सिक्योरिटी

'यूपी की योगी सरकार मेरी हत्या कराना चाहती है' मुख्तार अंसारी ने कोर्ट में हाजिर होने से किया इनकार

Janjwar Desk
28 Aug 2021 10:54 AM GMT
यूपी की योगी सरकार मेरी हत्या कराना चाहती है मुख्तार अंसारी ने कोर्ट में हाजिर होने से किया इनकार
x

मुख्तार अंसारी (फाइल फोटो)

मुख़्तार अंसारी ने कहा कि इलाहाबाद MP-MLA कोर्ट के सारे मुक़दमों का ट्रायल भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा हो रहे हैं। मुख़्तार अपनी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पहले भी न्यायालय से गुहार लगा चुका है...

जनज्वार, लखनऊ। मऊ विधानसभा सीट से बसपा विधायक मुख़्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) ने यूपी की योगी सरकार से जान का खतरा बताते हुए कोर्ट में हाज़िर होने से मना कर दिया है। फर्जी ऐम्बुलेंस मामले में शुक्रवार को बाराबंकी MP-MLA कोर्ट में वर्चुअल सुनवाई के दौरान पीठासीन अधिकारी कमलकांत श्रीवास्तव ने मुख़्तार अंसारी को व्यक्तिगत रूप से कोर्ट में तलब किया। मुख्तार अंसारी ने जज से वीडियो कांफ्रेसिंग से ही मामले की सुनवाई करने की गुहार लगाई है। न्यायालय ने वकालत नामा पेश कर अगली सुनवाई की तारीख 9 सितम्बर तय की है।

अंसारी के वकील रणधीर सुमन ने बताया कि MP-MLA कोर्ट के पीठासीन अधिकारी कमलकांत श्रीवास्तव ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से सुनवाई के दौरान मुख़्तार को व्यक्तिगत रूप से पेश करने को तलब किया है, जिस पर मैंने और अंसारी ने कहा कि राज्य सरकार उनकी हत्या करा देना चाहती है और राजनीतिक कारणों से हम जेल में बन्द हैं। वकील ने बताया कि जज ने सुनवाई करते हुए कहा कि वकालतनामा जेल भेज कर वहां से प्राप्त कर फाईल में लगवा दिया जाए।

रणधीर सुमन ने ये भी बताया कि मुख़्तार अंसारी ने कहा कि इलाहाबाद MP-MLA कोर्ट के सारे मुक़दमों का ट्रायल भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के द्वारा हो रहे हैं। मुख़्तार अपनी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पहले भी न्यायालय से गुहार लगा चुका है।

बाहुबली विधायक मुख़्तार अंसारी पर साल 2013 में फर्जी दस्तावेजों और पते पर अपने गुर्गों के साथ मिलकर ली गई एम्बुलेंस इस्तेमाल कर रहा था। पंजाब में पेशी के दौरान मामला सुर्खियों में आया जिसके बाद 2 अप्रैल 2021 को नगर कोतवाली में मुक़दमा दर्ज हुआ था।

मामले में अब तक बाराबंकी पुलिस कई आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। मुख़्तार अंसारी वारंट बी के तहत बांदा जेल में बंद है। जिसकी बाराबंकी एमपी एमएलए कोर्ट में सुनवाई चल रही है। कोर्ट में मामले की अगली सुनवाई 9 सितम्बर रखी गई है।

Next Story

विविध

Share it