सिक्योरिटी

NIA ने लश्कर-ए-मुस्तफा और उसके प्रमुख हिदायत-उल्लाह मलिक के खिलाफ दर्ज किया मामला

Janjwar Desk
2 March 2021 4:44 PM GMT
NIA ने लश्कर-ए-मुस्तफा और उसके प्रमुख हिदायत-उल्लाह मलिक के खिलाफ दर्ज किया मामला
x
एनआईए अधिकारियों के अनुसार, गिरफ्तार आरोपी मलिक लश्कर-ए-मुस्तफा का प्रमुख है, तलाशी के दौरान उसके कब्जे से एक हैंड ग्रेनेड, तीन मैगजीन और 28 अन्य गोलियां बरामद की गई थीं...

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने मंगलवार 2 मार्च को एक साजिश के संबंध में आतंकी संगठन लश्कर-ए-मुस्तफा (एलईएम) और उसके प्रमुख हिदायत-उल्लाह मलिक के खिलाफ मामला दर्ज किया। मलिक ने पिछले साल मई में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल के कार्यालय की रेकी की थी।

वह जम्मू-कश्मीर क्षेत्र में आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए पाकिस्तान स्थित घोषित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के इशारे पर काम कर रहा था।

एनआईए के एक अधिकारी ने यहां कहा कि एजेंसी ने मंगलवार 2 मार्च को मामला दर्ज किया, क्योंकि एलईएम भारत की संप्रभुता, अखंडता और सुरक्षा को खतरे में डालने के उद्देश्य से जम्मू क्षेत्र में आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने की कोशिश कर रहा है।

एनआईए ने उस मामले को भी संभाला है, जो जम्मू एवं कश्मीर पुलिस ने गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) की कई धाराओं के तहत इस साल 6 फरवरी को जम्मू जिले के गंग्याल पुलिस स्टेशन में दर्ज किया था।

एनआईए अधिकारियों के अनुसार, गिरफ्तार आरोपी मलिक लश्कर-ए-मुस्तफा का प्रमुख है। अधिकारी ने कहा, "तलाशी के दौरान उसके कब्जे से एक हैंड ग्रेनेड, तीन मैगजीन और 28 अन्य गोलियां बरामद की गई थीं।"

अधिकारी ने आगे कहा कि मलिक ने जम्मू और दिल्ली में 2018 और 2019 में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए कई सुरक्षा प्रतिष्ठानों की रेकी की थी।

जांच से जुड़े जम्मू-कश्मीर पुलिस के अधिकारियों के मुताबिक, पूछताछ के दौरान मलिक ने कबूल किया है कि उसने डोभाल के दफ्तर और कई अन्य ठिकानों की रेकी की थी और पाकिस्तान में जेईएम के कमांडरों को रिपोर्ट भेजी थी।

अधिकारी ने कहा कि मलिक को अनंतनाग से गिरफ्तार किया गया था और पूछताछ के दौरान उसने खुलासा किया कि उसने पिछले साल मई में दिल्ली के लिए उड़ान भरी थी और डोभाल के कार्यालय का एक वीडियो रिकॉर्ड किया था और फिर उसे व्हाट्सएप के माध्यम से अपने पाकिस्तानी कमांडर को सौंप दिया था।

एनआईए अधिकारियों के अनुसार, मलिक कश्मीर घाटी में विध्वंसक और आतंकी गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए अन्य आतंकी समूहों से जुड़ा हुआ है।

Next Story

विविध

Share it