Top
राजनीति

चिदंबरम का नहले पर दहला, आरजीएफ 20 लाख रुपये लौटा दे तो क्या मोदी खाली करा लेंगे कब्जे की जमीन

Janjwar Desk
27 Jun 2020 9:33 AM GMT
चिदंबरम का नहले पर दहला, आरजीएफ 20 लाख रुपये लौटा दे तो क्या मोदी खाली करा लेंगे कब्जे की जमीन
x
पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष नड्डा अर्धसत्य बोलने में माहिर हैं। मेरे सहयोगी रणदीप सुरजेवाला ने कल उनकी आधी सच्चाई उजागर की....

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय वित्तमंत्री व कंग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने शनिवार को केंद्र और भाजपा अध्यक्ष जे.पी. नड्डा पर निशाना साधा। उन्होंने नड्डा पर पीएमएनआरएफ से राजीव गांधी फाउंडेशन (आरजीएफ) को मिले 20 लाख रुपये अनुदान के मामले को आधू-अधूरे सच से विकृत करने का आरोप लगाया। चिदंबरम ने साथ ही सरकार पर सवाल दागा कि अगर आरजीएफ अनुदान लौटा दे तो क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को भरोसा दिलाएंगे कि 'चीन अपना अतिक्रमण खाली करेगा और यथास्थिति बहाल करेगा?'

पार्टी के वरिष्ठ नेता की टिप्पणी पार्टी के इस दावे के तुरंत बाद आई कि 2004 की सुनामी के बाद अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में राहत कार्य के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (पीएमएनआरएफ) से प्राप्त 20 लाख रुपये का दान किया गया था।

चिदंबरम ने सरकार पर हमला करने के लिए एक के बाद एक कई ट्वीट किए। उन्होंने कहा, 'भाजपा अध्यक्ष नड्डा अर्धसत्य बोलने में माहिर हैं। मेरे सहयोगी रणदीप सुरजेवाला ने कल उनकी आधी सच्चाई उजागर की।'

केंद्र को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा, 'भाजपा इस तथ्य को क्यों छिपा रही है कि 2005 में पीएम राष्ट्रीय राहत कोष से आरजीएफ को प्राप्त 20 लाख रुपये अंडमान और निकोबार में सुनामी राहत कार्य के लिए थे? और यह कि प्रत्येक रुपया किस मद में खर्च किया गया था?'

उन्होंने सरकार से पूछा, 'मान लीजिए कि आरजीएफ 20 लाख रुपये लौटा देती है, तो क्या पीएम मोदी देश को भरोसा दिलाएंगे कि चीन अपना अतिक्रमण खाली करेगा और यथास्थिति बहाल करेगा?' पूर्व वित्तमंत्री ने नड्डा पर निशाना साधते हुए कहा, 'श्रीमान नड्डा, वास्तविकता के साथ आएं और उस अतीत में मत रहें जो आपके आधे-अधूरे सच से विकृत है।'

उन्होंने आगे कहा, 'कृपया भारतीय क्षेत्र में चीनी घुसपैठ पर हमारे सवालों के जवाब दीजिए।' गौरतलब है कि नड्डा ने 2005 में पीएमएनआरएफ से आरजीएफ को मिले 20 लाख रुपये को लेकर शुक्रवार सुबह कांग्रेस पर निशाना साधा था, जिसके बाद अब चिदंबरम ने उन पर पलटवार किया है।

बता दें कि भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने हाल ही में कुछ दस्तावेज साझा करते हुए दावा किया था कि 2007-08 में राजीव गांधी फाउंडेशन को पीएमएनआरएफ से दान मिला। नड्डा ने सीधे-सीधे यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी का नाम लेते हुए कहा, 'यूपी सरकारर में परेशान लोगों की मदद के लिए बना पीएमएनआरएफ राजीव गांधी फाउंडेशन को पैसा दान कर रहा था। पीएमएनआरएफ बोर्ड में कौन था? श्रीमती सोनिया गांधी। आरजीएफ का चेयरमैन कौन है? श्रीमती सोनिया गांधी।' नड्डा ने कहा कि नैतिकता को ताक पर रखकर यह सब किया गया और पारदर्शिता के बारे में सोचा तक नहीं गया।

बता दें कि भाजपा की ओर से यह कांग्रेस और सोनिया गांधी पर पहला आरोप नहीं है। इससे पहले भाजपा उन पर विदेशी नागरिक होने का आरोप लगाती रही है। इसके उनकी पार्टी पर मुस्लिम परस्त होने के आरोप भी भाजपा की ओर से समय समय पर लगते रहते हैं।

Next Story
Share it