Top
समाज

महज 10 साल के बच्चे ने अपने मम्मी-पापा से कैसे मांगी 10 करोड़ की साइबर फिरौती, पढ़िए साइबर क्राइम की सनसनीखेज खबर

Janjwar Desk
28 Jan 2021 3:36 PM GMT
महज 10 साल के बच्चे ने अपने मम्मी-पापा से कैसे मांगी 10 करोड़ की साइबर फिरौती, पढ़िए साइबर क्राइम की सनसनीखेज खबर
x

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

फिरौती मांगने के लिए साइबर हैकर बना 10 साल का यह बच्चा किस तरह से साइबर अपराधी बन गया और अपने ही परिवारवालों को कैसे धमकी देकर पैस मांग रहा था, ये सबकुछ जानकर आप दंग रह जाएंगे...

ग़ाज़ियाबाद से सुनील मौर्या की रिपोर्ट

जनज्वार। खुद के अपहरण का झूठा नाटक रचकर परिवारवालों से फिरौती मांगने की खबरें आपने बहुत सुनी होंगी, लेकिन क्या आपने सुना है कि महज 10 साल के बच्चे ने साइबर फिरौती मांगी है? शायद ये पहली बार सुन रहे होंगे। लेकिन ये सच है। ये फिरौती भी किसी और से नहीं बल्कि अपने माता-पिता से ही मांगी गई।

फिरौती मांगने के लिए साइबर हैकर बने 10 साल के बच्चे की असली कहानी देश की राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद की है। ये बच्चा किस तरह से साइबर अपराधी बन गया और अपने ही परिवारवालों को कैसे धमकी देकर पैस मांग रहा था। ये सबकुछ जानकर आप दंग रह जाएंगे।

गाजियाबाद के रहने वाले व एक सरकारी विभाग के सीनियर अधिकारी ने बीते 23 जनवरी को साइबर क्राइम की धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई थी। इन्होंने बताया था कि इनके परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं। बड़ी बेटी 13 साल की और छोटा बेटा 10 साल का है। पत्नी की ईमेल पर 1 जनवरी से लेकर 24 जनवरी तक लगातार एक ईमेल आईडी से धमकी भरे मैसेज आ रहे हैं। साइबर हैकर कभी 10 लाख रुपये तो कभी 10 करोड़ रुपये मांग रहा है। पैसे नहीं देने पर परिवार के चारों सदस्य की गला काटकर हत्या करने तक की धमकी दे रहा है।

धमकी ऐसी कि जानकर खड़े हो जाएंगे रौंगटे

सरकारी अधिकारी ने पुलिस को बताया कि ईमेल के जरिए लगातार उनके परिवार पर नजर रखी जा रही है। साइबर हैकर को परिवार के सभी सदस्यों की पूरी जानकारी है। यहां तक कि घर में हम क्या करते हैं, इस बारे में भी उसकी खुफिया नजर है। हम आपस में क्या बात करते हैं, इसकी भी जानकारी है।

इसके अलावा वो बेटी से जबरन शादी करने की भी धमकी दे रहा है। अपनी पहुंच बताने के लिए वो एक बार घर की डोरबेल भी बजा चुका है। जिससे पूरा परिवार सहम गया है। साइबर हैकर ने 10 करोड़ रुपये की फिरौती भी मांगी। इसे नहीं देने पर नाबालिग बेटी से जबरन शादी करने की धमकी भी दी।

कैसे हुआ पुलिस को शक : जिस पिंक फोन को पुलिस ले गई उस बारे में ईमेल पर परिवार को मिली धमकी

गाजियाबाद के साइबर सेल प्रभारी सुमित कुमार ने मीडिया को बताया कि मामले की जांच करने के लिए 5 लोगों की टीम पीड़ित के घर पर गई थी। पुलिस टीम सुबह 11 से शाम 6 बजे तक वहीं रही थी। इस दौरान पुलिस ने घर के दो फोन, डेस्कटॉप अपने कब्जे में ले लिया। ये देखने के लिए कि इनमें कोई स्पाई सॉफ्टवेयर या कैमरे तो नहीं लगे हैं।

पुलिस ने सभी ईमेल आईडी के पासवर्ड भी बदलवाए थे। इतना करने के बाद पुलिस टीम शाम 6 बजे घर से निकली थी। घर से निकलने के 20 मिनट बाद ही पीड़ित सरकारी अधिकारी का फोन आया। अधिकारी ने बताया कि हैकर का मैसेज मिला है। जिसमें उसने लिखा है कि पुलिस को पिंक मोबाइल फोन क्यों दिया? पुलिस को घर क्यों बुलाया था?

ये जानकर पुलिस भी सन्न रह गई। इसके बाद पुलिस को यकीन हो गया कि घटना में घर का या फिर कोई काफी नजदीकी ही है। पुलिस ने ईमेल की जांच की तो लोकेशन घर की ही आई। इसके बाद 10 साल के बेटे से पूछताछ की गई तब असलियत सामने आई। बच्चे ने पूछताछ में चौंकाने वाली जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि करीब एक महीने पहले स्कूल में साइबर क्राइम को लेकर एक प्रोग्राम हुआ था। उसमें साइबर क्राइम के तरीके के साथ-साथ उसके बचाव के बारे में भी बताया गया था। उसी दौरान से बच्चे के मन में आया था कि वो इसे चेक करेगा। इसलिए उसने घर पर ही कंप्यूटर से पहले एक फर्जी ईमेल आईडी बनाई। इसके बाद 1 जनवरी नए साल से ही अपनी मां की ईमेल आईडी पर धमकी भरे मैसेज भेजने लगा था।

काउंसलिंग के दौरान बताई पूरी कहानी

काउंसलिंग के बाद बच्चे ने साइबर हैकिंग की पूरी कहानी बताई। उसने बताया कि यू-ट्यूब पर मोबाइल हैकिंग की वीडियो देखी थी। कुछ कहानी भी देखी थी। इसके बाद उसने फर्जी ईमेल आईडी बनाई और फिर ईमेल भेजकर धमकी दी थी।

ईमेल में लिखा था कि अगर पैसे नहीं दिए तो उनके आपत्तिजनक फोटो वायरल कर दिए जाएंगे। इस दौरान बच्चे ने ये भी बताया कि ये सबकुछ करने के पीछे उसे ना ही पैसे लेने थे और ना ही किसी ने कुछ दबाव डाला था। मेरा ना ही कोई मकसद था और ना ही उसकी कोई योजना थी। जो मेरे मन में आया, वह करता रहा।

Next Story

विविध

Share it