समाज

खेलकर घर लौट रहे 5 साल के मासूम पर आदमखोर गुलदार ने हमला करके ले ली जान, पौड़ी जिले के पाबौ ब्लॉक में हुई घटना

Janjwar Desk
22 Nov 2022 4:04 PM GMT
खेलकर घर लौट रहे 5 साल के मासूम पर आदमखोर गुलदार ने हमला करके ले ली जान, पौड़ी जिले के पाबौ ब्लॉक में हुई घटना
x
गांव का ही 5 साल का मासूम बच्चा पीयूष खेल मैदान में गांव के अन्य बच्चों के साथ खेलकर अकेला ही अपने घर लौट रहा था, इसी बीच घर के रास्ते में पहले से ही घात लगाये बैठे एक गुलदार ने घर लौट रहे पीयूष पर हमला बोल दिया...

Pauri news : उत्तराखंड में खूंखार वन्यजीवों का आतंक सिर चढ़कर बोल रहा है। मंगलवार 22 नवंबर का दिन पौड़ी जिले के पाबौ ब्लॉक के एक परिवार के लिए अमंगल साबित हुआ। इस परिवार के पांच साल के बच्चे को उस वक्त गुलदार ने अपना निवाला बना लिया, जब वह मैदान से खेलने के बाद अपने घर लौट रहा था।

पौड़ी जिले पाबौ ब्लाक के अन्तर्गत आने वाले निसणी गांव में हुआ यह दर्दनाक हादसा मंगलवार की शाम करीब छः बजे उस समय हुआ, जब गांव का ही एक 5 साल का मासूम बच्चा पीयूष खेल मैदान में गांव के अन्य बच्चों के साथ खेलकर अकेला ही अपने घर लौट रहा था। इसी बीच घर के रास्ते में पहले से ही घात लगाये बैठे एक गुलदार ने घर लौट रहे पीयूष पर हमला बोल दिया। गुलदार के इस हमले से मासूम पीयूष को बचने का कोई मौका तक नहीं मिला। पीयूष ने मौके पर ही दम तोड़ दिया।

इस बीच जब ग्रामीणों ने गुलदार को देखा तो ग्रामीणों के शोर शराबा करने के बाद गुलदार पीयूष को मौके पर ही छोड़कर जंगल के झुरमुट में भाग निकला। गांव में हुए इस हादसे की खबर ग्राम प्रधान ने पाबौ चौकी इंचार्ज दीपक पंवार को दी तो पुलिस चौंकी इंचार्ज दीपक पंवार और रविन्द्र भट्ट ने मौके पर पहुंच कर घटना स्थल पर पहुंचकर जायजा लिया। पुलिस ने बालक के शव का पंचनामा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल पौड़ी के लिए भेज दिया है।

गुलदार के इस हमले में बच्चे की मौत के बाद ग्रामीणों में भारी आक्रोश है। ग्रामीणों ने वन विभाग से सम्पर्क कर गुलदार को जान से मारने की मांग की है। इस घटना से क्षेत्र में भय बना हुआ है। इस घटना पर क्षेत्रीय विधायक और स्वास्थ्य मंत्री उत्तराखंड धन सिंह रावत ने दुख प्रकट करते हुए जिलाधिकारी और डीएफओ पौड़ी को सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि तत्काल गांव में पिंजरा लगाया जाए और वन विभाग की टीम जल्द से जल्द गुलदार को हर हाल में पकड़ा जाए। कोई भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

Next Story

विविध