Top
समाज

मैट्रिक परीक्षा के दौरान शुरू हो गई प्रसव पीड़ा, बेटे का हुआ जन्म तो नाम रखा 'इम्तिहान'

Janjwar Desk
21 Feb 2021 4:43 AM GMT
मैट्रिक परीक्षा के दौरान शुरू हो गई प्रसव पीड़ा, बेटे का हुआ जन्म तो नाम रखा इम्तिहान
x
मैट्रिक की एक विवाहित छात्रा ने परीक्षा के दरम्यान ही बेटे को जन्म दिया है, चूंकि इम्तिहान यानि परीक्षा की घड़ी में बच्चे का जन्म हुआ है तो पिता ने उसका नाम रख दिया है 'इम्तिहान'..

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार बोर्ड द्वारा आयोजित की जा रही मैट्रिक परीक्षा का शनिवार को चौथा दिन था। शनिवार को दोनों पालियों में अंग्रेजी विषय की परीक्षा हुई। मैट्रिक की चल रही इस परीक्षा में सोशल साइंस विषय की परीक्षा का प्रश्नपत्र लीक होने के कारण रद्द कर दी गई है।

इन सब कारणों से परीक्षार्थियों और अभिभावकों को परेशानी हो रही है। लेकिन इन सबके बीच मैट्रिक की एक विवाहित छात्रा ने परीक्षा के दरम्यान ही बेटे को जन्म दिया है। चूंकि इम्तिहान यानि परीक्षा की घड़ी में बच्चे का जन्म हुआ है तो पिता ने उसका नाम रख दिया है 'इम्तिहान'।

राज्य के मुजफ्फरपुर जिला के एमडीडीएम कॉलेज परीक्षा केंद्र पर छात्रा शांति देवी को अचानक प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। उन्हें आनन-फानन में अस्‍पताल पहुंचाया गया। बाद में शांति देवी ने देर शाम एक बेटे को जन्‍म दिया।

बच्चे का जन्म होने से शांति के पति बिरजू सहनी काफी खुश नजर आ रहे थे। उन्‍होंने बेटे का नाम इम्तिहान रख दिया है। डॉक्‍टरों के अनुसार, मां-बच्‍चा दोनों स्‍वस्‍थ हैं।

शांति बोचहां हाई स्कूल की छात्रा हैं। उन्होंने बेटे को जन्म देने के बाद भी इसे चुनौती के रूप में लिया और हिम्मत दिखाते हुए शनिवार को भी वे परीक्षा देने पहुंच गईं। शांति के अनुसार, वह बोचहां हाई स्कूल की छात्रा है। शुक्रवार को जब उन्‍हें प्रसव पीड़ा शुरू हुई, उस वक्‍त तक उन्‍होंने सारे आब्जेक्टिव प्रश्‍न बना लिये थे।

उन्होंने बताया कि ओएमआर शीट पूरी तरह भरकर जमा कर दिया था। केवल सब्जेक्टिव प्रश्न नहीं बना पाई थी। इसी बीच प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। आसपास बैठी छात्राओं ने इसकी जानकारी एग्जामिनर को दी। उन्‍होंने तत्‍काल शांति को अस्‍पताल भेजने की व्‍यवस्‍था की।

Next Story

विविध

Share it