समाज

नेवी में अफसरी का फर्जी कागज दिखा वसूल लिया लाखों का दहेज, दुल्हन पहुंची ससुराल तो हुआ खुलासा

Janjwar Desk
8 Sep 2021 7:47 AM GMT
नेवी में अफसरी का फर्जी कागज दिखा वसूल लिया लाखों का दहेज, दुल्हन पहुंची ससुराल तो हुआ खुलासा
x

नेवी की अफसरी का फर्जी कागज दिखा लाखों का दहेज ले रचा ली शादी (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लड़के की फर्जी नौकरी का हवाला दे भारी भरकम दहेज लेकर शादी रचा ली, यह फरेब किया गया कि उनका बेटा नेवी में अफसर है, लड़की भी उच्च शिक्षा प्राप्त थी और शादी के वक्त एमए में पढ़ रही थी..

जनज्वार। बिहार में एक बार फिर एक बेटी दहेज कुप्रथा की शिकार हो गयी। आए दिन ससुराल वालों द्वारा बेटियों के प्रताड़ना और दुर्व्यवहार की खबरें आती रहती हैं। एक बार फिर मधुबनी से चौंकाने वाला मामला सामने आया है। आरोप है कि यहां एक विवाहिता के ससुराल वालों ने लड़के की फर्जी नौकरी का हवाला दे भारी भरकम दहेज लेकर शादी रचा ली। यह फरेब किया गया कि उनका बेटा नेवी में अफसर है। लड़की भी उच्च शिक्षा प्राप्त थी और शादी के वक्त एमए में पढ़ रही थी। लड़की पक्ष का आरोप है कि शादी के बाद लड़की के पिता से चार पहिया वाहन की डिमांड की जाने लगी और फरमाइश पूरी ना होने पर लड़की को प्रताड़ित भी किया गया।

मधुबनी जिले के बाबूबरही थाना क्षेत्र के बलाटी गांव की रहने वाली ममता की शादी इसी साल 11 मार्च को खोजपुर बभनटोली निवासी सुरेंद्र यादव से हुई थी। बताया जा रहा है कि पिता ने जमीन बेचकर बेटी का शादी धूमधाम से की। शादी में लाखों रूपये खर्च किए गए, इस उम्मीद में कि अच्छी नौकरी करने वाले दामाद के साथ बेटी की आगे की जिन्दगी खुशहाली से बीतेगी।

आरोप है कि ससुराल जाते ही लड़की को जब पूरा माजरा समझ में आया तो वह दंग रह गई। शादी के अगले दिन ही ममता को एहसास हो गया कि नेवी में नौकरी की बात झूठी है और उसके साथ धोखा हुआ है। दरअसल, शादी के वक्त लड़के वालों ने बताया था कि लड़का नेवी में अच्छी पोस्ट पर काम करता है। सबूत के तौर पर एक सर्टिफिकेट भी दिखाया गया था।

ममता का कहना है कि चूंकि अभी वह नई नवेली दुल्हन थी, तो उसने शुरूआत में कुछ भी बोलना उचित नहीं समझा। जैसे-जैसे समय बीता, ससुराल वालों ने रंग दिखाना शुरू कर दिया। पति के परिवार वालों ने लड़की को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। ममता का आरोप है कि पिता से चार चक्का गाड़ी मांगने का दबाव भी बनाया गया।

प्रताड़ना से बचने के लिए जब पति को उसके साथ नौकरी पर ले जाने का दबाव बनाया तो पति ने उसे पटना के एक होटल में 5-6 दिन रखा। होटल में पति ने उसके साथ मारपीट भी की और वापस घर ले गया। घर लाकर उसके साथ मारपीट कर जेवर छीन लिए, और घर से निकाल दिया।

अंत में, न्याय की उम्मीद लिए पीड़िता पुलिस की शरण में पहुंची और आपबीती सुनाई। ममता ने पति सहित उसके परिवार और ननिहाल के लोगों के खिलाफ बाबूबरही थाना में मामले दर्ज कराया है। थानाध्यक्ष रामाशीष कामती ने बताया कि मामले की पड़ताल शुरू कर दिया गया है और जल्द कार्रवाई भी शुरू की जाएगी।

हालांकि, इस दुःखद घटना में एक अच्छी बात जो सामने निकल कर आयी, वह है, ममता का अपने साथ हुए अन्याय को लेकर ससुराल वालों के खिलाफ बोलने का साहस। 21वीं सदी में भी ममता के ससुराल वाले जैसे ना जाने कितने लोग है, जो शादी-विवाह जैसे पवित्र बंधन को भी दहेज लेकर कंलकित कर देते है।

सुरेन्द्र जैसे युवा भी इसमें अपने परिवार वालो का साथ देते हैं। ममता ने अपने इस साहसिक कदम से उन तमाम लड़कियों के लिए भी उम्मीद की रौशनी जगाई है, जो सामाजिक बदनामी के भय और परिवार की इज्जत की खातिर अपनी पूरी जिंदगी प्रताड़ना में गुजार देती हैं और जबान नहीं खोलतीं।

Next Story

विविध

Share it