राजनीति

Pegasus जासूसी कांड में कूदे योगी आदित्यनाथ, विपक्ष को बताया अंतर्राष्ट्रीय साजिश का शिकार

Janjwar Desk
20 July 2021 2:11 PM GMT
Pegasus जासूसी कांड में कूदे योगी आदित्यनाथ, विपक्ष को बताया अंतर्राष्ट्रीय साजिश का शिकार
x

फोन हैकिंग किए जाने वाले जासूसी मामले में योगी ने लंबा चौड़ा पोस्ट लिखवाया है.

योगी ने अपने एफबी एकाउंट पर लिखा है कि 'संसद सत्र प्रारंभ होने के ठीक एक दिन पहले सनसनीखेज चीजों को परोसकर समाज में विषाक्त वातावरण पैदा करने का कुत्सित प्रयास हो रहा है। जाने-अनजाने में अंतरराष्ट्रीय साजिशों का शिकार विपक्ष पूरी तरह नकारात्मक भूमिका में है...

जनज्वार ब्यूरो, लखनऊ। पेगासस (Pegasus Project) वाले जासूसी कांड मामले में अब यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मैदान में आ गये हैं। अपनी महान सरकार के बचत में उन्होने आज लंबा-चौड़ा फेसबुक पोस्ट लिखवाया है। लिखवाया है मतलब अब सीएम तो खुद बैठकर लिखने से रहे। योगी ने पेगासस मामले में चल रही छीछालेदर को विपक्ष के पाले में डालने की कोशिश की है।

योगी (Yogi) ने अपने एफबी एकाउंट पर लिखा है कि 'संसद सत्र प्रारंभ होने के ठीक एक दिन पहले सनसनीखेज चीजों को परोसकर समाज में विषाक्त वातावरण पैदा करने का कुत्सित प्रयास हो रहा है। जाने-अनजाने में अंतरराष्ट्रीय साजिशों का शिकार विपक्ष पूरी तरह नकारात्मक भूमिका में है। यह साजिश भारत को अस्थिर, अस्त-व्यस्त करना चाहती है।

कोविड प्रबंधन हेतु WHO व दुनिया ने भारत को सराहा, लेकिन लोगों को संबल देने के बजाय विपक्ष ने अराजकता का वातावरण पैदा करने का प्रयास किया। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि को खराब व अस्थिर करने हेतु जिन मंसूबों के साथ विपक्ष कार्य कर रहा है, वह अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है।

पोस्ट में आगे कहा गया है कि संसद सत्र की कार्यवाही को निर्बाध और निर्विघ्न संपन्न कराने में योगदान देने के बजाय उसमें बाधा डालने के लिए समूचे विपक्ष (Left) को जनता जनार्दन और देश से माफी मांगनी चाहिए। जनता से जुड़े हुए ज्वलंत मुद्दों को संसद में न उठने देना आम नागरिक के जीवन के साथ खिलवाड़ है। तथ्यहीन और झूठे आरोप लगाकर देश के यशस्वी नेतृत्व को बदनाम करना व सरकार की छवि को निरंतर धूमिल करना विपक्ष के एजेंडे का हिस्सा बन चुका है।

किन्तु कुंठित विपक्ष की कुत्सित मंशाएं कभी पूरी नहीं होंगी। जनता (Public) जनार्दन समय आने पर उन्हें फिर से जवाब देगी। जाकी रही भावना जैसी। प्रभु मूरत देखी तिन तैसी।। कांग्रेस अपने शासनकाल में जिस प्रकार की हरकतें करती थी, आज विपक्ष में रहकर भी अपने उन्हीं मंसूबों के अनुरूप आगे बढ़ रही है। यह विपक्ष की कुत्सित मानसिकता को उजागर करता है।'

गौरतलब है कि इजरायली कंपनी एनएसओ ग्रुप के पेगासस जासूसी कांड (Jasoosi Kand) मामले ने सरकार की नींद हराम कर दी है। यह मामला अब पूरे तौर पर सरकार के गले की ऐसी फांस बन चुकाी है जो उससे ना निगलते बन रहा ना उगलते। इस मामले में 300 से अधिक भारतीय शख्सियतों के फोन टैप कर सुने जाने का आरोप लग रहा है, जो सीधा मोदी सरकार पर है।

Next Story
Share it