राजनीति

Punjab Congress Crisis : पंजाब कांग्रेस में संकट जारी, अमरिंदर सिंह बोले अब इस तरह का अपमान नहीं सह सकते

Janjwar Desk
18 Sep 2021 10:29 AM GMT
Punjab Congress Crisis : पंजाब कांग्रेस में संकट जारी, अमरिंदर सिंह बोले अब इस तरह का अपमान नहीं सह सकते
x

(पंजाब कांग्रेस के नाराज विधायकों के साथ होगी विधायक दल की बैठक )

Punjab Congress Crisis : कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amarinder Singh) ने पद छोड़ने से इनकार किया है। वहीं इस बीच उन्होंने अपने समर्थक विधायकों से मुलाकात की है और स्थिति को लेकर चर्चा की है....

Punjab Congress Crisis जनज्वार। पंजाब कांग्रेस में संकट थमने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस के हाईकमान की तमाम कोशिशों के बावजूद पंजाब के मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Capt Amarinder Singh) और नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के बीच अब भी लड़ाई खत्म नहीं हुई है। शनिवार को होने वाली विधायक दल की अहम बैठक से पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह का दर्द सामने आया। खबरों के मुताबिक अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से कहा कि इस तरह के अपमान के साथ वह कांग्रेस में नहीं रह सकते हैं।

खबरों के मुताबिक कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पद छोड़ने से इनकार किया है। वहीं इस बीच उन्होंने अपने समर्थक विधायकों से मुलाकात की है और स्थिति को लेकर चर्चा की है। आज होने वाले कांग्रेस विधायक दल की बैठक 48 नाराज विधायकों की पार्टी आलाकमान को चिट्ठी लिखने के बाद बुलाई गई है।

आगामी साल पंजाब में विधानसभा चुनाव (Punjab Assembly Election) होने हैं लेकिन उनससे पहले इस बैठक ने राज्य में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर अटकलें तेज कर दी हैं। सूत्रों के मुताबिक नेतृत्व परिवर्तन को लेकर तीन नेताओं के नाम सामने आ रहे हैं जिनमें पंजाब कांग्रेस के पूर्व प्रमुख सुनील जाखड़, प्रताप सिंह बाजवा और सांसद रवनीत सिंह बिट्टू का नाम शामिल है।

एनडीटीवी ने अपने सूत्रों के हवाले से बताया है कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस बीच पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी से कहा, इस तरह का अपमान काफी हो चुका। यह तीसरी बार हो रहा है। मैं इस तरह के अपमान के साथ पार्टी में नहीं रह सकता।

बीते महीने पंजाब के चार मंत्रियों और कई विधायकों ने मुख्यमंत्री के खिलाफ असंतोष के सुर ऊंचे किए थे। विधायकों ने कहा था कि उन्हें अब इस बात का भरोसा नहीं है कि अमरिंदर सिंह में अधूरे वादों को पूरा करने की क्षमता नहीं है। विधायक दल की बैठक में सभ विधायकों को अनिवार्य रूप से शामिल होने को कहा गया है। इसमें संभवत: पर्यवेक्षक के तौर पर हरीश चौधरी और अजय माकन मौजूद होंगे।

कांग्रेस विधायक दल की अहम बैठक से पहले पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने कहा कि राहुल गांधी ने पार्टी की राज्य ईकाई में गुत्थी को सुलझाने का जो रास्ता अपनाया है उसने न सिर्फ कांग्रेस का मंत्रमुग्ध कर दिया है बल्कि अकाली दल की बुनियाद हिल गई है।

Next Story

विविध

Share it