Top
सिक्योरिटी

भारतीय सेना ने विकसित किया मोबाइल मैसेजिंग ऐप, ऐसे करेगा काम

Janjwar Desk
29 Oct 2020 5:04 PM GMT
भारतीय सेना ने विकसित किया मोबाइल मैसेजिंग ऐप, ऐसे करेगा काम
x
भारतीय सेना ने खुद के प्रयोग के लिए एक इंड टू इंड इनक्रिप्शन मैसेजिंग एप्लिकेशन विकसित किया है। इस वर्ष, सेना ने सुरक्षा कारणों से 89 ऐप को प्रतिबंधित कर दिया था। सैन्यकर्मियों को फेसबुक, ट्रकॉलर, इंस्टाग्राम और पबजी जैसे गेम्स को मोबाइल से हटाने के लिए कहा गया था।

नई दिल्ली। भारतीय सेना ने खुद के प्रयोग के लिए एक इंड टू इंड इनक्रिप्शन मैसेजिंग एप्लिकेशन विकसित किया है। इस वर्ष, सेना ने सुरक्षा कारणों से 89 ऐप को प्रतिबंधित कर दिया था। सैन्यकर्मियों को फेसबुक, ट्रकॉलर, इंस्टाग्राम और पबजी जैसे गेम्स को मोबाइल से हटाने के लिए कहा गया था।

गुरुवार को, भारतीय सेना ने एक बयान में कहा कि आत्मनिर्भर भारत के तहत, सेना ने एक सामान्य और सुरक्षित ऐप विकसित किया है, जिसका नाम 'सिक्योर एप्लिकेशन फॉर इंटरनेट (एसएआई) रखा गया है।'


एप्लिकेशन इंटरनेट पर एंड्राइड प्लेटफार्म में इंड टू इंड सुरक्षित व्वॉइस, टेक्स्ट और वीडियो कॉलिंग सेवा को सपोर्ट करता है। यह एप वाट्सअप, टेलीग्राम, संवाद और जीम्स की तरह ही है और यह इंड-टू-इंड इनक्रिप्शन मैसेजिंग प्रोटोकोल का पालन करता है।

एप्लिकेशन की कार्यक्षमता की समीक्षा करने के बाद, रक्षामंत्री राजनाथ सिह ने एप्लिकेशन डवलप करने के लिए कर्नल साईं शंकर की उनकी कौशल और प्रतिभा के लिए तारीफ की थी।

Next Story

विविध

Share it