समाज

असम में गाय चोरी की फैली अफवाह तो गुस्साई भीड़ ने 28 साल के युवक को पीटकर उतारा मौत के घाट

Janjwar Desk
13 Jun 2021 6:53 AM GMT
असम में गाय चोरी की फैली अफवाह तो गुस्साई भीड़ ने 28 साल के युवक को पीटकर उतारा मौत के घाट
x
रात में अफवाह फैली कि दो लोग गांव में गाय चोरी करने आये हैं, जिसके बाद गुस्सायी भीड़ ने 28 साल के सरत मोरान को पकड़कर बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया, जिसमें उसकी मौत हो गयी...

जनज्वार। गाय चोरी की अफवाह फैलने के बाद असम के तिनसुकिया जनपद में गुस्सायी भीड़ ने एक शख्स को शनिवार 12 जून को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। जानकारी के मुताबिक मृतक युवा की उम्र 28 साल थी और उसके साथ उसका एक और साथी भी मौकास्थल पर मौजूद था, मगर गुस्सायी भीड़ को देखकर वह वहां से भागने में सफल रहा।

मामले की जांच कर रहे तिनसुकिया के पुलिस अधीक्षक देबोजीत देउरी का कहना है कि जनपद के बागजान पुलिस थाने के अंतर्गत कोरजोंगा बोरपाथर गांव में शनिवार 12 जून की देर रात यह घटना तब घटित हुयी थी, जब ग्रामीणों ने दो लोगों को एक घर में गाय बांधने के लिए बनाए गए शेड के पास देखा। इसी के बाद अफवाह फैली कि दो लोग गाय चोरी करने आये हैं, जिसके बाद गुस्सायी भीड़ ने 28 साल के सरत मोरान को पकड़कर बुरी तरह पीटना शुरू कर दिया, जबकि उसका साथी वहां से भाग गया। भीड़ ने सरत मोरान केा इतनी बुरी तरह पीटा कि उसकी मौत हो गयी।

पुलिस अधीक्षक देबोजीत देउसी का कहना है कि पुलिस ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (मुख्यालय) की अध्यक्षता में एक विशेष जांच दल का गठन किया है, जो मामले की जांच करेगा। विशेष जांच दल ने इस मामले में 12 संदिग्ध ग्रामीणों को हिरासत में ले लिया है।

यह भी पढें : गौमांस बेचने के आरोप में मुस्लिम शख्स को बुरी तरह पीटा, जबरन खिलाया सुअर का मांस

पुलिस ने शुरुआती छानबीन करने के बाद बताया कि ग्रामीणों की लिंचिंग का शिकार हुए युवा की पहचान सरत मोरान के रूप में हुयी है, जो नंबर 1 कोरदोईगुड़ी गांव का रहने वाला था।

वहीं इस मामले में कोरजोंगा बोरपाथर गांव के लोगों का कहना है कि सरत और उसके एक अन्य साथी को गांव के ही एक शख्स के गाय को रखने के लिए बनाए गए शेड के पास देर रात करीब डेढ़ बजे देखा गया था, जिसके बाद गाय चोरी का हल्ला हुआ और काफी लोग मौके पर जमा हो गये। गाय चोर ठहराकर सरत को भीड़ ने इतनी बुरी तरह पीटा कि उसकी मौके पर ही मौत हो गयी।

घटना की सूचना पुलिस को आज रविवार 13 जून के तड़के मिली। सूचना मिलने के बाद पुलिस सरत मोरान को डूमडूमा के सरकारी अस्पताल में ले गई, जहां डॉक्टरों ने उसे मरा हुआ घोषित कर दिया।

असम में गाय चोरी, गौमांस खाने या फिर कथित रूप से गौहत्या के नाम पर अब तक कई लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया है। 2019 के अप्रैल में गौमांस बेचने के शक में उन्मादी भीड़ ने एक मुस्लिम शख्स की लिंचिंग की कोशिश की थी। यही नहीं उसे जबरन सुअर का मांस भी खिला दिया। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था।

असम के विश्वनाथ चरीअली इलाके के 68 वर्षीय बुजुर्ग शौकत अली को गौमांस के शक में न सिर्फ भीड़ ने बुरी तरह पीटा था, बल्कि उसे मौत का डर दिखा सुअर का मांस भी खिलाया गया। जो भीड़ शौकत अली के साथ इस अमानवीय हरकत को अंजाम दे रही थी, उसे भड़काया गया था कि वह गाय का मांस बेच रहा था। उन्मादी भीड़ ने शौकत अली की नागरिकता को लेकर भी सवाल उठाये और उनसे राष्ट्रीयता का पहचान दिखाने की मांग भी की थी।

Next Story

विविध

Share it