समाज

फिर शर्मसार हुई दिल्ली, केंद्रीय विद्यालय में 11 साल की छात्रा से 2 सीनियर्स ने किया गैंगरेप, टीचर पर लगा मामले को दबाने का आरोप

Janjwar Desk
7 Oct 2022 3:45 AM GMT
Jharkhand Crime News : प्रेमी ने दोस्तों के साथ मिलकर आदिवासी युवती से किया गैंगरेप, पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार
x

Jharkhand Crime News : प्रेमी ने दोस्तों के साथ मिलकर आदिवासी युवती से किया गैंगरेप, पुलिस ने 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार

Kendriya Vidhyalaya Gang rape : केंद्रीय विद्यालय संगठन का कहना है कि स्कूल को छात्रा या उसके परिवार की ओर से अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली थी। आरोपी स्कूल टीचर ने भी इसकी जानकारी नहीं दी।

Kendriya Vidhyalaya Gang rape : रेप या गैंगरेप की घटनाएं आये दिन सामने आती रहती हैं। एक बार फिर देश की राजधानी दिल्ली को शर्मसार करने वाली गैंगरेप ( Gang rape ) की एक घटना सामने आई है। अफसोस की बात यह है कि दिल दहला देने वाली इस घटना को दिल्ली के एक केंद्रीय विद्यालय ( Gang rape in Delhi School ) के दो सीनियर छात्रों ने जुलाई 2022 में ही अंजाम दिया था। अब जाकर इस का खुलासा हुआ है।

दिल्ली पुलिस ( Delhi Police ) और स्कूल प्रशासन को इस बात की जानकारी उस समय मिली जब दिल्ली महिला आयोग ( DWC ) ने सूचना मिलने पर दोनों एजेंसी को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया। फिलहाल दिल्ली महिला आयोग की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने केस ( FIR ) दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ये है पूरा मामला

दरअसल, दिल्ली के एक केंद्रीय विद्यालय के वॉशरूम में 11 साल की स्टूडेंट के साथ कथित गैंगरेप ( Kendriya Vidhyalaya Gang rape ) का मामला सामने आया है। इसमें आरोपी ‌उसी स्कूल के 2 सीनियर स्टूडेंट्स हैं। घटना जुलाई 2022 की है। दिल्ली महिला आयोग की जानकारी में यह मामला आने के बाद उसने पुलिस और प्रिंसिपल को नोटिस जारी किया इसके बाद पेरेंट्स ने मंगलवार को थाने में शिकायत दर्ज कराई। दिल्ली पुलिस का कहना है कि रिपोर्ट मेें छात्रा ने आरोप लगाया है कि जुलाई 2022 में वो स्कूल में अपनी कक्षा में जा रही थी, तभी वो दो लड़कों से टकरा गई, जो उसी स्कूल के छात्र थे और 11वीं-12वीं में पढ़ते थे। उसने लड़कों से माफी मांगी, लेकिन वे उसे गाली देने लगे और उसे टॉयलेट के अंदर ले गए।

छात्रा का आरोप है कि लड़कों ने टॉयलेट का दरवाजा अंदर से बंद कर उसके साथ रेप किया। उसने बताया कि जब उसने एक टीचर को घटना की जानकारी दी तो उसे बताया गया कि लड़कों को स्कूल से निकाल दिया गया है, लेकिन मामले का खुलासा होने के बाद ये बात सामने आई है कि टीचर ने मामले को कथिततौर पर दबाने की कोशिश की। टीचर ने इस बात की जानकारी न तो स्कूल प्रशासन को दी न ही पुलिस को।

जानकारी मिलने पर दिल्ली महिला आयोग ( DWC ) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने मामले पर खुद संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस और स्कूल की प्रिंसिपल को नोटिस जारी रिपोर्ट मांगी है। आयोग ने दिल्ली पुलिस से एफआईआर की कॉपी और गिरफ्तारी की जानकारी उपलब्ध कराने को कहा है। आयोग ने दिल्ली पुलिस और स्कूल से कथित रूप से दिल्ली पुलिस को मामले की रिपोर्ट नहीं करने के लिएसे स्कूल के शिक्षक अथवा किसी अन्य स्टाफ के खिलाफ की गई कार्रवाई की जानकारी देने को भी कहा है।

छात्रा ने स्कूल टीचर पर मामले को दबाने का लगाया आरोप

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि छात्रा ने स्कूल टीचर पर मामला दबाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि राजधानी में स्कूल भी बच्चों के लिए असुरक्षित हैं। मामले में सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। साथ ही इस मुद्दे पर स्कूल अधिकारियों की भूमिका की भी जांच होनी चाहिए।

केवीएस ने भी जांच के दिए आदेश

दूसरी तरफ केंद्रीय विद्यालय संगठन ( KVS ) के रीजनल ऑफिस ने भी जांच शुरू की है। संगठन का कहना है कि स्कूल को छात्रा या उसके परिवार की ओर से कोई शिकायत नहीं मिली थी। इस बीच में पेरेंट्स-टीचर्स की मीटिंग हुई थी, तब भी ऐसी कोई शिकायत नहीं की गई।

Next Story

विविध