समाज

UP : 50 हजार के लालच में मौसी ने बच्चा चुराकर तांत्रिक को बेचा, पकड़े जाने पर सामने आई खौफनाक हकीकत

Janjwar Desk
15 Sep 2021 12:58 PM GMT
UP : 50 हजार के लालच में मौसी ने बच्चा चुराकर तांत्रिक को बेचा, पकड़े जाने पर सामने आई खौफनाक हकीकत
x

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी (photo-socialmedia)

थक-हारकर बच्चे का पिता कोतवाली पहुंचा और आशा कार्यकत्री पर संदेह जाहिर करते हुए तहरीर दी। पुलिस ने आशा कार्यकत्री पूजा को हिरासत में लेकर छानबीन की तो झकझोर देने वाली कहानी सामने आई...

जनज्वार, लखनऊ/बस्ती। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बस्ती (Basti) जिले से एक बच्चा गायब होने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बच्चे की रिश्तेदार ही ने उसे एक तांत्रिक के हाथों बेच दिया था। सूचना मिलते ही सक्रिय हुई पुलिस ने कड़ी से कड़ी जोड़कर खोजबीन की तो चौंकाने वाली कहानी सामने आई।

इस बीच गनीमत रही कि कुछ घंटे पहले ही पैदा हुए नवजात (New Born Child) को पुलिस ने रुधौली थाने के अठदेउरा गांव से ढूंढ निकाला। उसे तांत्रिक के गांव की महिला ने अपने घर में छिपा रखा था। माना जा रहा है कि यदि पुलिस ने तत्परता न दिखाई होती तो तांत्रिक के हाथ लगे नवजात बच्चे की जान को भी खतरा हो सकता था।

एएसपी दीपेंद्र नाथ चौधरी (SSP Deependra Nath Chaudhary) ने बताया कि आशा कार्यकत्री पूजा पत्नी मनोज निवासी मझौआमीर थाना वाल्टरगंज, तांत्रिक प्रमोद कुमार पांडेय उर्फ रिंकू पांडेय निवासी अठदेउरा थाना रुधौली व तांत्रिक के ही गांव की प्रीति पांडेय पत्नी मनोज पांडेय को गिरफ्तार कर लिया गया है।

एएसपी ने बताया कि नवजात बालक (New Born Child) को उसके माता-पिता को सुपुर्द कर दिया गया है। चार घंटे के अंदर इस सनसनीखेज मामले का खुलासा करने के एवज में कोतवाली पुलिस की टीम को 10 हजार रुपये पुरस्कार देने का एलान किया है।

जानकारी के मुताबिक, थाना वाल्टरगंज के भरवलिया निवासी इंद्रेश की पत्नी छाया (Chhaya) को प्रसव पीड़ा शुरू हुई। उन्हें मंगलवार तड़के करीब तीन बजे उसे शहर के मालवीय रोड स्थित एसएस नर्सिंग होम में प्रसव के लिए भर्ती कराया गया। मंगलवार दोपहर तीन बजे उन्हें ऑपरेशन से बेटा पैदा हुआ। बेटा पैदा होने पर माता-पिता के अलावा अन्य रिश्तेदार खुशी से झूम उठे। उसी समय प्रसूता छाया की मौसी की बेटी जो आशा कार्यकत्री भी है, पहुंची।

ताजा ऑपरेशन होने के कारण प्रसूता बेसुध पड़ी थी, इसी बीच अचानक बच्चा गायब हो गया। बच्चे के पिता व अन्य लोग इधर-उधर ढूंढने लगे लेकिन कहीं पता नहीं चला। थक-हारकर बच्चे का पिता कोतवाली (Kotwali) पहुंचा और आशा कार्यकत्री पर संदेह जाहिर करते हुए तहरीर दी। पुलिस ने आशा कार्यकत्री पूजा को हिरासत में लेकर छानबीन की तो झकझोर देने वाली कहानी सामने आई।

उसने कबूल किया कि बच्चे को लेकर वह महिला अस्पताल पहुंची, जहां से मोबाइल वाट्सएप (Whatsapp) के जरिए चैट करके तांत्रिक प्रमोद पांडेय को बुलाया और बच्चे को उसके हवाले कर दिया। इसके बदले उसे पांच हजार रुपये तत्काल मिल गए थे, बाकी 45 हजार रुपये वह बाद में देने की बात कहकर बच्चे को लेकर तांत्रिक अपने गांव अठदेउरा चला गया, जहां से पुलिस ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है।

बच्चा चोरी मामले में गिरफ्तार आशा कार्यकत्री पूजा का कहना है कि वह झाड़ फूंक कराने के लिए तांत्रिक प्रमोद पांडेय (Tantrik Pramod Pandey) के संपर्क में आई। तभी से तांत्रिक उसे एक नवजात बच्चा कहीं से लाकर देने की बात कह रहा था। मंगलवार को जब उसके हाथ एक नवजात हाथ लगा तो उसने तांत्रिक से संपर्क करके बच्चे को उसके सुपुर्द कर दिया। पुलिस के मुताबिक तांत्रिक को शादी के बावजूद कोई बच्चा नहीं था, इसलिए वह इसके लिए आशा कार्यकत्री का सहारा लिया।

Next Story

विविध

Share it