राजनीति

TMC vs BJP : बंगाल में रहना है तो भाजपा को वोट मत डालना, उपचुनाव से पहले तृणमूल नेता के बिगड़े बोल

Janjwar Desk
30 March 2022 9:23 AM GMT
बंगाल में रहना है तो भाजपा को वोट मत डालना, उपचुनाव से पहले तृणमूल नेता के बिगड़े बोल
x

टीएमसी विधायक नरेंद्र नाथ चक्रवर्ती के बिगड़े बोल। 

Bengal by-election : नरेंद्र नाथ ने भाजपा समर्थकों को खासतौर से चेतावनी देते हुए कहा कि आसनसोल उपचुनाव में वोट न डालें। पोलिंग बूथ पर न जाएं। ऐसा किया तो समझ लो क्या होगा।

Bengal by-election : पश्चिम बंगाल में आसनसोल लोकसभा ( Asansol Lok Sabha ) और बालीगंज विधानसभा ( Ballygunge Assembly ) सीट पर उपचुनाव ( By-election ) की वजह से एक बार फिर सियासी तनाव चरम पर है। टीएमसी ( TMC ) और भाजपा ( BJP ) के लिए यह उपचुनाव प्रतिष्ठा का सवाल भी है। इस बीच टीएमसी विधायक नरेंद्र नाथ चक्रवर्ती ( TMC MLA Narendra Nath Chakraborty ) ने आसनसोल ( Asansol ) के हरिपुर में हुई कार्यकर्ता बैठक में विवादित बयान देकर माहौल खराब करने की कोशिश की है। नरेंद्र नाथ ने भाजपा समर्थकों को खासतौर से चेतावनी देते हुए कहा कि आसनसोल उपचुनाव में वोट न डालें। पोलिंग बूथ पर न जाएं।

भाजपा को वोट डाला तो समझ लेना क्या होगा

अगर भाजपा समर्थकों ने वोट डाला तो चुनाव के बाद तृणमूल के कार्यकर्ताओं के जरिए उनका पता लगाया जाएगा। अगर वे वोट नहीं करते हैं तो राज्य में रह सकते हैं, अपने काम व व्यवसाय कर सकते हैं। इस बात का खुलासा पश्चिम बंगाल के पांडेश्वर में तृणमूल कांग्रेस विधायक नरेंद्र नाथ चक्रवर्ती का एक वीडियो सामने आने के बाद हुआ है। वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि वो भाजपा को वोट न देने की धमकी मतदाताओं को देते नजर आ रहे हैं।

ममता के इशारे पर नरेंद्र दे रहे हैं भड़काव बयान

तृणमूल कांग्रेस विधायक नरेंद्र नाथ चक्रवर्ती का वीडियो सामने आने के बाद भाजपा प्रवक्ताओं ने सोशल मीडिया पर यह वीडियो पोस्ट कर चुनाव आयोग से शिकायत की है। भाजपा नेता अनिल बलूनी ने इसे लोकतंत्र का चीरहरण बताया है। बंगाल भाजपा के सहप्रभारी अमित मालवीय ने कहा कि नरेंद्र नाथ चक्रवर्ती को सलाखों के पीछे होना चाहिए। ममता बनर्जी उन्हें संरक्षण दे रही हैं।

6 साल पहले हुई थी नरेन की गिरफ्तारी

पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि नरेंद्र नाथ को 2016 में सीआईएसएफ ने कोलकाता के नेताजी सुभाषचंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हिरासत में रखा था। वह गैर-लाइसेंसी पिस्तौल व गोलियां लेकर चेन्नई के लिए विमान में चढ़ रहे थे। उन्हें शस्त्र अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया था।

ममता के लिए प्रतिष्ठा की सीट है आसनसोल

Bengal by-election : बता दें कि आसनसोल लोकसभा और बालीगंज विधानसभा सीट पर 12 अप्रैल, 2022 को उपचुनाव होना है। आसनसोल सीट से भाजपा सांसद रहे बाबुल सुप्रियो ने अक्टूबर 2021 में पार्टी से मतभेद का हवाला देते हुए इस्तीफा दिया था। इसके बाद वो तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे। दूसरी तरफ सरकार में मंत्री रहे सुब्रत मुखर्जी की बीमारी से मौत के बाद उनकी कोलकाता की बालीगंज विधानसभा सीट खाली हुई है। तीन अन्य सीटों पर भी विधानसभा उपचुनाव होंगे। उपचुनाव के परिणाम 16 अप्रैल को आएंगे।

आसनसोल लोकसभा सीट पर टीएमसी ने शत्रुघ्न सिन्हा को मैदान में उतारा है। उनके खिलाफ भाजपा ने अग्निमित्र पॉल को चुनावी रण में उतरा है। पॉल मौजूदा विधायक हैं और बंगाल भाजपा के महासचिव हैं। पश्चिम बंगाल में ये सीट ममता बनर्जी के लिए प्रतिष्ठा की सीट बन गई है।

Next Story

विविध