समाज

'मेरे समलैंगिक पिता संपत्ति में से दे देना चाहते थे अपने पुरुष मित्र को हिस्सा इसलिए उतार दिया मौत के घाट'

Janjwar Desk
13 Sep 2021 5:23 AM GMT
मेरे समलैंगिक पिता संपत्ति में से दे देना चाहते थे अपने पुरुष मित्र को हिस्सा इसलिए उतार दिया मौत के घाट
x

बेटे को पिता के समलैंगिक संबंध नहीं हुए बर्दाश्त, इसलिए उतार दिया मौत के घाट

पिता को मौत के घाट उतारने वाले बेटे सुमित ने बताया कि उसके पिता का किसी अन्य पुरुष के साथ समलैंगिक संबंध ही उनकी हत्या का कारण है, उसने अपने पिता की चाकू मारकर हत्या की थी....

जनज्वार। पिता की समलैंगिकता (homo Sexual) उसके बेटे को ही इतनी अखर गयी कि उसने जन्मदाता को ही मौत के घाट उतार दिया। यह किसी फिल्म की कहानी नहीं, बल्कि उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) स्थित खतौली (Khatauli) थाना क्षेत्र की सच्ची घटना है, जहां एक पुरुष से पिता के समलैंगिक संबंध बेटा बर्दाश्त नहीं कर पाया और उसने नृशंसता से उसे मौत के घाट उतार दिया।

घटनाक्रम के मुताबिक पिछले माह 18 अगस्त को गन्ने के खेत में बहुत बुरी हालत में एक व्यक्ति की लाश बरामद की गयी थी। इस मामले में मृत व्यक्ति के बेटे ने शक जताकर 3 ​लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करायी थी। जांच के दौरान आरोपियों के बजाय पुलिस को बेटे पर ही शक हुआ तो सुराग ढूंढ़ने शुरू किये। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक बेटे के खिलाफ सबूत मिलने और कड़ाई से पूछताछ करने पर वह टूट गया और उसने स्वीकार किया कि उसी ने अपने पिता को मौत के घाट उतारा है, क्योंकि उनके अनैतिक समलैंगिक संबंध के कारण समाज में परिवार की थू थू हो रही थी।

रूकनपुर निवासी ऋषिपाल की लाश ओमप्रकाश के ईंख के खेत में बरामद की गयी थी। ऋषिपाल की हत्या के शक में उसके बेटे सुमित कुमार ने गांव के ही तीन व्यक्ति मोहन, आदेश और नितीश के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था।

कल 12 सितंबर को बेटे द्वारा पिता के कत्ल का पुलिस ने खुलासा किया। पिता को मौत के घाट उतारने वाले बेटे सुमित ने बताया कि उसके पिता का किसी अन्य पुरुष के साथ समलैंगिक संबंध ही उनकी हत्या का कारण है। उसने अपने पिता की चाकू मारकर हत्या की थी।

हत्यारोपी बेटे सुमित कुमार का कहना है कि पिता को मारने के ​पीछे एक अन्य कारण यह था कि उसके पिता का एक पुरुष से संबंध था। वह अपनी संपत्ति में उस व्‍यक्ति को भी हिस्‍सा देना चाहते थे, इसको लेकर परिवार में तनाव रहता था। लड़ाई झगड़ा आम बात हो गयी थी।

पुलिसिया जांच में हत्यारोपी बेटे सुमित ने पुलिस को बताया कि उसके पिता ऋषिपाल ने दो साल पहले दो बीघा जमीन बेची थी और इसके बाद 2020 में लोन लिया था। लोन की जो रकम उन्हें मिली थी उसमें से कुछ भी उन्हें नहीं दिया था। इसी बात को लेकर उसकी अपने पिता से लड़ाई भी हुयी थी। ऋषिपाल पर उसने शराब का आदी होने का आरोप भी लगाया। बकौल सुमित गांव के लोगों से उसके पिता उधार लेकर शराब पीते थे और उधारी का रुपया उसे चुकाना पड़ता था। उसके पिता के गांव के ही एक व्यक्ति से समलैंगिक संबंध थे, जिसका गांव में सभी लोगों को पता चल गया था। उसके पिता बची हुई जमीन को भी बेच देना चाहते थे। इतना ही नहीं प्रोपर्टी का एक हिस्सा अपने समलैंगिक पार्टनर को देने का निर्णय भी कर चुके थे।

जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश में मुजफ्फरनगर जिले के खतौली क्षेत्र में एक व्यक्ति ने अपने पिता की हत्या इसलिए कर दी क्योंकि उसके एक अन्य पुरुष से संबंध थे। समलैंगिक पिता के कारण पूरा परिवार बहुत नाराज रहता है। आये दिन घर में कलह होता था। सबसे ज्यादा कलह का कारण यह था कि उसका समलैंगिक पिता अपने पुरुष पार्टनर को संपत्ति में से एक हिस्सा देना चाहता था। हत्यारे बेटे के मुताबिक पिता के कारण उनकी गांव और समाज में बदनामी हो रही थी, जिस कारण उसने गुस्से में उन्हें मौत के घाट उतार दिया। फिलहाल आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

Next Story

विविध

Share it