राजनीति

Varun Gandhi Vs BJP : वरुण गांधी ने ट्वीट कर कहा, राजनीतिक फायदे के लिए देश में हो रही है बड़ी साजिश

Janjwar Desk
15 Oct 2021 3:25 PM GMT
Varun Gandhi Vs BJP : वरुण गांधी ने ट्वीट कर कहा, राजनीतिक फायदे के लिए देश में हो रही है बड़ी साजिश
x

(भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी से हटने के बाद भाजपा पर लगातार हमलावर वरुण गांधी)

वरुण गांधी के अनुसार देश की एकता और अखंडता की कीमत पर जिस तरह की राजनीति की जा रही है उससे देश में नया राष्ट्रीय खतरा आता हुआ दिख रहा है...

Lakhimpur Kheri violence जनज्वार। लखीमपुर हिंसा पर बीजेपी का कोई नेता अगर पार्टी लाइन हटकर बोल रहा है तो वो पीलिभीत के बीजेपी सांसद वरुण गाँधी हैं। वरुण गाँधी लगातार लखीमपुर हिंसा पर अपनी राय रख रहे है। सबसे पहले वरुण गाँधी ने ही सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बक़ायदा पत्र लिखकर माँग किया था कि पीड़ितों को उचित मुवाअजा मिले और हिंसा की (SIT) जाँच हो।

इसका ख़ामियाजा वरुण गाँधी और मेनका गाँधी को भुगतना पड़ा। बीजेपी ने संसदीय कार्यकारी कमिटी से मेनका और वरुण गाँधी को बाहर का रास्ता दिखा दिया। वरुण गाँधी संसदीय कार्यकारी कमिटी से बाहर होने के बाद भी लगातार लखीमपुर हिंसा पर बेबाक़ी से बोल रहे है। इस बार वरुण गाँधी ने एक ट्वीट किया जिसमें लिखा है की इस मुद्दे अब हिन्दू बनाम सिख की लड़ाई बनाने की कोशिश किया जा रहा है।

वरुण गांधी ने ट्वीट करते हुए एक ख़तरनाक आशंका के तरफ़ इशारा जाहिर किया, जिसके बाद बीजेपी के लिए नई मुसीबत खड़ी हो गई है। हालांकि वरुण गाँधी ने अपने ट्वीट में किसी पार्टी या संस्था के नाम का ज़िक्र नहीं किया। लेकिन लोग इस ट्वीट को बीजेपी से जोड़कर देख रहे है। वरुण गाँधी ने ट्विटर पर जो पोस्ट ट्वीट किया उसमें लिखा कि 'लखीमपुर खीरी को हिंदू बनाम सिख लड़ाई में बदलने की कोशिश की जा रही हैं । यह एक अनैतिक और झूठा आख्यान है। इस तरह की अफवाह फैलाना और उन घावों को फिर से कुरेदना खतरनाक है, जिसे ठीक करने में एक पीढ़ी लग गई। हमें राष्ट्रीय एकता से ऊपर राजनीतिक लाभ नहीं रखना चाहिए।'

इशारों - इशारों में वरुण गाँधी ने 84 के उस घटना के तरफ़ इशारा किया जिसकी आग की लपट दशकों तक रही है। इसी आग की लपट में एक ख़ास समुदाय और एक पूरा सूबा झूलस गया था। वरुण यही कहना चाहते है की फिर से ऐसी कोई ग़लती न दोहराया जाये। वरुण का यह ट्वीट ख़ूब वायरल हो रहा है और लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे है। योगेंद्र यादव ने वरुण के ट्वीट को रीट्वीट कर पूछ लिया की उस संस्था और विचारधारा का भी नाम बता दीजिये जो हिन्दू बनाम सिख की लड़ाई बनाने की कोशिश कर रहा है इसके बाद योगेंद्र का रीट्वीट भी वायरल होने लगा।

वरुण का शिवसेना का समर्थन

शिवसेना के मुख्यपत्र 'सामना " में वरुण गाँधी की जमकर तारीफ़ किया गया है। सामना के लेख में लिखा है , 'वरुण गाँधी भी इंदिरा गाँधी के पोते और संजय गाँधी के सुपुत्र है। लखीमपुर खीरी की भयंकर घटना को देखकर उनका खून खौल उठा और उन्होंने अपना मत व्यक्त किया, लेकिन क्या और सांसदों का खून ठंडा ही पड़ गया होगा। ये सीधे सीधे इशारा बीजेपी के तरफ था। देश बचाने के लिए नया स्वतंत्रता आन्दोलन खड़ा करना होगा। किसानो को कुचलकर मारनेवाले गुनहगारों खिलाफ कड़ी करवाई की माँग की। इसमें क्या गलत किया? वरुण गाँधी साहस के साथ बोले। " सामना " में वरुण गाँधी के लिए यहाँ तक लिखा गया की लखीमपुर में किसानों के हत्याकांड को लेकर जो असंख्य लोग वरुण गाँधी की तरह अपनी- अपनी भावना निडर होकर व्यक्त नहीं कर सके ,ऐसे सभी लोगों के लिए यह आज का 'महाराष्ट्र बंद' है।

Next Story

विविध

Share it