राजनीति

Big Breaking : पुष्कर सिंह धामी बने उत्तराखण्ड के नये मुख्यमंत्री, विधायक दल की बैठक में हुआ फैसला

Janjwar Desk
3 July 2021 10:31 AM GMT
Big Breaking : पुष्कर सिंह धामी बने उत्तराखण्ड के नये मुख्यमंत्री,  विधायक दल की बैठक में हुआ फैसला
x

(विधायक दल की बैठक में पुष्कर सिंह धामी के नाम पर लगी मुख्यमंत्री पद की मुहर )

मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद पुष्कर सिंह धामी ने कहा, मैं निश्चित तौर पर पीएम मोदी, अमित शाह और पार्टी नेतृत्व की उम्मीदों पर खरा उतरूंगा। सभी को साथ लेकर काम किया जाएगा....

जनज्वार ब्यूरो। तमाम कयासों के बाद भाजपा ने उत्तराखण्ड का नया सीएम आज 3 जून को हुई विधायक दल की बैठक के बाद पुष्कर सिंह धामी को चुन लिया है। उत्तराखंड में पिछले 4 महीने के अंदर जनता को तीसरा मुख्यमंत्री Pushkar Singh Dhami के रूप में मिले हैं।

सिर्फ 3 महीने और कुछ दिन मुख्यमंत्री पद पर रहने वाले तीरथ सिंह रावत को दिल्ली बुलाकर पार्टी ने उनसे इस्तीफा ले लिया, जिसके बाद से ही सीएम चेहरे को लेकर उत्तराखंड में अटकलें शुरू हो चुकी थीं। सीएम पद की रेस में सतपाल महाराज और निशंक का नाम सामने आ रहा था, मगर भाजपा तुरूप के पत्ते की तरह धामी को सामने ले आयी।

चर्चा है कि पुष्कर सिंह धामी आज 3 जून को ही मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद पुष्कर सिंह धामी ने कहा, मैं निश्चित तौर पर पीएम मोदी, अमित शाह और पार्टी नेतृत्व की उम्मीदों पर खरा उतरूंगा। सभी को साथ लेकर काम किया जाएगा। मैं चुनौती को स्वीकार करता हूं और पार्टी को आगे बढ़ाने का काम किया जाएगा।'

भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष रहे पुष्कर सिंह धामी को भी पिछले मुख्यमंत्रियों की तरह आरएसएस का बहुत करीबी माना जाता है। सीमांत विधानसभा क्षेत्र खटीमा से दो बार विधायक चुने गए धामी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में कई अहम पदों पर अपनी सेवाये दे चुके हैं। लंबे समय तक छात्र राजनीति में रहने के बाद उन्होंंने उत्तराखण्ड भाजपा में एंट्री ली थी।

पुष्कर सिंह धामी 1990 से 1999 तक धामी अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में विभिन्न पदों पर रह चुके हैं। इसी दौरान अलग-अलग दायित्वों के साथ-साथ धामी ने प्रदेश मंत्री की भूमिका भी निभायी। पुष्कर सिंह धामी लखनऊ में हुए अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषण के राष्ट्रीय सम्मेलन में संयोजक और संचालक भी रह चुके हैं।

Next Story

विविध

Share it