राजनीति

Telangana News : भाजपा के कद्दावर नेता को एसआईटी ने भेजा समन, विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़ा है मामला

Janjwar Desk
19 Nov 2022 6:55 AM GMT
Telangana News : भाजपा के कद्दावर नेता को एसआईटी ने भेजा समन, विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़ा है मामला
x

Telangana News : भाजपा के कद्दावर नेता को एसआईटी ने भेजा समन, विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़ा है मामला

Telangana News : तेलंगाना सरकार द्वारा गठित एसआईटी ने भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष को समन भेजा है। एसआईटी ने उन्हें 21 नवंबर को पूछताछ के लिए पेश होने के लिए कहा है।

Telangana News : गुजरात के साथ अब तेलंगाना ( Telangana ) में भी सियासी पारा गरमाने लगा है। ऐसा इसलिए कि टीआरएस ( Horse-trading of TRS MLAs ) विधायकों की खरीद-फरोख्त का मामले में लगातार तूल पकड़ता जा रहा है। इस मामले की जांच के लिए गठित तेलंगाना सरकार द्वारा गठित एसआईटी ( SIT ) ने जांच के तहत बीजेपी ( BJP ) के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष ( BL Santosh ) को समन भेजा है। एसआईटी ( SIT Summons ) ने उन्हें 21 नवंबर को पूछताछ के लिए पेश होने के लिए कहा है।

गिरफ्तारी की लटकी तलवार

तेलंगाना एसआईटी ने बीएल संतोष ( BL Santosh ) को 41 सीआरपीसी का नोटिस भेजा है। उन्हें इस महीने की 21 तारीख को हैदराबाद स्थित कार्यालय में सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर पेश होने को कहा है। नोटिस में कहा गया है कि अगर वह उपस्थित नहीं होते हैं तो उन्हें गिरफ्तारी का सामना करना पड़ सकता है।

बीएल संतोष पर है साजिश रचने का आरोप

टीआरएस विधायकों की खरीद फरोख्त ( Horse-trading of TRS MLAs ) मामले में तेलंगाना पुलिस की लगातार छापेमारी कर रही है। पिछले महीने साइबराबाद पुलिस ने तेलंगाना विधायकों के कथित खरीद फरोख्त के मामले में कथित संलिप्तता के लिए तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने आरोपियों को अदालत में पेश करते हुए कहा था कि आरोपियों की ओर से विधायकों को राज्य सरकार को अस्थिर करने का लालच दिया गया था।

3 की हो चुकी है पहले ही गिरफ्तारी

Telangana News : तेलंगाना के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ( ACB ) की अदालत ने तीनों को न्यायिक हिरासत में भेजने की अपील खारिज कर दिया है। उनकी रिहाई का आदेश दिया था। अदालत के आदेश के बाद आरोपी रामचंद्र भारती, नंद कुमार और सिंहयाजी स्वामी को पुलिस ने रिहा कर दिया था। भारत राष्ट्र समिति (BRS ) के विधायकों की ओर से उनको खरीदने के प्रयासों की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। बीआरएस नेताओं ने इसके पीछे बीजेपी का हाथ होने का आरोप लगाया था।

Next Story

विविध