Top
राजनीति

ट्रंप दंपती को कोरोना होने की खबर मिलते ही मोदी ने किया ट्वीट, लेकिन हाथरस कांड पर नहीं खुली अबतक जुबान

Janjwar Desk
3 Oct 2020 11:31 AM GMT
ट्रंप दंपती को कोरोना होने की खबर मिलते ही मोदी ने किया ट्वीट, लेकिन हाथरस कांड पर नहीं खुली अबतक जुबान
x
भीम आर्मी प्रमुख ने कहा कि 'हाथरस के वहशीपन पर मोदी जी खामोश क्यों हैं? जिस UP से वे दूसरी बार सदन मे पहुँचे हैं उसी UP में हाथरस भी है क्या PM यह नहीं जानते? हमारी बहन को कचरे की तरह जलाया गया इस पर चुप्पी क्यों ?

नई दिल्ली। साल 2014 से पहले नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब वह केंद्र की मनमोहन सिंह सरकार से कई बार महिला सुरक्षा के मुद्दे पर खूब सवाल करते थे। दिल्ली के निर्भया गैंगरेप के बाद नरेंद्र मोदी ने एक रैली में सरकार पर दिल्ली को 'रेप कैपिटल' बनाने का आरोप लगाया था। लेकिन उत्तर प्रदेश के हाथरस और बलरामपुर में वीभत्स गैंगरेप और हत्या के मामले पर उन्होंने अभी तक अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी है।

दिल्ली के निर्भाया गैंगरेप कांड को लेकर तत्कालीन गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक रैली में कहा था, 'आए दिन दिल्ली से बलात्कार की घटनाओं के समाचार आते हैं कि नहीं आते हैं? दिल्ली को रेप कैपिटल बना दिया कि नहीं बना दिया? कांग्रेस के महाशय जिस तरह से दिल्ली को रेप कैपिटल बना दिया है उसके कारण पूरी दुनिया में हिंदुस्तान की बेइजत्ती हो रही है। आपके पास मां बहनों की सुरक्षा के लिए न कोई योजना है, न आपमें कोई दम है, न आप इसके लिए कुछ कर सकते हैं।'

तब जिस तरह से मनमोहन सरकार सवालों के बीच घिरी हुई थी वैसी ही आज हाथरस कांड के बाद केंद्र की मोदी सरकार घिरी हुई है। हाथरस के वीभत्स कांड को करीब 20 दिन बीत चुके हैं लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से कोई सार्वजनिक बयान नहीं आया है, अपने आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल्स पर भी उन्होंने कोई ट्वीट या फेसबुक पोस्ट नहीं किया है। हालांकि उन्होंने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप के कोविड पॉजिटिव पाए जाने को लेकर ट्वीट किया है और उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की है।

इस वीभत्स और बर्बर कांड को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर भी विपक्षी दलों के नेता और लोग सवाल उठा रहे हैं। भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने उनकी चुप्पी पर सवाल उठाते हुए अपना एक वीडियो ट्वीट किया, 'हाथरस के वहशीपन पर मोदी जी खामोश क्यों हैं? जिस UP से वे दूसरी बार सदन मे पहुँचे हैं उसी UP में हाथरस भी है क्या PM यह नहीं जानते? हमारी बहन को कचरे की तरह जलाया गया इस पर चुप्पी क्यों ? हम आज शाम पांच बजे इन तमाम सवालों के जवाब लेने इंडिया गेट आ रहे हैं।'

चंद्रशेखर के मुताबिक दलितो को मत मारो, मुझे मार लो कहने वाले मोदी जी हाथरस के पीड़ित परिवार को पुलिस ने बंधक बनाकर रखा हुआ है इसपर कुछ बोलेंगे ? ये उतरप्रदेश का रामराज्य है, रेप होगा, कत्ल होगा, मानवता कलंकित होगी, फिर आपको ही बंधक बनाया जाएगा। सब होगा पर न्याय नही होगा। चुप्पी तोड़नी पड़ेगी मोदी जी।

इससे पहले कांग्रेस की ओर से भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाए जा चुके हैं। कांग्रेस की प्रवक्ता सुप्रिया सुले ने हाल ही में उनकी चुप्पी पर सवाल खड़ा किया था और उत्तर प्रदेश को 'अपराध का गढ़' बताया था। कांग्रेस ने यह भी कहा कि इस मामले में त्वरित न्याय सुनिश्चित होना चाहिए और शुरुआत में घटना को 'आधिकारिक रूप से' फर्जी खबर बताने के लिए बीजेपी सरकार को माफी मांगनी चाहिए।

हालांकि पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह की सरकार के दौरान निर्भया गैंगरेप को लेकर चूड़िया भेजने वाली स्मृति ईरानी ने आज अपनी चुप्पी तोड़ी है। केंद्रीय मंत्री ईरानी आज प्रेस कांफ्रेंस के जरिए उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का बचाव करते और राजस्थान की गहलोत सरकार व राहुल गांधी पर सवाल उठाते नजर आईं।

स्मृति ईरानी ने कहा कि जिन लोगों ने पीड़िता को न्याय नहीं मिल पाए इसकी साजिश रची थी उनके खिलाफ सीएम योगी आदित्यनाथ सख्त कार्रवाई करेंगे। स्मृति ईरानी ने कहा कि राहुल गांधी को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलौत को भी काॅल करना चाहिए।

Next Story

विविध

Share it