समाज

बिहार : ग्रामीणों ने संदिग्ध अवस्था में पकड़ा प्रेमी जोड़ा, जंजीर से बांधा और 21 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया

Janjwar Desk
15 Sep 2021 9:42 AM GMT
बिहार : ग्रामीणों ने संदिग्ध अवस्था में पकड़ा प्रेमी जोड़ा, जंजीर से बांधा और 21 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया
x
एसडीपीओ रामपुकार सिंह ने कहा कि ग्रामीणों ने दोनों का वीडियो बनाकर जंजीर से बांधकर जुर्माना सुनाया। सूचना के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची लेकिन काफी संख्या में ग्रामीण थे ....

जनज्वार। बिहार (Bihar) में एक बार फिर जंगलराज देखने को मिला है। लोग अब कानून को अपने हाथों में लेने में बिल्कुल भी नहीं कतरा रहे हैं। दरअसल बिहार के अररिया (Araria) के फारबिसंज थाना क्षेत्र के एक गांव के ग्रामीणों ने विवाहित प्रेमी युगल को रविवार की रात संदिग्ध अवस्था में पकड़ लिया। इसके बाद ग्रामीणों ने उन्हें न केवल जंजीर से बांधा बल्कि उनसे 21-21 हजार रुपये का जुर्माना भी वसूला।

आरोप है कि इस दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हुआ तो फारबिसगंज पुलिस ने आठ लोगों को हिरासत में लिया जिसमें से छह को गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं प्रेमी युगल के नग्न अवस्था का वीडियो वायरल होने से पुलिस की मुसीबत बढ़ गई है।

एसडीपीओ रामपुकार सिंह ने कहा कि ग्रामीणों ने दोनों का वीडियो बनाकर जंजीर से बांधकर जुर्माना सुनाया। सूचना के बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची लेकिन काफी संख्या में ग्रामीण थे और सभी ग्रामीण पंचायत करने पर अड़े थे। वीडियो बनाने वालों को भी चिह्नित किया गया है। छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और चिह्नित लोगों को शीघ्र ही गिरफ्तार किया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक प्रेमी नरपतगंज के गड़गामा का रहने वाला है जबकि महिला परवाहा पंचायत के ही एक गांव की है। आरोप है कि महिला शराब का अवैध निर्माण कर बिक्री करती थी और युवक प्रतिदिन शराब पीने के लिए आता था। दोनों जोड़ी विवाहित और बाल बच्चेदार है। वहीं दूसरी ओर कुछ लोगों का कहना है कि साजिश के तहत दोनों को बुलाकर वीडियो बनवाया गया है।

बता दें कि इसी तरह जुलाई के माह में बिहार के पूर्णिया में प्रेमी युगल से खफा एक गांव ने ढाई लाख का जुर्माना लगा लिया था। दरअसल पूर्णिया के चंपानगर ओपी क्षेत्र के चरैया रहिका गांव के एक विवाहित जोड़े को ढाई लाख देने पर ही गांव में एंट्री का फरमान सुनाया गया। इस स्थिति के चलते विवाहित जोड़ा एक साल तक गांव में प्रवेश नहीं कर पाया था। जुर्माना न देने पर उनका घर द्वार लूट देने की धमकी दी गई थी।

जानकारी के अनुसार गांव के लडडू सिंह का गांव की सोनी से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों अलग-अलग जाति से आते थे। गांव में शादी संभव नहीं देख एक साल पहले दोनों घर से भागकर दिल्ली पहुंच गए और वहीं मंदिर में शादी रचा ली थी। यह सूचना गांव पहुंचते ही गांव के लोग आग-बबूला हो गए और उसी समय दोनों के पिता से गांव वालों ने एक स्टांप पेपर पर अंगूठा निशान ले लिया।

उस शपथ पत्र में यह भी उल्लेख किया गया था कि पांच वर्षों के अंदर दोनों को गांव लौटने पर मनाही थी। तर्क यह था कि इससे समाज में विकृति फैलेगी। इधर लड़का दिल्ली में काम कर रहा था। अचानक आरा मिल में काम करते वक्त हथेली कट जाने के कारण वह बेरोजगार हो गया। ऐसे में पति-पत्नी अपने गांव वापस आ गए। वर्तमान विवाहिता गर्भवती है। दोनों को देखते ही ग्रामीणों के तेवर और तल्ख हो गए। दोनों के गांव में रहने के एवज में ढाई लाख जुर्माना की मांग की गई थी।

Next Story

विविध

Share it