया में कथित तस्वीरें, ऑडियो और वीडियो क्लिप्स वायरल होने के बाद बीजेपी ने राठौड़ को घेरना शुरू कर दिया था।

राठौड़ के इस्तीफे के बाद महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि उन्होंने खुद अपना इस्तीफा सौंपा है, मुख्यमंत्री अपना फैसला लेंगे। हम चाहते हैं कि निष्पक्ष जांच हो। यदि कोई दोषी है तो कार्रवाई होनी चाहिए, चाहे वह कोई भी हो और यदि दोषी नहीं है तो यह भी जनता के सामने आना चाहिए।

Next Story
Share it