Top stories

Jharkhand News: रेप पीड़ित पत्नी को इंसाफ नहीं मिला तो पति ने की आत्महत्या

Janjwar Desk
14 Oct 2021 8:18 AM GMT
Jharkhand News: रेप पीड़ित पत्नी को इंसाफ नहीं मिला तो पति ने की आत्महत्या
x
मिली जानकारी के अनुसार, करीब एक महीने पहले मृतक शख्स का उसके चचेरे भाई और उसके दोस्त संदीप रजक के साथ विवाद हुआ था... झगड़े के बाद दोनों पक्षों की ओर से गलफरबाड़ी ओपी में केस दर्ज कराया गया...

Jharkhand News (जनज्वार): झारखंड के धनबाद जिले से पुलिस की लापरवाही का मामला सामने आया है। यहां एक शख्स ने पुलिस की कार्यशैली से तंग आकर खुदकुशी कर ली। मृतक अपनी पत्नी को इंसाफ दिलाने के लिए लगातार थाने के चक्कर लगा रहा था। पर धनबाद पुलिस उसकी सुनने को तैयार नहीं थे। पत्नी को इंसाफ नहीं मिलने से परेशान होकर पति ने फंदे से झूल कर आत्महत्या कर ली।

मामला झारखंड के धनबाद जिले के गल्फरबाड़ी इलाके का है। जानकारी के मुताबिक, मृतक शख्स की पत्नी के साथ उसके कुछ दोस्तों ने दुष्कर्म किया। पीड़िता पत्नी ने इस संबंध में थाने में आवेदन भी दिया था। उसके बाद पीड़ित महिला का पति लगातार धनबाद पुलिस से मामले में कार्रवाई की मांग को लेकर थाने के चक्कर काट रहा था। परिजनों का आरोप है कि पुलिस द्वारा मामले की सुनवाई नहीं होने पर ही उसने परेशान होकर गले में फंदा डालकर खुदकुशी कर ली। परिजन उसे लेकर आनन फानन में धनबाद के SNMCH अस्पताल पहुंचे लेकिन तब तक शख्स दम तोड़ चुका था।

मिली जानकारी के अनुसार, करीब एक महीने पहले मृतक शख्स का उसके चचेरे भाई और उसके दोस्त संदीप रजक के साथ विवाद हुआ था। झगड़े के बाद दोनों पक्षों की ओर से गलफरबाड़ी ओपी में केस दर्ज कराया गया। मामले में मृत शख्स की पत्नी ने पति के चचेरे भाई और उसके दोस्त पर रेप का आरोप भी लगाया था। बताया जाता है कि पुलिस की नजर में दोनों आरोपी फरार चल रहे थे, लेकिन असल में दोनों खुलेआम घुम रहे थे। लेकिन पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही थी। वहीं, आरोपियों ने मृत शख्स से कहा था कि उन्होंने पुलिस को पैसे दिए हैं, इसलिए पुलिस कोई एक्शन नहीं लेगी। इसके बाद से पीड़िता का पति बेहद दुखी था और इंसाफ की उम्मीद छोड़कर उसने अपने घर में ही फांसी लगा ली।

मौत के बाद परिजनों ने शव को थाना परिसर में लाकर रख दिया और धरने पर बैठ गए। परिजनों ने थाना प्रभारी पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए थाना में जमकर हंगामा किया। मृतक के परिवार वालों का कहना था कि अगर पुलिस वक्त रहते कार्रवाई करती तो आज एक युवक की जान नहीं जाती। धरना के दौरान आक्रोशित लोगों के साथ पुलिस की हाथापाई भी हुई। शव के साथ प्रदर्शन कर रहे अन्य लोगों ने दोषियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग रखी। थाने पर लोगों की भीड़ और प्रदर्शन को देखते हुए अंचल के सभी पुलिस और प्रभारी भी मौके पर पहुंचे। कुछ ही देर में थाना परिसर पूरी तरह से छावनी में तब्दील हो गया।


Next Story

विविध

Share it