Top stories

Bihar Politics: 'सांप काटे तो 4 लाख, आतंकवादी हत्या करे तो जान की कीमत सिर्फ दो लाख', नीतीश कुमार पर तेजस्वी यादव का प्रहार

Janjwar Desk
18 Oct 2021 2:12 PM GMT
Bihar Politics: सांप काटे तो 4 लाख, आतंकवादी हत्या करे तो जान की कीमत सिर्फ दो लाख, नीतीश कुमार पर तेजस्वी यादव का प्रहार
x

Pic Credit: NT

बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी ने नीतीश सरकार से पीड़ित परिवारों को एक-एक करोड़ रुपए मुआवजा और परिवार के एक सदस्‍य को सरकारी नौकरी देने की मांग की है...

Bihar News: कश्मीर में बिहारियों की हत्या पर विपक्षी पार्टियां लगातार सूबे की डबल इंजन सरकार पर निशाना साध रही है। बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी नीतीश कुमार को इस मुद्दे पर घेरने की कोशिश की। लालू यादव के बेटे और राजद नेता तेजस्वी यादव ने सोमवार, 18 अक्टूबर को ट्वीट कर कहा कि, 'राज्य में सर्पदंश और ठनके से मौत पर बिहार सरकार चार लाख का मुआवज़ा देती है, लेकिन सरकार की नाकामी के कारण पलायन कर रोजी-रोटी के लिए बाहर गए बिहारी श्रमवीरों को आतंकवादियों द्वारा मारे जाने पर सिर्फ दो लाख रुपए देती है।'

तेजस्वी यादव ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि, 'सरकार बिहार में नौकरी-रोजगार देगी नहीं और रोटी के लिए बाहर जाएंगे तो मार दिए जाएंगे।' कश्मीर में आतंकियों द्वारा मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवजे के तौर पर दो लाख रुपये देने पर तेजस्वी ने कहा कि, 'सरकार ने एक बिहारी की जान की कीमत दो लाख रुपए लगाई है। सीएम नीतीश कुमार इसकी घोषणा कर बिना कोई संवेदना प्रकट किए बेफिक्र हो गये। नेता प्रतिपक्ष ने भाजपा और जेडीयू की गठबंधन सरकार पर आरोप लगाया है कि 'अन्याय के साथ विनाश' ही एनडीए सरकार का मूल मंत्र है।

बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी ने कश्‍मीर में बिहारी मजदूरों की हत्‍या के लिए बिहार की नीतीश कुमार सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है। राजद नेता ने नीतीश सरकार से पीड़ित परिवारों को एक-एक करोड़ रुपए मुआवजा और परिवार के एक सदस्‍य को सरकारी नौकरी देने की मांग की है।

तेजस्वी ने कहा- नीतीश कुमार जनता से माफी मांगे

साथ ही, तेजस्‍वी यादव ने आरोप लगाया कि पिछले 16 साल के कार्यकाल के दौरान सरकार ने बिहार के नौजवानों को रोजगार देने के लिए कुछ नहीं किया। बिहार के लोगों को यदि राज्य में ही रोजगार देने के लिए कुछ काम हुआ होता तो बिहार से लाखों मजदूर काम की तलाश में दूसरे राज्‍यों में पलायन को मजबूर नहीं होते। तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार के लोग नीतीश सरकार की नाकामी की वजह से आतंकवाद की भेंट चढ़ रहे हैं। पिछले 16 वर्षों से बिहार के लोग लगातार पलायन को मजबूर हो रहे हैं। रोजी-रोटी की तलाश में उन्‍हें जान का खतरा लेकर दूर दराज अन्य राज्यों तक जाना पड़ रहा है। तेजस्वी यादव ने कहा कि, 'नीतीश कुमार को पलायन नहीं रोक पाने के लिए जनता से माफी मांगनी चाहिए।'

बचाव में भाजपा ने तेजस्वी पर कसा तंज

इधर, तेजस्वी द्वारा नीतीश की निंदा के बाद भाजपा ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री सह बिहार भाजपा प्रवक्ता डॉ निखिल आनंद ने तेजस्वी यादव पर पलटवार किया। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि तेजस्वी राजनीतिक पत्थरबाज़ की भूमिका न निभायें और बतायें कि धारा 370 एवं 35ए को खत्म करने के विरोध में बयान देकर किसको खुश करना चाहते हैं? भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि क्या बिहार के नेता प्रतिपक्ष इस तरह की बातें करके पाकिस्तान, तालिबान और आतंकवादियों को खुश करना चाहते है? नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की सरकार और सुरक्षा बलों की ओर से आतंकवादियों के खात्मे के लिए जो कार्रवाई हुई है और फिर कश्मीर में शांति बहाली के लिए प्रयास किए गए हैं, उसके खिलाफ तेजस्वी यादव बोल रहे हैं। ऐसे में जाहिर तौर पर राजद की घटिया मानसिकता और राष्ट्रविरोधी भावना झलक रही है।

Next Story

विविध