सिक्योरिटी

UP: इटावा के जेल परिसर में डिप्टी जेलर पर हमला, ताबड़तोड़ हुई फायरिंग से दहशत में कैदी

Janjwar Desk
21 Aug 2021 8:20 AM GMT
UP: इटावा के जेल परिसर में डिप्टी जेलर पर हमला, ताबड़तोड़ हुई फायरिंग से दहशत में कैदी
x

इटावा जेल परिसर में डिप्टी जेलर पर हमला (File Photo)

डिप्टी जेलर एसएच जाफरी देर रात करीब साढ़े 3 बजे अपने आवास से जेल परिसर में निरीक्षण के लिए जा रहे थे। इसी दौरान कुछ लोगों ने रास्ते में उन्हेंं घेरकर फायरिंग की और जान से मारने की धमकी देकर भाग गए...

जनज्वार, इटावा। यूपी की इटावा जेल में शनिवार की भोर करीब 3 बजे ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू हो गई। अचानक हुई इस फायारिंग से कैदियों में हड़कंप मच गया। जेल परिसर में मौजूद गार्ड जबतक कुछ समझ पाते तबतक हमलावर फरार हो गए। इस घटना से एक बार फिर यूपी में जेलों की सुरक्षा पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

इटावा के जिला कारागार में डिप्टी जेलर एसएच जाफरी देर रात करीब साढ़े 3 बजे अपने आवास से जेल परिसर में निरीक्षण के लिए जा रहे थे। इसी दौरान कुछ लोगों ने रास्ते में उन्हेंं घेरकर फायरिंग की और जान से मारने की धमकी देकर भाग गए। डिप्टी जेलर का कहना है कि कई राउंड फायरिंग की गई, फायरिंग करने वाले लोग भाग गए।

एसएच जाफरी सुबह की शिफ्ट की गश्त करने के लिए देर रात करीब साढ़े तीन बजे अपने आवास से जेल के लिए निकले थे। जेल की बैरकों से महज सौ मीटर की दूरी पर घर व जेल के बीच तीन चार लोग उनको खड़े दिखाई दिये, इस पर उन्होंने टोका। उनके टोकते ही बदमाशों ने गालियां देते हुए फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग की घटना से जाफरी भागकर अपने आवास में घुस गए।

उनके अंदर घुसने के बाद भी बदमाशों ने पीछा किया और दरवाजा खुलवाने का भी प्रयास किया। दरवाजा नहीं खोला तो बदमाशों ने दरवाजे पर कई गोलियां चलाईं। डिप्टी जेलर ने घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों के साथ ही पुलिस को दी। कुछ ही देर में सीओ सिटी राकेश वशिष्ठ भारी पुलिस बल के साथ पहुंच गए लेकिन तब तक बदमाश भाग चुके थे। जेल अधीक्षक राज किशोर सिंह के अनुसार डिप्टी जेलर पर हमला जेल में बंद रहे किसी बदमाश ने ही किया होगा, इसकी छानबीन की जा रही है।

डिप्टी जेलर एसएच जाफरी पर करीब दो साल पहले भी उनके आवास में एक बदमाश ने घुसकर हमला किया था। तब वह बदमाश से भिड़ गए थे। तब भी बदमाश फायरिंग करते हुए भाग निकला था। एसएसपी डा बृजेश कुमार सिंह ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और डिप्टी जेलर से बातचीत की उन्होंने बताया कि डिप्टी जेलर द्वारा तहरीर दी जा रही है उसके अनुसार मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

जेल परिसर में घटना के बाद सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं। उन्होंने मामले की सूचना थाना सिविल लाइन पुलिस को दी। पुलिस मौके पर पहुंची और जांच पड़ताल शुरू की। पुलिस को वहां पर गोली के खोखे नहीं मिले हैं लेकिन दरवाजों और दीवारों पर गोलियों के निशान मिले हैं। पुलिस घटना के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।

Next Story

विविध

Share it