Top
राजनीति

संबित पात्रा बोले, राजस्थान घटनाक्रम की हो सीबीआई जांच तो बीजेपी ने पुलिस में भी दर्ज कराई शिकायत

Janjwar Desk
18 July 2020 5:16 AM GMT
संबित पात्रा बोले, राजस्थान घटनाक्रम की हो सीबीआई जांच तो बीजेपी ने पुलिस में भी दर्ज कराई शिकायत
x
राजस्थान बीजेपी ने ऑडियो में छद्म व्यक्तियों के आवाज को पार्टी के प्रतिष्ठित नेताओं की आवाज बताने का षड्यंत्र रचने की शिकायत पुलिस में दर्ज कराई है।

जनज्वार। राजस्थान में सियासी वार-प्रतिवार बढ़ता जा रहा है। SOG ने वायरल टेप मामले में आरोपित संजय जैन को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं बीजेपी ने षड्यंत्र रच कर पार्टी और उनके बड़े नेताओं को बदनाम करने के साजिश की शिकायत थाने में दर्ज कराई है। बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने पूरे घटनाक्रम की सीबीआई जांच की मांग की है। उधर हरियाणा के मानेसर, जहां पायलट गुट के विधायकों के रहने की बात की जा रही थी, कल रात वहां पहुंची राजस्थान SOG अब वापस चली गई है।

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने राजस्थान सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए पूरे घटनाक्रम की सीबीआई जांच की मांग उठा दी है। उन्होंने कहा 'राज्य सरकार को इसका जबाब देना चाहिए, कि क्या वे खुद फोन टेपिंग में संलिप्त थे, चूंकि FIR में इस ऑडियो को कथित बताया गया है और मुख्यमंत्री तथा उनके लोग इसे विश्वसनीय बता रहे हैं। हम इसकी सीबीआई जांच की मांग करते हैं। क्या राजस्थान में कोई आपात स्थिति है? सभी राजनैतिक दल इस तरीके से क्यों टारगेट किए जा रहे हैं।'

राजस्थान SOG ने कथित रूप से सरकार को अस्थिर करने की बातचीत वाले वायरल क्लिप मामले में एक आरोपित संजय जैन को गिरफ्तार कर लिया है। SOG के ADG अशोक राठौड़ ने मीडिया से कहा 'संजय जैन को ऑडियो रिकॉर्डिंग, जो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, के आधार पर दर्ज की गई FIR मामले में पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया है।'

कांग्रेस के चीफ व्हिप महेश शर्मा की शिकायत पर SOG ने तीन लोगों के विरुद्ध FIR दर्ज की थी। वायरल ऑडियो में कथित रूप से राजस्थान सरकार को गिराने की बातें की जा रहीं हैं। हालांकि अभी तक इस ऑडियो की प्रामाणिकता की किसी स्तर पर पुष्टि नहीं हुई है।

बीजेपी के राजस्थान प्रदेश प्रवक्ता लक्ष्मीकांत भारद्वाज ने अशोक नगर पुलिस में लिखित शिकायत की है। इस शिकायत में छद्म आवाज वाला ऑडियो टेप बनाने, उसे वायरल करने और उस टेप में बीजेपी नेताओं की आवाज होने की गलत बातें दुष्प्रचारित करने का आरोप लगाया गया है। शिकायत में कहा गया है कि बीजेपी पार्टी और उसके नेताओं को बदनाम करने की साजिश रची जा रही है।

इससे पहले 17 जुलाई की रात राजस्थान SOG हरियाणा के मानेसर स्थित उस रिजॉर्ट में पहुंची थी, जहां पायलट ग्रुप के विधायक रुके हुए थे। टीम को वहां पहले तो हरियाणा पुलिस ने रोक दिया था, पर कुछ देर बाद अंदर जाने की इजाजत दे दी गई थी। बताया जाता है कि टीम वायरल हुए ऑडियो को लेकर विधायकों से पूछताछ करने गई थी। SOG की टीम वहां से चली गई है, पर अंदर क्या हुआ, इसकी जानकारी मीडिया को नहीं दी है।

राजस्थान SOG की यह टीम उस वायरल वीडियो की जांच कर रही है, जिसमें कथित तौर पर राजस्थान की गहलोत सरकार को गिराने की बात हो रही है। इस वीडियो को लेकर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, विधायक भंवरलाल शर्मा और संजय जैन के विरुद्ध राजस्थान में FIR दर्ज की गई है। यह FIR कांग्रेस विधानमंडल दल के सचेतक महेश शर्मा की शिकायत पर दर्ज की गई थी।

इस ऑडियो टेप के वायरल होने के तुरंत बाद कांग्रेस ने सचिन पायलट गुट के दो विधायकों भंवरलाल शर्मा और विश्वेन्द्र सिंह को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया था।

हालांकि बीजेपी इन सब मामलों में अपने ऊपर लगे आरोपों को लगातार खारिज कर रही है। केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने इस टेप में अपनी आवाज न होने की बात कही थी। उन्होंने मीडिया से कहा था 'मैं किसी भी तरह की जांच के लिए तैयार हूं। उस टेप में मेरी आवाज नहीं है।'

Next Story

विविध

Share it