Top
समाज

UP : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के गोद लिए गाँव में बदमाशों ने मंदिर में लूटपाट कर पुजारी की पत्नी का घोटा गला

Janjwar Desk
28 Sep 2020 10:48 AM GMT
UP : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के गोद लिए गाँव में बदमाशों ने मंदिर में लूटपाट कर पुजारी की पत्नी का घोटा गला
x
सुबह 6 बजे के करीब एक ग्रामीण ने जाकर पुरोहित को बताया कि आज उसकी पत्नी दीपिका मंदिर में साफ-सफाई करने नहीं आई, जिसके बाद पुरोहित ने जाकर देखा तब जाकर घटना का पता चला

जनज्वार, लखनऊ। उत्तर प्रदेश जुर्म का पर्याय बनते जा रहा है। जुर्म का हर रोज यहां नया चेहरा नजर आता है। पॉवर सेंटर लखनऊ में भी अपराध नहीं थम पा रहे हैं। यहाँ के बंथरा थानाक्षेत्र में बदमाशों ने लूटपाट का विरोध करने पर एक महिला की हत्या कर दी। मंदिर के पुरोहित के घर हुई इस घटना में ना सिर्फ एक महिला की हत्या कर दी गई, बल्कि घर में लूटपाट भी की गई।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के गोद लिए गांव बेती में हुई इस सनसनीखेज वारदात से ग्रामीण दहशत में हैं। यहाँ 54 वर्षीय दीपनारायण मंदिर के पुरोहित हैं तथा उनकी दो पत्नियां हैं। पुरोहित के मुताबिक वह अपने चार बच्चों व दूसरी पत्नी के साथ घर के पास बने नागेश्वर मंदिर के प्रांगण में सो रहे थे तथा दूसरी पत्नी 46 वर्षीय दीपिका त्रिवेदी थोड़ी दूर बने घर में अकेले ही सो रही थी। कल 27 सितंबर की देर रात घर के पीछे की पक्की दीवार काटकर अंदर घुसे बदमाशों ने दीपिका की हत्या कर दी।

दीपनारायण की दूसरी पत्नी कुसुम सुबह 5 बजे जब शौच के लिए गई तो उसने देखा कि दीवार में सेंध लगी हुई है। कोई सेंध लगाकर घर में घुसा है। बदमाशों को देख कुसुम ने शोर मचाया तो परिवार के सभी लोग इकट्ठा हो गए। परिवार के लोगों ने घर की दीवार फांदकर अंदर देखा तो सभी सामान बिखरा हुआ पड़ा था। और दीपिका मृत अवस्था में औंधे मुंह दूसरे कमरे में पड़ी हुई है। बदमाश पहले नागेश्वर मंदिर का ताला तोड़कर उसका दान पात्र उठा ले गए। फिर उसके कुछ ही दूरी पर बने यज्ञशाला का भी ताला तोड़कर दान पात्र में रखे रुपए उठा ले गए।

पुजारी की पत्नी दीपिका ​त्रिवेदी की हत्या के बाद रोते-बिलखते परिजन

बेती गांव निवासी पुरोहित ने बताया कि दीपिका घर में अकेले थीं। परिवारीजन ने गला दबाकर हत्या की आशंका जताई है। घर में बिखरा सामान लूटपाट की गवाही दे रहा था। सुबह 6 बजे के करीब एक ग्रामीण ने जाकर पुरोहित को बताया कि आज उसकी पत्नी दीपिका मंदिर में साफ-सफाई करने नहीं आई, जिसके बाद पुरोहित ने जाकर देखा तब जाकर घटना का पता चला। घटना के बाद ग्रामीणों में पुलिस के प्रति काफी आक्रोश है। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस रात्रि गस्त में अगर सक्रिय होती तो बदमाश वारदात कर आसानी से ना भाग निकलते।

कमिश्नर सुजीत पांडेय का कहना है कि प्रथम दृष्टया घटना संदिग्ध लग रही है। महिला के शरीर पर कहीं कोई चोट के निशान भी नहीं हैं। जांच के बाद स्थिति स्पष्ट होगा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। हर एंगल से घटना की जांच की जा रही है।

Next Story

विविध

Share it