समाज

बदायूं गैंगरेप : पीड़िता के घर पहुंचे पूर्व IAS बोले क्रूरता की हुई है इंतहा, मां की बात सुनकर बैठ गया दिल

Janjwar Desk
7 Jan 2021 11:37 AM GMT
बदायूं गैंगरेप : पीड़िता के घर पहुंचे पूर्व IAS बोले क्रूरता की हुई है इंतहा, मां की बात सुनकर बैठ गया दिल
x

योगीराज में जारी है बच्चियों-महिलाओं से हैवानियत : इलाहाबाद और अमेठी के बाद बरेली में रेप के बाद बच्ची को उतार दिया मौत के घाट

सूर्यप्रताप सिंह कहते हैं, घटनास्थल पर पहुँच प्रारम्भिक मुआयना किया, क्रूरता की इंतहा हुई है, अगर पुलिस मौके पर पहुँच कर त्वरित कार्यवाही करती तो मुख्य अपराधी सलाख़ों के पीछे होता, पीड़िता की माँ से बातें की, उनकी बातें सुनकर दिल बैठ गया...

जनज्वार। बदायूं में मंदिर के पुजारी, उसके चेले और ड्राइवर द्वारा की गयी नृशंसता के बाद योगी सरकार निशाने पर है। गैंगरेप के बाद महिला के गुप्तांग में लोहे की राॅड डाली गयी थी और उसके कई अन्य अंगों को भी नुकसान पहुंचाया गया था। महंत और उसके चेलों ने नृशंसता के बाद पीड़ित महिला की लाश उसके घर के आगे फेंक दी थी और अपराधी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है।

कल 6 जनवरी को रिटायर्ड आईएएस अधिकारी जब पीड़िता के गांव जा रहे थे तो उन्हें यूपी पुलिस ने नजरबंद कर लिया था। इसके खिलाफ आवाज उठाने के बाद उन्हें छोड़ा गया था और वह पीड़िता के गांव पहुंचे।

बदायूँ कांड के बाद मृतक पीड़ित महिला के परिवार से मिलने जा रहे पूर्व IAS को UP पुलिस ने किया नजरबंद

पुलिस द्वारा पहले नजरबंद और फिर छोड़े जाने की सूचना उन्होंने खुद ही ट्वीटर के माध्यम से दी थी। उन्होंने ट्वीट किया था, 'सत्यमेव जयते - Truth Alone Triumphs 16 घंटों के बाद आखिरकार आप सभी की आवाज सरकार तक पहुँची और मुझे पुलिस की निगरानी में ही सही बदायूँ जाने की अनुमति दे दी गयी है। दुःख की घड़ी में संबल देने का काम ही मानवता है, और ये हक हर भारतीय का है, इसे आपसे कोई नहीं छीन सकता। जय हिंद!'

पीड़िता के परिजनों से मिलने के बाद पूर्व आईएएस सूर्यप्रताप सिंह ने ट्वीट किया है, 'घटनास्थल पर पहुँच प्रारम्भिक मुआयना किया, क्रूरता की इंतहा हुई है। अगर पुलिस मौके पर पहुँच कर त्वरित कार्यवाही करती तो मुख्य अपराधी सलाख़ों के पीछे होता। पीड़िता की माँ से बातें की, उनकी बातें सुनकर दिल बैठ गया।'

रिटायर्ड आईएएस सीधे-सीधे इस घटना के लिए योगी की पुलिस को भी उतना ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं, जितना कि महंत और उसके चेले, जिन्होंने दरिंदगी की हदें पार कीं।

गौरतलब है कि रविवार 3 जनवरी को बदायूं के उघैती थाना क्षेत्र के एक गांव में 50 साल की आंगनबाड़ी सहायिका पूजा करने गयी थी, उसी दौरान उसके साथ नृशंस तरीके से न सिर्फ बलात्कार किया गया, बल्कि हैवानियत की हदें पार करने के बाद उसके गुप्तांग में रॉड घुसा दी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में गैंगरेप पीड़ित महिला के गुप्तांग में रॉड जैसी कोई चीज डालने का मामला सामने आ चुका है। महिला की बाईं पसली, बायां पैर और बायां फेफड़ा भी वजनदार प्रहार से बुरी तरह क्षतिग्रस्त किया गया है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक गैंगरेप पीड़ित महिला की मौत की वजह गुप्तांग से भारी मात्रा में रक्तस्राव और सदमा लगना है। पीड़िता के परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी महंत समेत उसके एक चेले और एक ड्राइवर के खिलाफ गैंगरेप के बाद हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। हालांकि आरोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं।

मानवीयता को शर्मसार करने वाली यह नृशंस वारदात बदायूं के उघैती थाना क्षेत्र के एक गांव की है। यहां की महिला पास के गांव स्थित एक मंदिर पर रोजाना की तरह रविवार 3 जनवरी को भी पूजा-पाठ करने गई थी। पीड़िता महिला के परिजनों द्वारा दर्ज किये गये मुकदमे के मुताबिक रविवार 3 जनवरी की देर रात मंदिर का महंत अपनी बोलेरो से उसका शव घर के दरवाजे पर फेंककर चला गया। छानबीन में यह भी सामने आया है कि पहले गैंगरेप और हत्या का आरोपी महंत उसे अपनी गाड़ी से इलाज के लिए चंदौसी भी ले गया था।

Next Story

विविध

Share it