सिक्योरिटी

गलवान घाटी झड़प के बाद भारतीय नौसेना ने गोपनीय तरीके से दक्षिण चीन सागर में तैनात किया युद्धपोत

Janjwar Desk
31 Aug 2020 2:57 AM GMT
गलवान घाटी झड़प के बाद भारतीय नौसेना ने गोपनीय तरीके से दक्षिण चीन सागर में तैनात किया युद्धपोत
x
दक्षिण चीन सागर एक विवादित इलाका है जिस पर चीन अपना कब्जा जताता रहा है। भारत द्वारा वहां अग्रिम पंक्तियों पर युद्धपोत तैनात किया गया है...

जनज्वार। गलवान घाटी झड़प के बाद अबतक भारत और चीन के बीच तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। सैन्य व कूटनीतिक स्तर की कई चरणों की वार्ता के बाद भी चीन अपनी बातों पर अड़ा हुआ है। ऐसे में भारतीय नौसेना ने दक्षिण चीन सागर में अपना युद्धपोत तैनात कर दिया है। सूत्रों के हवाले आयी इस जानकारी के अनुसार, भारत ने विवादित दक्षिण चीन सागर की अग्रिम पंक्तियों पर युद्धपोत तैनात किया है।

दक्षिण चीन सागर पर चीन अपना दावा जताता रहा है, लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उसके दावे हमेशा खारिज किए जाते रहे हैं। भारत द्वारा वहां युद्धपोत तैनात किए जाने का असर चीनी नौसेना पर दिखाई पड़ा है। उसने भारत के साथ राजनयिक स्तर की वार्ता में इस मुद्दे को उठाया था।

भारतीय नौसेना द्वारा इस मिशन को गोपनीय तरीके से अंजाम दिया गया, ताकि नौसेना की गतिविधियों पर लोगों की नजर न पड़े। इसके साथ ही भारतीय नौसेना ने अंडमान और निकोबाद द्वीपसमूह के निकट मलक्का स्ट्रेट और हिंद महासागर में चीनी नौसेना के प्रवेश मार्ग के निकट भी अपने जहाज तैनात किए हैं।

मालूम हो कि मलक्का स्ट्रेट से भी चीन के कई जहाज तेल व अन्य वस्तुओं के साथ अन्य महाद्वीपों से आते हैं।

सूत्रों का कहना है कि भारतीय नौ सेना पूर्वी और पश्चिमी दोनों मोर्चाें पर चुनौतियों से निबटने को तैयार है। मिशन के आधार पर तैनाती से हिंद महासागर और उसके आसपास की स्थिति को प्रभावी तरीके से नियंत्रित करने में मदद मिल रही है। मलक्का स्ट्रेट से हिंद महासागर की ओर चीनी नौसेना की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए भारतीय नौसेना विभिन्न स्वचालित पनडुब्बियां, मानव रहित सिस्टम एवं सेंसर भी तैनात करने की योजना बना रहा है।

Next Story

विविध

Share it