समाज

रीवा में चोरी के आरोप में मुस्लिम युवक की भीड़ ने की लिंंचिंग, कल नीमच में आदिवासी युवक को घसीटकर मारने का मामला हुआ था उजागर

Janjwar Desk
29 Aug 2021 8:52 AM GMT
रीवा में चोरी के आरोप में मुस्लिम युवक की भीड़ ने की लिंंचिंग, कल नीमच में आदिवासी युवक को घसीटकर मारने का मामला हुआ था उजागर
x

मॉब लिंचिंग की घटनाओं को बिना किसी डर के सरेआम दिया जा रहा है अंजाम (फोटो प्रतीकात्मक)

पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने इस घटना की तुलना तालिबानी संस्कृति से की है। दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा- यह घटना रीवा की है। क्या यह तालिबानी संस्कृति नहीं है?...

जनज्वार। मध्यप्रदेश में भीड़ के हमलों के एक के बाद एक नये मामले सामने आ रहे हैं। हाल ही में भीड़ ने एक मुस्लिम चूड़ी बेचने वाले फेरीवाले पर हमला किया था। इसके बाद देवास में टोस्ट बेचने वाले मुस्लिम की पिटाई की गई। फिर नीमच में दरिंदों ने एक आदिवासी को पीटा और फिर उसे पिकअप से बांधकर घसीटा। अब खबर है कि रीवा में भी ऐसा ही मामला देखने को लमिला है। रीवा में भीड़ ने एक शख्स को चोरी के शक में जानवरों की तरह बेरहमी से पीटा। इस घटना का वीडियो वायरल हो रहा है। विपक्षी दलों के नेता प्रदेश की शिवराज सरकार में कानून व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं।

सोशल मीडिया पर यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो रीवा के सिविल थाना क्षेत्र के ट्रांसपोर्ट नगर का बताया जा रहा है। पीड़ित व्यक्ति का नाम अरशद है जिसे भीड़ ने चोरी के शक में बेरहमी से पीटा। वीडियो में दिख रहा है कि अरशद को सड़क पर गिराकर लातों और बेल्ट से बेरहमी से पीटा जा रहा है। अरशद अपनी जान की भीख मांग रहा है लेकिन वहां मौजूद लोग चुपचार खड़े होकर इस तमाशे को देख रहे हैं।

हालांकि पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया। दो आरोपियों को दबोच लिया है जबकि दो अन्य आरोपियों की तलाश अब भी जारी है। रीवा पुलिस ने इस मामले को लेकर ट्वीट में कहा कि उसने स्वत: संज्ञान लेते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

वहीं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने इस घटना की तुलना तालिबानी संस्कृति से की है। दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा- यह घटना रीवा की है। क्या यह तालिबानी संस्कृति नहीं है?


वहीं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हाल की घटनाओं को लेकर अपने ट्वीट में लिखा- "मध्यप्रदेश में इंदौर, सतना, देवास, नीमच, उज्जैन के बाद अब रीवा में घटित बर्बरता व अमानवीयता की घटना…? एक युवक की चोरी की शंका पर कितनी बर्बरता से पिटाई की जा रही है ? आख़िर हमारा प्रदेश कहाँ ले जाया जा रहा है ? दोषियों पर कड़ी कार्यवाही हो।"

कांग्रेस की मीडिया पैनलिस्ट ने भी इस वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा- "ये लोग देश को तबाही की तरफ ले जा रहे है हर तरफ जुल्म है अत्याचार है !"

मध्यप्रदेश कांग्रेस ने इस घटना को लेकर अपने ट्वीट में लिखा- " मध्यप्रदेश में- इंदौर, सतना, देवास, नीमच, उज्जैन के बाद अब रीवा में बर्बरता व अमानवीयता की घटना। शिवराज जी, मध्य प्रदेश को मॉब लिचिंग प्रदेश क्यों बना रहे।"

कांग्रेस के मीडिया पैनलिस्ट सुरेंद्र राजपूत ने लिखा- "लगता है मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार का पूरा तालिबानिकरण हो गया है! अभी कल ही नीमच में चोरी के शक में गाड़ी से घसीटकर एक आदिवासी की हत्या कर दी गई थी। और आज रीवा में देखिये कैसे मारा जा रहा है! शिवराज चौहान जी आप क्या मुल्ला बरादर हो गये हो?"

बता दें कि इससे एक दिन पहले 28 अगस्त को नीमच से हैवानियत का एक वीडियो सामने आया था। जिसमें कुछ गुंडों ने एक भील आदिवासी को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। इसके बाद उसे पिकअप से बांधकर सौ मीटर तक घसीटा। गंभीर हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन उसकी मौत हो गई। नीमच पुलिस के मुताबिक 26 अगस्त की सुबह करीब छह बजे आरोपी छीतरमल गुर्जर ने कान्हा को बाइक से टक्कर मार दी थी। इस दौरान छीतरमल की बाइक पर लदा दूध नीचे गिर गया था। टक्कर लगने पर कान्हा ने पत्थर उठा लिया। इपर छीतरमल ने अपने रिश्तेदारों को बुला लिया और कान्हा के साथ मारपीट की। इसी दौरान सड़क से एक पिकअप गाड़ी निकली इसमें रस्सी बंधी थी। आरोपियों ने कान्हा के पैर बांधकर पिकअप से सौ मीटर से ज्यादा दूर तक घसीटा।

Next Story

विविध

Share it